मरीजों को नहीं लगानी पड़ेगी लंबी लाइन, बारकोड स्कैन कर तुरंत बना दिया जाएगा पर्चा

मरीजों को नहीं लगानी पड़ेगी लंबी लाइन, बारकोड स्कैन कर तुरंत बना दिया जाएगा पर्चा

बाबा राघव दास मेडिकल कालेज की व्यवस्था अब एम्स की तरह होगी। मरीजों का स्थायी पंजीकरण कार्ड बनाया जाएगा। उस पर बार कोड होगा। काउंटर पर उसे स्कैन कर तुरंत पर्चा बना दिया जाएगा। इससे मरीजों को लंबी लाइन लगाने से मुक्ति मिल जाएगी। साथ ही इलाज की पूरी व्यवस्था आनलाइन की जा रही है।

पंजीकरण कार्ड में रहेगी पूरी जानकारी

मेडिकल कालेज के बाह्य रोगी विभाग (ओपीडी) में सामान्य दिनों में लगभग तीन हजार मरीज पहुंचते हैं। सुबह आठ बजे से ही पर्चा काउंटर पर मरीजों की लाइन लग जाती है। एक-एक मरीज का नाम, पिता का नाम, पता, मोबाइल नंबर पूछकर कंप्यूटर में फीड करने में समय लगता है। इसलिए लाइन लंबी होती जाती है। पंजीकरण कार्ड में बार कोड रहेगा जिसमें मरीज के बारे में पूरी जानकारी रहेगी।

इसलिए उससे कुछ पूछना नहीं होगा, सिर्फ एक रुपये शुल्क लेकर तुरंत पर्चा बना दिया जाएगा। पर्चा भी संबंधित डाक्टर अपने कंप्यूटर पर खोल लेंगे और दवा भी उसी में फीड कर देंगे। पर्चा प्रिंट कर मरीज को भी दे दिया जाएगा। जब भी मरीज पहुंचेगा तो उसकी पूरी हिस्ट्री डाक्टर के पास रहेगी। उसे क्या मर्ज है और कौन-कौन सी दवा चली है, सब कंप्यूटर में उपलब्ध रहेगा, केवल मरीज के पंजीकरण का नंबर डालना होगा, उसी पूरी हिस्ट्री सामने आ जाएगी।


आनलाइन इलाज की व्यवस्था तो शुरू हो चुकी है। लेकिन अब कालेज प्रशासन ने मरीजों का स्थायी पंजीकरण कार्ड बनाने का निर्णय लिया है। इससे मरीजों को भी लंबी लाइन नहीं लगानी पड़ेगी। अभी मरीज का पर्चा बनाने में एक से दो मिनट लगते हैं। पंजीकरण कार्ड होने से एक मिनट में एक से अधिक मरीजों का पर्चा बन जाएगा, क्योंकि केवल बार कोड स्कैन करना होगा। - डा. गणेश कुमार, प्राचार्य, बीआरडी मेडिकल कालेज।

 
छह संक्रमित मिले, 18 लोग ठीक हुए

कोरोना संक्रमण का दायरा लगातार घटता जा रहा है। लगभग तीन माह बाद गुरुवार को सबसे कम छह संक्रमित मिले और तीन गुना अर्थात 18 लोग स्वस्थ हुए। इसके पहले 22 मार्च को छह संक्रमित मिले थे। 24 घंटे में कोई मौत न होने से स्वास्थ्य विभाग ने राहत की सांस ली है। सीएमओ डा. सुधाकर पांडेय ने बताया कि जिले में अब तक 59211 लोग संक्रमित हो चुके हैं। 833 की मौत हो चुकी है। 58171 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। 207 सक्रिय मरीज हैं। उन्होंने बचाव की अपील की है। कहा है कि संक्रमण से बचना ही सबसे बेहतर उपचार है। इसके लिए मास्क लगाएं और दो गज की दूरी बनाए रहें।


बसपा की प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी की सफलता से मायावती प्रसन्न, बोलीं...

बसपा की प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी की सफलता से मायावती प्रसन्न, बोलीं...

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव 2022 में प्रदेश के 13 प्रतिशत ब्राह्मणों को जोड़ने के प्रयास में बहुजन समाज पार्टी की 23 जुलाई से चल रही प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी की सफलता पर पार्टी की मुखिया मायावती ने काफी प्रसन्नता व्यक्त की है। इसके साथ ही उन्होंने प्रदेश के अन्य दलों पर तंज भी कसा है। बसपा मुखिया मायावती ने इसको लेकर मंगलवार को दो ट्वीट भी किया है।

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान इंटरनेट मीडिया पर बेहद एक्टिव होने वाली उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कहा कि मेरे निर्देशन में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव तथा राज्यसभा सदस्य सतीश चंद्र मिश्रा ने उत्तर प्रदेश में 23 जुलाई से प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी प्रारंभ की है जो कि ब्राह्मण सम्मेलन के नाम से काफी चर्चा में है। मायावती ने कहा कि इसके प्रति प्रदेश में उत्साहपूर्ण भागीदारी यह प्रमाण है कि इनका बीएसपी पर सजग विश्वास है। जिसके लिए सभी का दिल से आभार।

मायावती ने कहा कि अयोध्या से 23 जुलाई को श्रीरामलला के दर्शन से शुरू हुआ प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी का यह कारवां अम्बेडकरनगर व प्रयागराज जिलों से होता हुआ प्रदेश में लगातार सफलतापूर्वक आगे बढ़ता जा रहा है। प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी से विरोधी पाॢटयों की नींद उड़ गई है। इसको रोकने के लिए अब यह सभी पाॢटयां प्रदेश में किस्म-किस्म के हथकण्डे अपना रही हैं। इनसे सावधान रहें।


बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि हमारी पार्टी के ब्राह्मण सम्मेलन में दिखने लगा है कि प्रबुद्ध वर्ग का बसपा पर सजग विश्वास है।