गाजीपुर पहुंचे CM योगी, करोड़ों की परियोजनाओं का किया लोकार्पण और शिलान्‍यास

गाजीपुर पहुंचे CM योगी, करोड़ों की परियोजनाओं का किया लोकार्पण और शिलान्‍यास

सीएम योगी के आगमन से पूर्व भारी भीड़ सैदपुर नगर स्थित टाउन नेशनल इंटर कॉलेज में आना शुरू हो गया। मंच पर बलिया सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त, जिला पंचायत अध्यक्ष सपना सिंह, जमानिया विधायक सुनीता सिंह, पूर्व प्रदेश मंत्री रामतेज पांडेय पहुंचे और आयोजन स्‍थल का जायजा लिया। एमएलसी विशाल उर्फ चंचल सिंह लगातार व्यवस्था की देखरेख में लगे रहे। वहीं सीएम के आगमन से पूर्व सुरक्षा व्यवस्था काफी चाक चौबंद रखी गई। हेलीपैड से लेकर कार्यक्रम स्थल तक सुरक्षाकर्मी तैनात रहे। इस दौरान एक-एक व्यक्ति की जांच करने के बाद ही लोगों को कार्यक्रम स्‍थल जाने दिया गया। वहीं सुरक्षा कारणों से समाजवादी पार्टी की तरह का गमछा लिए लोगों की सघन तलाशी ली गई। वहीं काली शर्ट और रुमाल लिए लोगों को सुरक्षा कर्मियों ने बाहर कर दिया।


आयोजन के दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने टाउन नेशनल इंटर कालेज में आयोजित जनसभा में कुल 198 करोड़ रुपये के योजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया। रिमोट से ही उन्होंने 470 विभिन्न योजनाओं का लोकार्पण एवं 555 विभिन्न योजनाओं व विकास कार्यों का शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने घोषणा किया कि गाजीपुर का मेडिकल कालेज यहीं के महर्षि विश्वामित्र के नाम पर ही होगा। योगी इस दौरान जमकर गरजे। बगैर नाम लिए उन्होंने मुख्तार पर निशाना साधा, कहा कि पूर्व की सरकारों में गुंडों ने लोगों की जमीन पर कब्जा किया था और लोगों का दबाकर रखा था। गाजीपुर, आजमगढ़ व मऊ से गुंडों की पहचान होती थी। यहां के लोगों को होटल व धर्मशाला में कमरा नहीं मिलता था लेकिन साढ़े चार वर्षों में प्रदेश की सरकार ने इन गुंडों के हौसलों को पस्त कर दिया है। अवैध निर्माण पर बुल्डोजर चलाए गए। सरकारी जमीनों को कब्जा मुक्त किया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि जैसी करनी वैसी भरनी की तर्ज पर भाजपा सरकार ने कार्य किया।

सीएम ने कहा कि प्रदेश की सरकार ने हर वर्ग के हित को ध्यान में रखकर कार्य किया है। सैदपुर में भी भाजपा का विधायक हाेता तो यहां भी विकास की गंगा बहती। उन्होंने फोरलेन व पूर्वांचल एक्सप्रेस के कार्यों की चर्चा की। सीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिस मजबूती से कार्य किया है उसका कोई सानी नहीं है। बगैर रुके, डिगे और थके पीएम कार्य कर रहे हैं। उसी की देन है कि आज हमारे देश से आतंकवाद खत्म होने के कगार पर है। प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने भी प्रदेश व केंद्र सरकार की उपलब्धियां गिनाई। कहा कि मुख्‍यमंत्री ने भयमुक्त प्रदेश की स्थापना की है। आज रात को 12 बजे भी हमारी बेटी को कोई छू नहीं सकता है।


UP: जौनपुर में गिरा दो मंजिला जर्जर मकान, 5 लोगों की मौके पर मौत, 6 घायल

UP: जौनपुर में गिरा दो मंजिला जर्जर मकान, 5 लोगों की मौके पर मौत, 6 घायल

उत्तर प्रदेश के जौनपुर (Jaunpur) शहर कोतवाली क्षेत्र के बड़ी मस्जिद के पीछे मोहल्ला रोजा अर्जन में गुरुवार की देर रात जर्जर दो मंजिला कच्चा मकान आकस्मित गिर गया बताया जा रहा है कि रात को सोते समय हादसे में 11 लोग मलबे में दब गए जिसमें से एक महिला और तीन बच्चे समेत पांच लोगों की मलबे में दबकर मौके पर मृत्यु हो गई जबकि 6 लोगों घायल हो गए जिन्हें उपचार के लिए जिला हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है मकान गिरने की सूचना मिलते ही इलाके में हड़कंप मच गया

जानकारी होने के बाद जिला प्रशासन राहत बचाव कार्य में जुट गया सभी घायलों को उपचार के लिए जिला हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है जहां घायलों की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है सूचना मिलने पर जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा और पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी मौके पर पहुंचकर राहत और बचाव काम कराते हुए सभी को जिला हॉस्पिटल पहुंचाया एसपी के अनुसार मलबे में दबे सभी लोगों को बाहर निकाल लिया गया है

बता दें कि जौनपुर नगर मोहल्ला रौज़ा अर्जन में कमरूद्दीन और जलालुदीन का तीन मंजिला मकान था जो पुराना और जर्जर हो गया था रात लगभग 11 बजे परिवार के कुछ मेम्बर सो रहे थे वहीं कुछ लोग बैठकर बातें कर रहे थे कि इसी दौरान पूरा मकान भरभरा कर गिर गया जिसमें चांदनी (18), शन्नो (55), गयासुद्दीन (17), मोहम्मद असाउददीन (19), हेरा (10) और स्नेहा (12), संजीदा (37), मोहम्मद कैफ (8), मिस्बाह (18) और पड़ोस के अजीमुल्लाह (68)दब गए. लोकल लोगों और जिला प्रशासन ने दबे लोगों को निकाल कर घायलावस्था में जिला हॉस्पिटल पहुंचाया जहां डॉक्टरों ने संजीदा पुत्री जमालुद्दीन, अजीमुल्ला पुत्र कतवारू, मोहम्मद कैफ पुत्र जमालुद्दीन, मोहम्मद सेफ पुत्र जमालुद्दीन और मिस्वाह पुत्री जमालुद्दीन को मृत घोषित कर दिया

रेस्क्यू ऑपरेशन खत्म
अन्य 6 घायलों का उपचार जिला हॉस्पिटल में चल रहा है हादसे की सूचना पर पुलिस और फायर ब्रिगेड के कर्मचारी मौके पर पहुंचे और राहत और बचाव काम प्रारम्भ किया कई लोगों के रात में दबे होने की वजह से आधी रात के बाद भी राहत और बचाव काम चलता रहा प्रशासनिक ऑफिसरों के मुताबिक आधी रात के बाद पूरी तसल्ली होने के बाद ही अभियान समाप्त किया गया हादसे के बाद मृतक के परिवार में कोहराम मचा हुआ है