ये है व्हेल की उल्टी, करोड़ों में होती है इसकी कीमत; ये खास वस्तु बनाने में आती है काम

ये है व्हेल की उल्टी, करोड़ों में होती है इसकी कीमत; ये खास वस्तु बनाने में आती है काम

नई दिल्ली क्या आपने कभी किसी जानवर की उल्टी को बिकते हुए देखा है? ये छोड़िए ये बताइए किसी जानवर की उल्टी की मार्केट में बहुत अधिक मूल्य है इसके बारे में सोचा भी है? लेकिन हम आपको बताने जा रहे हैं एक ऐसे जानवर के बारे में जिसकी उल्टी न केवल मार्केट में बिकती है बल्कि ये किसी हीरे से भी अधिक कीमती है जी हां व्हेल मछली पृथ्वी पर ऐसा जीव है, जिसकी उल्टी को फ्लोटिंग गोल्ड बोला जाता है आपको जानकर आश्चर्य होगी व्हेल मछली की उल्टी की मूल्य मार्केट में सोने या हीरे भी अधिक है

अब आप सोच रहे होंगे कि आखिरकार ऐसा क्या है जिसकी वजह से व्हेल मछली की उल्टी मार्केट में इतनी महंगी है इसका किस वस्तु के लिए इस्तेमाल किया जाता है? तो हम आपको बताते हैं कि आखिर किस वजह से इसकी रेट इतनी अधिक है और ये मूल्य कितनी है…

क्या होता है व्हेल एम्बरग्रीस?
व्हेल मछली की उल्टी को एम्बरग्रीस बोला जाता है जानकारों की मानें तो वे इसे मल कहते हैं यानी व्हेल के शरीर से निकलने वाला अपशिष्ट पदार्थ दरअसल यह व्हेल की आंत से निकलता है व्हेल मछली समुद्र में कई तरह की चीजों को खाती है इस कारण जब वह उन चीजों को पचा नहीं पाती है तो इसे उगल देती है बता दें कि एम्बरग्रीस स्लेटी या काले रंग का एक ठोस होता है एक ढंग से यह मोम से बना पत्थर जैसा पदार्थ है

व्हेल एम्बरग्रीस क्यों है महंगा?
व्हेल मछली के आंत से यह निकलता है जो पाचन प्रक्रिया के दौरान बनता है इसमें से बुरी गंध आती है लेकिन खुशबूदार परफ्यूम बनाने वाली कंपनियां इसका इस्तेमाल करती है दरअसल यह परफ्यूम को आपके शरीर पर लगाने में सहायता करता है इस कारण परफ्यूम लंबे समय तक चलता है इस कारण परफ्यूम कंपनियां इसे महंगे दामों में खरीदती हैं

साथ ही दवाओँ के रूप में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है वहीं संभोग संबंधित समस्याओं के उपचार में भी एम्बरग्रीस का इस्तेमाल होता है यही कारण है कि मार्केट में इसकी मूल्य करोड़ों में होती है


घर में रस्सी से लटका मिला व्यक्ति का मृत शरीर, जाँच में जुटी पुलिस

घर में रस्सी से लटका मिला व्यक्ति का मृत शरीर, जाँच में जुटी पुलिस

असम के बक्सा जिले के तामुलपुर क्षेत्र में गांधीबाड़ी चौकी के भीतर द्वारकुची में एक किशोर का मृत शरीर मिलने से टकराव खड़ा हो गया है. दो बच्चों वाले आर्मीमैन बीरेन चंद्र बोरो के निर्माणाधीन कंक्रीट के घर में व्यक्ति का मृत शरीर रस्सी से लटका मिला.

शव की पहचान 22 वर्षीय जियाबुर रहमान के रूप में हुई है. वह मोरीगांव जिले के खारुपथर गांव के रहने वाले थे. लोकल लोगों के मुताबिक जब मृतक के परिजन फोन पर पहुंचे तो पता चला कि मृतक रंगिया इलाके में मजदूरी का कार्य करता था.

तामुलपुर रंगिया से करीब 25 किलोमीटर दूर है. मृत शरीर मिलने पर व्यक्ति के होंठ काले कपड़े में लपेटे हुए थे, जिससे घटना की संभावना जताई जा रही है. लोकल लोगों का मानना ​​है कि यह मर्डर का केस है क्योंकि मकान मालिक की पत्नी ने व्यक्ति को जानने से मना किया है. लोकल लोगों का मानना ​​था कि हो सकता है कि लुटेरों ने उसकी मर्डर करने से पहले उसपर काला कपड़ा डाल दिया हो और उसके शरीर को द्वारकुची के निर्माणाधीन घर पर लटका दिया हो.

मृतक के मृत शरीर को तमुलपुर पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है. पुलिस अब मुद्दे की जाँच कर रही है.