अब बरसात में भी लीजिए वन्य जीव विहार में रुकने का मजा, जान‍िए क्‍या है यूपी वन न‍िगम की तैयारी

अब बरसात में भी लीजिए वन्य जीव विहार में रुकने का मजा, जान‍िए क्‍या है यूपी वन न‍िगम की तैयारी

प्रदेश के नेशनल पार्क व वन्य जीव विहार में अब बरसात के मौसम में भी रुकने मजा लिया जा सकता है। उत्तर प्रदेश वन निगम नेशनल पार्क व वन्य जीव विहार में स्थित गेस्ट हाउस और हट की बुकि‍ंग पर्यटकों के लिए साल भर खोलने की तैयारी कर रहा है। हालांकि पर्यटकों को मानसून सीजन में केवल यहां रहने व खाने-पीने की सुविधा ही मिल पाएगी। इस दौरान पर्यटक जंगल की सैर नहीं कर पाएंगे।

दरअसल, नेशनल पार्क व वन्य जीव विहार 16 जून से 14 नवंबर तक के लिए बंद हो जाते हैं। बरसात में जंगल इसलिए बंद हो जाते हैं, क्योंकि अंदर कच्ची सड़कें होती हैं जो कट जाती हैं। ऐसे में वाहन जंगलों में जा नहीं पाते हैं। बारिश के मौसम में जानवर भी दिखाई नहीं देते हैं। इस कारण यहां किसी को जाने नहीं दिया जाता है। ऐसे में यहां बने गेस्ट हाउस व हट भी वीरान हो जाते हैं। अब वन निगम अपने इन गेस्ट हाउस व पर्यटक आवास स्थलों को साल भर खोलने का प्रस्ताव तैयार कर रहा है। वन्य जीव विहार में पर्यटक आवास स्थल ऐसे स्थानों पर बनाए गए हैं, जहां चारों तरफ हरियाली है। वन निगम का मानना है कि पर्यटकों को इन स्थानों पर रहने व आस-पास घूमने में जंगल का ही अनुभव होगा।

पहले चरण में दुधवा नेशनल पार्क व कतर्नियाघाट स्थित पर्यटक आवास स्थल और थारू हट की बुङ्क्षकग खोलने की तैयारी है। वन निगम इसके लिए जरूरी अनापत्ति लेने में जुटा है। अनापत्ति मिलने के बाद इसे आमजनों के लिए खोल दिया जाएगा। वन निगम के प्रबंध निदेशक संजय सि‍ंह ने बताया कि जंगलों में स्थित पर्यटक आवास गृहों की बुकि‍ंग बरसात के दिनों में भी खोलने के लिए प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। जल्द ही इसे मंजूरी के लिए वन विभाग व सरकार के पास भेजा जाएगा। इससे दुधवा नेशनल पार्क व कतर्नियाघाट के पर्यटक आवास गृह साल भर गुलजार रहेंगे।

टूर पैकेज भी होगा तैयार

वन निगम दुधवा पार्क व कतर्नियाघाट में बरसात के दिनों में पर्यटकों को ठहराने के लिए टूर पैकेज भी तैयार कर रहा है। वन निगम आने-जाने के लिए वाहन, ठहरने के लिए कमरे की बुङ्क्षकग व खाने-पीने का इंतजाम करेगा। प्रति व्यक्ति कितना खर्च आएगा इस पर वन निगम मंथन कर रहा है। शीघ्र ही पैकेज तैयार कर आनलाइन बुङ्क्षकग शुरू हो जाएगी। 


बसपा की प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी की सफलता से मायावती प्रसन्न, बोलीं...

बसपा की प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी की सफलता से मायावती प्रसन्न, बोलीं...

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव 2022 में प्रदेश के 13 प्रतिशत ब्राह्मणों को जोड़ने के प्रयास में बहुजन समाज पार्टी की 23 जुलाई से चल रही प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी की सफलता पर पार्टी की मुखिया मायावती ने काफी प्रसन्नता व्यक्त की है। इसके साथ ही उन्होंने प्रदेश के अन्य दलों पर तंज भी कसा है। बसपा मुखिया मायावती ने इसको लेकर मंगलवार को दो ट्वीट भी किया है।

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान इंटरनेट मीडिया पर बेहद एक्टिव होने वाली उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कहा कि मेरे निर्देशन में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव तथा राज्यसभा सदस्य सतीश चंद्र मिश्रा ने उत्तर प्रदेश में 23 जुलाई से प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी प्रारंभ की है जो कि ब्राह्मण सम्मेलन के नाम से काफी चर्चा में है। मायावती ने कहा कि इसके प्रति प्रदेश में उत्साहपूर्ण भागीदारी यह प्रमाण है कि इनका बीएसपी पर सजग विश्वास है। जिसके लिए सभी का दिल से आभार।

मायावती ने कहा कि अयोध्या से 23 जुलाई को श्रीरामलला के दर्शन से शुरू हुआ प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी का यह कारवां अम्बेडकरनगर व प्रयागराज जिलों से होता हुआ प्रदेश में लगातार सफलतापूर्वक आगे बढ़ता जा रहा है। प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी से विरोधी पाॢटयों की नींद उड़ गई है। इसको रोकने के लिए अब यह सभी पाॢटयां प्रदेश में किस्म-किस्म के हथकण्डे अपना रही हैं। इनसे सावधान रहें।


बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि हमारी पार्टी के ब्राह्मण सम्मेलन में दिखने लगा है कि प्रबुद्ध वर्ग का बसपा पर सजग विश्वास है।