सामान्य से पांच डिग्री सेल्सियस लुढ़का पारा, जानिए कैसा रहेगा आने वाले दिनों का हाल?

सामान्य से पांच डिग्री सेल्सियस लुढ़का पारा, जानिए कैसा रहेगा आने वाले दिनों का हाल?

मौसम मंगलवार को पूरी तरह से बदल गया. प्रातः काल से ही घने बादल छा गए और पूरे दिन सूरज बादलों की ओट में छिपा रहा, इस वजह से दिन में पारा सामान्य से पांच डिग्री सेल्सियस लुढ़क गया. इस सीजन में मंगलवार सबसे ठंडा दिन रहा, जब दिन में पारा 17.3 डिग्री पर पहुंच गया.

बीते वर्ष इसी दिन अधिकतम तापमान 20.3 डिग्री था. मौसम विभाग के अनुसार तापमान में अगले तीन दिनों में और कमी आएगी. 
मंगलवार को अधिकतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री नीचे 17.3 डिग्री दर्ज किया गया. रात में पारा 11.9 डिग्री रहा तो सामान्य से पांच डिग्री अधिक है. दोपहर में बूंदाबांदी हुई और उसके बाद शाम को 6 बजे से रात 9 बजे तक रुक रुक कर बूंदाबांदी और फुहारें पड़ती रहीं. 
मौसम विभाग के पूर्वानुमान केन्द्र के अनुसार अगले तीन दिनों में प्रातः काल कोहरा छाए रहने और दोपहर में बादलों की लुकाछिपी के संभावना हैं. दिन में तापमान सामान्य से कम रहने के संभावना हैं. नए वर्ष की प्रातः काल तक सर्दी का सितम बरकरार रहेगा. अगले तीन दिनों में न्यूनतम तापमान में भी तेजी से गिरावट आएगी. 

साल 2020 में सर्दी का हाल
दिन                                            अधिकतम                        न्यूनतम
25 दिसंबर                                       22.7                            7.6
26 दिसंबर                                       23.6                            7.6
27 दिसंबर                                       23.1                            7.4
28 दिसंबर                                       20.3                            9.4
 
2021 में सर्दी का हाल
दिन                                            अधिकतम                        न्यूनतम
25 दिसंबर                                      22.8                             9.1
26 दिसंबर                                      21.6                           10.8
27 दिसंबर                                      22.8                           12.8
28 दिसंबर                                      17.3                           11.9


बॉयलर फटने से झुलसे इतने मजदूर, पुलिस के रवैये से ग्रामीणों में नाराजगी; ये है पूरा मामला

बॉयलर फटने से झुलसे इतने मजदूर, पुलिस के रवैये से ग्रामीणों में नाराजगी; ये है पूरा मामला

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में एक दर्दनाक घटना हुई। सिखेड़ा थाना क्षेत्र में निराना के जंगल में नाला के पास पुराने टायरों से तेल निकालने के चलाए जा रहे प्लांट में बॉयलर फटने से झुलसे दो मजदूरों की अस्पताल में मौत हो गई।

वहीं पुलिस प्रकरण की जांच के बजाए मजदूरों और फैक्टरी संचालक के बीच हुए समझौता का कागज लिए बैठी रही। मृतक पुरबालियान गांव के रहने वाले थे। पुलिस के रवैये से ग्रामीणों के बीच नाराजगी है। 

निराना के जंगल में गंदे नाले के पास काफी समय से पुराने टायरों से तेल निकालने का प्लांट चलाया जा रहा है। मंसूरपुर के गांव पुरबालियान निवासी 28 वर्षीय प्रदीप पुत्र महेंद्र व 24 वर्षीय मोनू पुत्र मांगा अन्य मजदूरों के साथ प्लांट में काम कर रहे थे। प्रदीप व मोनू शुक्रवार को बॉयलर के बोल्ट खोल रहे थे, इसी बीच बायलर में जोरदार धमाका हुआ और दोनों मजदूर बायलर से निकले मलबे की चपेट में आ गए। इससे दोनों की छाती का हिस्सा बुरी तरह झुलस गया। इस दौरान अन्य सभी मजदूर मौके पर पहुंचे। 

इसके बाद उन्होंने प्लांट मालिक को सूचना दी। मालिक ने मौके पर पहुंच कर मजदूरों की मदद से झुलसे मजदूरों को गंगदासपुर प्राइवेट डॉक्टर के यहां पहुंचाया, लेकिन हालत गंभीर देखकर डॉक्टर ने दोनों को हायर सेंटर ले जाने की सलाह दी। 

दोनों को मेरठ सुभारती अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां मंगलवार को मोनू व बुधवार को प्रदीप की मौत हो गई। दोनों मजदूरों की मौत से परिजनों में रोष है। बताया गया कि गुरुवार को गणमान्य लोगों ने प्लांट मालिक से आर्थिक सहायता दिलाने का आश्वासन दिलाकर पीड़ित परिजनों से समझौता करा दिया। उधर, मजदूरों में हादसे के बाद से दहशत है।

पुलिस ने साधी थी चुप्पी
बताया गया कि हादसे की सूचना पुलिस को दे दी गई थी, लेकिन पुलिस ने चुप्पी साध ली थी। गुरुवार को थाना प्रभारी का कहना है कि पुलिस को इस बारे में थाना पुलिस को कोई जानकारी नहीं दी। डायल 112 को सूचना दी थी।

प्रदूषण विभाग भी चुप
इस हादसे को लेकर प्रदूषण विभाग भी चुप है। जबकि यह प्लांट क्षेत्र में प्रदूषण फैला रहा है।