अब निजी अस्पतालों की नहीं चलेगी मनमानी, एम्बुलेंस के भी दाम तय, देखें रेट लिस्ट

अब निजी अस्पतालों की नहीं चलेगी मनमानी, एम्बुलेंस के भी दाम तय, देखें रेट लिस्ट

यूपी में कोविड-19 (UP corona update) के मुद्दे लगातार बढ़ रहे हैं, लेकिन निजी हॉस्पिटल और एंबुलेंस चालक इस दौरान गैर कानूनी वसूली से धन उगाही करने का मौका नहीं छोड़ रहे हैं. हॉस्पिटल ों में तय शुल्क से अधिक हजारों-लाखों रुपए, तो एंबुलेंस चालक भी तीमारदारों से मनमाने ढंग से कई-कई हजार रुपए वसूल रहे हैं. प्रदेश में कई जिलों से ऐसी खबरें अब आ रही हैं. लखनऊ के कई निजी हॉस्पिटल तो कोविड कमांड सेंटर को बेडों की संख्या की जानकारी ही नहीं दे रहे हैं, जिससे नए मरीजों को दाखिल करने में कठिनाई हो रही है. जनता परेशान हैं. कम्पलेन का दौर जारी है, जिसका संज्ञान अब सरकार ने ले लिया है. कठोरता दिखाना प्रारम्भ हो गई है. सीएम ने स्वयं संज्ञान लेते हुए ऑफिसरों को आदेश दिए हैं कि निजी एम्बुलेंस सेवा वनिजी हॉस्पिटल ों में इलाज की दर निर्धारित की जाए. लखनऊ की बात करें, तो अब निजी हॉस्पिटल (वो भी यदि ए श्रेणी का है) एक दिन का अधिकतम 18,000 रुपए से अधिक का किराया नहीं वसूल सकते. एंबुलेंस के लिए भी शुल्क सीमा तय की गई है. यदि इसके बाद भी अधिक किराया वसूला गया तो हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है, जिस पर कम्पलेन दर्ज की जा सकेगी.


निजी हॉस्पिटल ों का किराया फिक्स-
लखनऊ के मेयो और सहारा हॉस्पिटल सहित कई निजी हॉस्पिटल ों में मनमाने ढंग से वसूली की खबरें सामने आ रही थीं. कोविड काल में हॉस्पिटल ों की ऐसी मनमानी पर रोक लगाने के लिए डीएम अभिषेक प्रकाश ने सेक्टर और जोनल मजिस्ट्रेटों को हॉस्पिटल ों में बिलों की जाँच करने के आदेश दिए हैं. प्रशासन ने जाँच से लेकर उपचार तक के लिए भिन्न-भिन्न दरें तय की हैं. इसके बाद भी जहां पर भी मरीजों से अधिक वसूली होगी वहां संचालक के विरूद्ध कठोर कार्रवाई होगी.


-


ए श्रेणी के हॉस्पिटल का किराया-
- वेंटीलेटर सुविधा- 18 हजार प्लस पीपीई किट 2000 रुपये
- ऑक्सीजन बेड- 10 हजार प्लस पीपीई किट का 1200 रुपये
- आइसीयू वार्ड- 15 हजार प्लस पीपीई किट 2000 रुपये


अन्य या एनएचबीएच हॉस्पिटल -
- वेंटिलेटर सुविधा-15 हजार प्लस पीपीई किट 2000 रुपये
- ऑक्सीजन बेड- 8 हजार प्लस पीपीई किट का 1200 रुपये
- आईसीयू वार्ड- 13 हजार प्लस पीपीई किट का दो हजार रुपये


एंबुलेंस का किराया निर्धारित-
जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने एंबुलेंस चालकों की मनमानी पर रोकथाम के लिए एंबुलेंस के किराए को निर्धारित किया है. इसके लिए एंबुलेंस को भिन्न-भिन्न श्रेणी में बांटा गया है और इसी आधार पर शुल्क तय किया गया है. इसके मुताबिक यदि बिना ऑक्सीजन की एंबुलेंस हैं तो उसका 10 किमी तक का किराया एक हजार रुपए होगा. यदि 10 किमी से अधिक दूर जाना है, तो प्रति किमी 100 रुपये किराया बढ़ा सकते हैं. जो एंबुलेंस ऑक्सीजन युक्त हैं, वह 10 किमी के लिए 1500 रुपये से अधिक चार्ज नहीं कर सकते. यदि 10 किमी से अधिक दूर जाना है तो प्रति किमी 100 रुपये से किराया बढ़ाया जा सकता है. इसी तरह जिन एंबुलेंस में वेंटिलेटर सपोर्ट और बाईपैप लगे हो, वह 10 किमी के लिए 2500 रुपये ही लेंगी. 10 किमी से आगे जाने के लिए 200 रुपये प्रति किलोमीटर की दर से किराया बढ़ाया जाएगा. सरकारी एंबुलेंस मुफ्त हैं. उसका कोई शुल्क नहीं लगेगा. अधिक शुल्क मांगा जाए तो इसकी कम्पलेन ख्याति गर्ग, डीसीपी ट्रैफिक- 9454400517, विदिशा सिंह, आरटीओ प्रवर्तन - 7705824519 को की जा सकती है. इसके अलावा परिजन पुलिस हेल्पलाइन नंबर 112 और ट्रैफिक हेल्पलाइन नंबर 9454405155 पर भी कम्पलेन दर्ज करा सकते हैं.


इनसेट-
कोविड-19 जाँच के लिए सीटी स्कैन और एक्सरे की बढ़ रही मांग-
उत्तर प्रदेश में कोविड-19 वायरस के कई केस ऐसे भी सामने आ रहे हैं जिनमें, आरटी-पीसीआर टेस्ट के बाद भी Covid-19 की पुष्टि नहीं हो पा रही. डाक्टरों की सलाह है कि ऐसे में इन रोगियों को सीटी स्कैन या छाती का एक्सरे जरूर करा लेना चाहिए और 24 घंटे के बाद दोबारा आरटी पीसीआर जाँच करानी चाहिए. लेकिन सीटी स्कैन और एक्सरे का भी शुल्क बहुत ज्यादा अधिक है. सरकार को इनकी भी कीमतों पर कैप लगाने की जरूरत. कर्नाटक, जहां रोजाना उत्तर प्रदेश से भी अधिक मुद्दे सामने आ रहे हैं, वहां सीटी स्कैन और एक्सरे की बढ़ती मांग को देखते हुए कीमतें 80 प्रतिशत तक कम कर दिए गए हैं. उत्तर प्रदेश में भी इस पर निर्णय आए, इसकी आशा की जा रही है.


गंगा दशहरा पर बिठूर के घाटों में आस्था की डुबकी, स्नान-ध्यान और किया दान

गंगा दशहरा पर बिठूर के घाटों में आस्था की डुबकी, स्नान-ध्यान और किया दान

बीते दो दिन से जारी बारिश अब कच्चे मकानों के लिए काल बनना शुरू हो गई है। लगातार बारिश से भीग चुके कच्चे मकान अब खतरनाक हो गए हैं। बारिश थमने के बाद रसूलाबाद के हंसपुर में कच्चा मकान गिर गया, जिसके मलबे में दबकर बालक की मौत हो गई। वहीं हादसे में दादी और पौत्री गंभीर रूप से घायल हुईं हैं। ग्रामीणों ने दोनों को मलबे से निकालकर सीएचसी में भर्ती कराया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों ने हालत गंभीर देखकर कानपुर के लिए रेफर कर दिया।

यूपी में अचानक मौसम बदलने के बाद बीते दो दिन से कई जनपदों में बारिश का सिलसिला जारी है और आसमान में बादल छाए हुए हैं। कानपुर देहात में भी तीन दिन से बारिश जारी है। शनिवार की रात कुछ बारिश थमी तो कच्चे मकानों पर कहर टूटना शुरू हो गया है। बारिश में पूरी तरह से भीग चुके कच्चे मकान अब गिरने लगे हैं। रसूलाबाद हंसपुर गांव निवासी किसान रणविजय सिंह यादव का परिवार कच्चे मकान में शनिवार रात सो रहा था। देर रात बारिश के कारण मकान भरभरा कर गिर गया इससे उनके इकलौते बेटे 10 वर्षीय अंश की दबकर मौत हो गई जबकि उनकी मां लौंगश्री व बेटी साक्षी गंभीर रूप से घायल हो गईं।

चीखपुकार सुनकर आसपास के लोग जुटे और मलबे से किसी तरह उन्हें बाहर निकाल कर अस्पताल पहुंचाया ग्रामीणों का आरोप है कि देर रात अधिकारियों को फोन किया गया लेकिन किसी का फोन उठा नहीं उठा। वही सुबह नायब तहसीलदार घटनास्थल पर पहुंचे। एसडीएम अंजू वर्मा ने बताया कि पीड़ित परिवार को दैवीय आपदा राहत कोष से आर्थिक सहायता दिलाई जाएगी।


दुशांबे में SCO बैठक से इतर अजित डोभाल और मोईद यूसुफ की नहीं होगी मुलाकात, पाकिस्तानी एनएसए ने दी जानकारी       अफगानिस्तान में हिंसा को लेकर पाकिस्तान ने तालिबान का किया बचाव, ISIS पर दोष मढ़ा       IIT Kanpur बना रहा यूपी और दिल्ली में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर रोकने का प्लान       गंगा दशहरा पर बिठूर के घाटों में आस्था की डुबकी, स्नान-ध्यान और किया दान       सब्जी विक्रेता की मौत पर भीड़ ने शिवराजपुर थाना घेरा, बवाल की आशंका पर फोर्स तैनात       औसत से तीन गुना अधिक बरसा पानी, अभी पांच द‍िन तक रुक-रुककर होती रहेगी बार‍िश       ऐसे तो फिर डूबेगा गोरखपुर, रेनकट भरे गए न बंधों की हुई मरम्मत- अभी से जवाब देने लगे बंधे       गेट से लौटाए जा रहे भर्ती होने आने वाले मरीज, छह द‍िन में केवल चार मरीज हुआ भर्ती       रिकार्ड स्तर पर पहुंचा चिकन का भाव, दो माह में दो गुना हुआ मूल्य       कल से गुलजार होेंगे मॉल एवं रेस्टोरेंट, इस बार मेन्यू में होंगे यह खास डिश       गेहूं का ऐसा बीज जिसे खाद की जरूरत नहीं, उत्पादन में भी 15 से 35 फीसद तक की बढ़ोतरी       अब बरसात में भी लीजिए वन्य जीव विहार में रुकने का मजा, जान‍िए क्‍या है यूपी वन न‍िगम की तैयारी       CM योगी का एलान, जिले में एक हफ्ते तक नहीं मिला कोरोना संक्रम‍ित तो करेंगे पुरस्कृत       लखनऊ का ठग अब दुबई से चला रहा जालसाजी का नेटवर्क       पश्‍च‍िमी उत्तर प्रदेश में रोहि‍ंग्या के मददगारों के भी मिले सुराग, एटीएस ने तेज की छानबीन       लखनऊ में स्‍कूल का अवैध न‍िर्माण प्रशासन ने ढहाया, अराजकता से परेशान थे कालाकाकर कॉलोनी न‍िवासी       यूपी में एक ही रंग की होंगी शहर के मुख्य मार्गों की इमारतें, सीएम योगी ने प्रस्ताव को दी मंजूरी       पिता के सपने को बनाया अपनी जिंदगी का लक्ष्य, आगरा की बेटी ने थल सेना में अफसर बन दी सच्‍ची श्रद्धांजलि       18 साल बाद प्रेसीडेंशियल ट्रेन से यात्रा करेंगे राष्ट्रपति, जानिए-स्पेशल ट्रेन की खास बातें       गजब, बरेली में एक शख्स को अपने पालतू कुत्ते से इतना प्यार कि उसका ध्यान रखने के लिए छोड़ दी शराब