उत्‍तराखंड में नए टीबी मरीजों की पहचान करेगी मोबाइल वैन

उत्‍तराखंड में नए टीबी मरीजों की पहचान करेगी मोबाइल वैन

प्रदेश में टीबी के नए मरीजों की पहचान के लिए स्वास्थ्य विभाग ने फुजी फिल्म इंडिया की सहायता से एक मोबाइल वैन रवाना की है। मोबाइल वैन प्रदेशभर में घूम कर डोर-टू डोर जांच, कैंप एवं रैंडम जांच एवं एक्स-रे कर टीबी के मरीजों की पहचान करेगी। पहचान के बाद मरीजों को जिला टीबी केंद्र से जोड़कर नियमित इलाज किया जाएगा।

शनिवार को स्वास्थ्य महानिदेशालय में आयोजित कार्यक्रम में स्वास्थ्य महानिदेशक डा. तृप्ति बहुगुणा ने कहा कि टीबी के निदान में देरी से मृत्यु का खतरा बढ़ जाता है। संक्रामक होने के चलते दूसरों के लिए भी हमेशा खतरा बना रहता है। मोबाइल वैन में टीबी की प्राथमिक जांच, एक्स-रे एवं आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से नए मरीजों की पहचान की जाएगी। पहचान के बाद मरीजों का पूरा इलाज चलाया जाएगा। प्राथमिक तौर पर अभियान ट्रक ड्राइवर, प्रवासी श्रमिक, मलिन बस्तियों, ग्रामीण और अर्ध शहरी आबादी में जाकर जांच करेगी। फुजी फिल्म इंडिया के प्रबंधन निदेशक कोजी वाडा ने बताया कि फुजी फिल्म इंडिया के नेवर स्टाप स्क्रीनिंग टू रिड्यूस डायग्नोस्टिक डिले अभियान के तहत यह मोबाइल वैन संचालित हो रही है। वैन अगले नौ माह में नौ राज्यों में जांच शिविर लगाएगी।

प्री प्राइमरी स्कूल खोलने की मांग

 प्रदेश में प्राथमिक कक्षाओं के भौतिक संचालन की अनुमति मिलने के बाद अब प्री प्राइमरी स्कूलों ने भी विद्यालय खोलने की मांग शुरू कर दी है। देव भूमि प्री एंड प्राइमरी स्कूल एसोसिएशन ने प्री प्राइमरी स्कूल खोलने की मांग को लेकर जिलाधिकारी, जिला शिक्षा अधिकारी और मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा है। एसोसिएशन के अध्यक्ष मुकुल महेंद्रु ने कहा कि कंप्यूटर एवं मोबाइल स्क्रीन से बच्चों पर बुरा असर पड़ रहा है। जबकि इसी उम्र में बच्चों को सामाजिक दायरा बढ़ाने की समझ पैदा की जाती है, लेकिन कोरोना के चलते डेढ़ साल से ज्यादा समय से बच्चे न तो घर से बाहर निकल पा रहे हैं, न उनका शारीरिक एवं मानसिक विकास हो रहा है। जासं

व्यापार मंडल का रक्तदान शिविर कल

दून वैली महानगर उद्योग व्यापार मंडल की युवा इकाई की ओर से रक्तदान शिविर का आयोजन किया जाएगा। शिविर सीएनआइ ब्यायज मिशन स्कूल में 20 सितंबर को 11 से शाम चार बजे तक लगेगा। संगठन के अध्यक्ष पंकज मैसोन ने बताया कि युवा संगठन की ओर से यह दूसरा रक्तदान शिविर होगा। शिविर में बतौर मुख्यअतिथि पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत व वशिष्ठ अतिथि के तौर पर महापौर सुनील उनियाल गामा उपस्थित रहेंगे।


पिथौरागढ़ में बारिश का कहर रुकने के बाद प्रारम्भ हुआ मुश्किलों का दौर!

पिथौरागढ़ में बारिश का कहर रुकने के बाद प्रारम्भ हुआ मुश्किलों का दौर!

पिथौरागढ़ (Pithoragarh Rain) में लगातार तीन दिन तक हुई बारिश ने जिले में भारी तबाही मचाई है अब बारिश थम चुकी है लेकिन मुसीबतें कम नहीं हुई हैं जिले के कुछ हिस्सों में संचार व्यवस्था अभी भी बाधित है इंटरनेट कनेक्टिविटी की वजह से बैंकों का कामकाज प्रभावित हुआ, जिससे बैंक आए ग्राहकों को मायूस लौटना पड़ा रोडवेज स्टेशन पर सवारी बसों का इन्तजार करती रहीं मुख्य मार्ग बंद होने से जिले में पेट्रोल-डीजल की भी किल्लत देखने को मिली वहीं मार्केट में सब्जियों के रेट भी बढ़ गए हैं

भारी बारिश से पिथौरागढ़ जिले के कुल 44 मुख्य एवं ग्रामीण सम्पर्क मार्ग मलबा आने से बंद हो गए थे युद्ध स्तर पर काम किए जाने के बाद कुछ मार्ग खोले जा सके हैं जिलाधिकारी डॉक्टर आशीष चौहान ने सड़क निर्माण विभाग के ऑफिसरों को आदेश दिए हैं कि बंद मार्गों को कम से कम समय में खोला जाए जिलाधिकारी ने स्वयं भी मौके पर पहुंचकर मलबा हटाने के कार्यों का जायजा लिया

बताते चलें कि भारी बारिश से गुरना, दिल्ली बैंड, मीना मार्केट और घाट बैंड के पास सड़क बंद हो गई थी गुरना में आया मलबा हटा दिया गया है