Amit Shah Varanasi Visit: कार्यकर्ताओं को मंत्र, चुनौतियों पर चर्चा, वाराणसी में अमित शाह ने बताया उत्तर प्रदेश जीतने का प्लान

Amit Shah Varanasi Visit: कार्यकर्ताओं को मंत्र, चुनौतियों पर चर्चा, वाराणसी में अमित शाह ने बताया उत्तर प्रदेश जीतने का प्लान

UP Chunaav: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तैयारियों में सूबे की तमाम पार्टियां जुट गई हैं शुक्रवार को गृह मंत्री अमित शाह वाराणसी पहुंचे पार्टी की मीटिंग में उन्होंने कार्यकर्ताओं को जीत का मंत्र दिया सूत्रों के अनुसार इशारों-इशारों में अमित शाह ने केवल अखिलेश यादव की अगुआई वाली समाजवादी पार्टी (सपा) को प्रतिद्वंदी माना उन्होंने कहा, सपा के अतिरिक्त कोई नहीं टिक सकता यदि कार्यकर्ता जोर लगा देंगे तो कोई भी जंग में नहीं रह पाएगा उन्होंने बोला कि दो बड़े दल भी भाजपा के सामने मिलकर लड़े लेकिन कुछ नहीं कर सके अमित शाह ने सदस्यता अभियान को मजबूत करने की भी अपील की


उन्होंने बोला कि जो नाराज है उनको मनाने के साथ साथ अन्य दलों से भी जो मजबूत हो, उन्हें लाने की प्रयास करनी चाहिए शाह ने बोला कि सभी 75 जिलों में 75 ऐसे कार्यकर्ता तैयार करें जो पूरे दम से बूथ मजबूत करने में सहयोग दें इसके साथ ही उन्होंने बोला कि हम भाजपा को अगले 35 वर्षों तक केन्द्र और प्रदेश में सत्ता में बनाए रखने की योजना पर कार्य कर रहे हैं यदि भाजपा सत्ता में 35 वर्ष राह गई तो हमें विश्व गुरु बनने से कोई रोक नहीं पाएगा अमित शाह ने सरकार की योजनाओं को घर-घर तक पहुंचाने के लिए कार्यकर्ताओं को आगे और कार्य करने की भी बात कही


शाह ने चुनावी तैयारियों की समीक्षा की

उन्होंने उत्‍तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा की और 300 से अधिक सीटें जीतने का लक्ष्य निर्धारित करते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं को ‘बूथ जीता-चुनाव जीता' का संकल्प दिलाया शाह ने शुक्रवार को ट्वीट किया, 'आज वाराणसी में बीजेपी के विधानसभा प्रभारियों के साथ मीटिंग कर उत्‍तर प्रदेश में आनें वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा की '



— Amit Shah (@AmitShah) November 12, 2021

भाजपा की प्रदेश इकाई के अध्‍यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने बताया कि शाह ने 2022 में 300 से अधिक सीटों पर जीत की रणनीति तय की और विधानसभा प्रभारियों को जिम्मेदारियों की बारीकी की जानकारी दी शाह ने बोला कि यूपी में 2022 के चुनाव में बीजेपी की जीत कार्यकर्ताओं के दम पर होगी और कार्यकर्ता जनता का आशीर्वाद लेकर चुनाव जीतेंगे

बूथ जीता-चुनाव जीता का मंत्र

उन्होंने बताया कि शाह ने 'बूथ जीता, तो यूपी जीता' का संकल्प दिलाया प्रदेश इकाई के अध्‍यक्ष के मुताबिक, मीटिंग में सदस्यता अभियान, लोक सम्पर्क और अधिक से अधिक मेम्बर बनाने पर बल दिया गया स्‍वतंत्र देव के अनुसार शाह ने यह भी बोला कि प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने सभी प्रश्नों का उत्तर देते हुए भव्य राम मंदिर के निर्माण का शिलान्यास किया और काशी विश्‍वनाथ गलियारे का निर्माण कराया

उत्‍तर प्रदेश में अगले साल की आरंभ में विधानसभा चुनाव होंगे राज्‍य में 403 विधानसभा क्षेत्र हैं और पिछले दिनों लखनऊ में शाह ने 300 से अधिक सीटें जीतने का लक्ष्‍य रखा था शाह के पार्टी के उत्‍तर प्रदेश मामलों के प्रभारी रहते हुए 2014 के लोकसभा चुनाव और उनके राष्ट्रीय अध्‍यक्ष रहते हुए 2017 के विधानसभा और 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने उत्‍तर प्रदेश में बहुत बढ़िया सफलता हासिल की इसके पहले शाह अपने दो दिवसीय दौरे पर शुक्रवार शाम वाराणसी पहुंचे थे शाह ने यहां पहुंचने के बाद पंडित मदन मोहन मालवीय की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया इसके अतिरिक्त गृह मंत्री अमित शाह ने वाराणसी के काल भैरव मंदिर में पूजा-अर्चना भी की


बॉयलर फटने से झुलसे इतने मजदूर, पुलिस के रवैये से ग्रामीणों में नाराजगी; ये है पूरा मामला

बॉयलर फटने से झुलसे इतने मजदूर, पुलिस के रवैये से ग्रामीणों में नाराजगी; ये है पूरा मामला

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में एक दर्दनाक घटना हुई। सिखेड़ा थाना क्षेत्र में निराना के जंगल में नाला के पास पुराने टायरों से तेल निकालने के चलाए जा रहे प्लांट में बॉयलर फटने से झुलसे दो मजदूरों की अस्पताल में मौत हो गई।

वहीं पुलिस प्रकरण की जांच के बजाए मजदूरों और फैक्टरी संचालक के बीच हुए समझौता का कागज लिए बैठी रही। मृतक पुरबालियान गांव के रहने वाले थे। पुलिस के रवैये से ग्रामीणों के बीच नाराजगी है। 

निराना के जंगल में गंदे नाले के पास काफी समय से पुराने टायरों से तेल निकालने का प्लांट चलाया जा रहा है। मंसूरपुर के गांव पुरबालियान निवासी 28 वर्षीय प्रदीप पुत्र महेंद्र व 24 वर्षीय मोनू पुत्र मांगा अन्य मजदूरों के साथ प्लांट में काम कर रहे थे। प्रदीप व मोनू शुक्रवार को बॉयलर के बोल्ट खोल रहे थे, इसी बीच बायलर में जोरदार धमाका हुआ और दोनों मजदूर बायलर से निकले मलबे की चपेट में आ गए। इससे दोनों की छाती का हिस्सा बुरी तरह झुलस गया। इस दौरान अन्य सभी मजदूर मौके पर पहुंचे। 

इसके बाद उन्होंने प्लांट मालिक को सूचना दी। मालिक ने मौके पर पहुंच कर मजदूरों की मदद से झुलसे मजदूरों को गंगदासपुर प्राइवेट डॉक्टर के यहां पहुंचाया, लेकिन हालत गंभीर देखकर डॉक्टर ने दोनों को हायर सेंटर ले जाने की सलाह दी। 

दोनों को मेरठ सुभारती अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां मंगलवार को मोनू व बुधवार को प्रदीप की मौत हो गई। दोनों मजदूरों की मौत से परिजनों में रोष है। बताया गया कि गुरुवार को गणमान्य लोगों ने प्लांट मालिक से आर्थिक सहायता दिलाने का आश्वासन दिलाकर पीड़ित परिजनों से समझौता करा दिया। उधर, मजदूरों में हादसे के बाद से दहशत है।

पुलिस ने साधी थी चुप्पी
बताया गया कि हादसे की सूचना पुलिस को दे दी गई थी, लेकिन पुलिस ने चुप्पी साध ली थी। गुरुवार को थाना प्रभारी का कहना है कि पुलिस को इस बारे में थाना पुलिस को कोई जानकारी नहीं दी। डायल 112 को सूचना दी थी।

प्रदूषण विभाग भी चुप
इस हादसे को लेकर प्रदूषण विभाग भी चुप है। जबकि यह प्लांट क्षेत्र में प्रदूषण फैला रहा है।