आंखों में आंसू व गोद में एक 8 माह के बच्चे को लेकर एक मां भटकी

आंखों में आंसू व गोद में एक 8 माह के बच्चे को लेकर एक मां भटकी

आंखों में आंसू व गोद में एक 8 माह के बच्चे को लेकर एक मां कभी महिला पुलिस थाना (Women Police Station) तो कभी पटना (Patna) के रुकनपुरा थाने का चक्कर काट रही है।

 महिला दोनों थाने में जाकर बस न्याय मांग रही है व आंखों में आंसू लेकर बस यही जवाब मांग रही है कि समय रहते पुलिस (Police) ने क्यों करवाई नहीं की। क्यों इतने दिन होने के बाद भी अबतक आरोपी को कोई सजा नहीं दी गई। दरसल पीड़ित महिला बिहार (Bihar) के दानापुर (Danapur) की रहने वाली है व पेशे से एक डांस टीचर है। महिला की माने तो उसकी मुलाकात 5 वर्ष पहले पटना रूपसपुर विजय नगर के रहने वाले रविकांत से हुई थी।

महिला की शिकायत के मुताबिक दोनों ने आगे विवाह करने की ठानी व एक साथ लिवइन में रहने लगे। 4 वर्ष तक सब अच्छा चला। फिर एक दिन उसे लड़के की विवाह कहीं व पक्की होने की समाचार लगी। पीड़ित के दबाव बनाने से लड़के ने उससे सारे संबंध तोड़ने की बात कही, पर तबतक पीड़िता 3 महीने की गर्भवती हो चुकी थी।

मारपीट का आरोप
महिला की शिकायत के मुताबिक उसने लड़के को खूब समझने की प्रयास की पर लड़का व उसके घर वालो ने उसे मार पीट कर घर से भगा दिया व जान से मारने की धमकी दी। जिसके बाद पीड़िता ने 22 मार्च 2019 को पटना गर्दनीबाग में लड़के के विरूद्ध एफआईआर दर्ज करवाया था। तब पीड़ित 3 महीने की गर्भवती थी व थाने से किसी तरह विवाह को रुकवाने की मांग कर रही थी। लेकिन महिला का आरोप है कि पुलिस की लापरवाही से पीड़िता को न्याय नही मिला व अब अपने 8 महीने के बच्चे को गोद मे लेकर अपने पिता का नाम दिलवाने के लिए एक थाने से दूसरे थाने के चक्कर लगा रही है। उधर लड़के की विवाह भी हो चुकी है व लड़के के परिवार द्वारा बार बार पीड़िता व उसके परिवार को जान से मारने की धमकी दी जा रही है।