लखनऊ का ठग अब दुबई से चला रहा जालसाजी का नेटवर्क

लखनऊ का ठग अब दुबई से चला रहा जालसाजी का नेटवर्क

नीरव मोदी और मेहुल चौकसी की तरह ही राजधानी का एक महाठग भी हजारों करोड़ रुपये लेकर दुबई भाग गया है। हजारों मुकदमे दर्ज होने के बावजूद पुलिसिया दोस्तों ने ठग को बाहर निकलने दिया, जिससे लाखों लोगों की जीवन की गाढ़ी कमाई मिलने की उम्मीद भी खत्म हो गई। अब जांच आथिर्क अपराध शाखा के हवाले है। अब देखना है कि यह ठग देश वापस लाया जाएगा या नहीं। ठगी की रकम से उसने दुबई व्यवसाय जमा बैठा और वहां रहकर कई अन्य देशों में नेटवर्क फैला रहा है।

बात हो रही है शाइन सिटी इंफ्रा के एमडी राशिद नसीम की। लखनऊ समेत विभिन्न राज्यों में घर का ख्वाब दिखाकर 50 हजार करोड़ से अधिक रुपये लूट ले गया। राजधानी के अलावा दिल्ली, बिहार, पश्चिम बंगाल गुवाहाटी में ठगी के हजारों मुकदमे दर्ज हैं। राशिद नसीम और उसके भाई आसिफ नसीम के खिलाफ ईडी ने भी मनी लांड्रि‍ंग के तहत उनकी कंपनी के अधिकारियों-कर्मचारियों के खिलाफ मुकदमे दर्ज किए हैं।


गोमतीनगर से शुरू की जालसाजी : राशिद नसीम ने गोमतीनगर में आफिस खोल रखा था। कुछ माह पहले नसीम की कंपनी में काम करने वाले विजलेश केसरवानी ने पीडि़तों का एक संगठन तैयार करके प्रयागराज हाईकोर्ट में कंपनी के खिलाफ 50 हजार करोड़ से अधिक की ठगी की रिट दायर की थी।

स्पीक एशिया कंपनी में एक मामूली एजेंट से शुरू की नौकरी और बना महाठग : राशिद नसीम प्रयागराज करेली के जीटीबी नगर का रहने वाला है। करीब 20 साल पहले उसने स्पीक एशिया मल्टी लेवल मार्केटि‍ंग कंपनी में एजेंट की नौकरी शुरू की थी। शातिर दिमाग नसीम ने यहीं पर रहकर निवेशकों को ठगने की कला सीखी। इसके बाद वर्ष 2013 में उसने शाइन सिटी इंफ्रा प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड के नाम से हाउसि‍ंग कंपनी और उसके बाद 50 से अधिक कंपनियां खोल डाली। लोगों को मकान और प्लाट दिलाने एवं उन पैसों को दो साल में दोगुना करने का झांसा देकर ठगने लगा। शुरू में निवेशकों का विश्वास जीतने के लिए एक साल तक उन्हेंं निवेश के रुपयों का ब्याज देता रहा। जब अधिक लोगों ने निवेश शुरू किया तो उसने टाल मटोल कर रुपये देना बंद कर दिया। राजधानी के साथ ही सूबे के अन्य जनपदों और कई राज्यों में अपनी कंपनियां शुरू कर दी। वहां पर अपने लोगों को बैठा दिया। लखनऊ में उसने सीतापुर रोड, रायबरेली रोड, फैजाबाद रोड पर अपनी कंपनी की साइट बताया था, जबकि यहां किसानों को उनके खेत में सिर्फ होृृडग और बैनर लगाने के लिए 20-25 हजार रुपये किराया देता था। इसके बाद निवेशकों को कंपनी की जमीन बताकर विजिट कराता था। चूंकि वहां पर शाइन इंफ्रा के बोर्ड लगे होते थे तो निवेशकों को भी विश्वास हो जाता था और वह प्लाट बुक करा लेते थे।

ठगी का ब्योरा और दर्ज मुकदमे

लखनऊ : 250 करीब
ठगी के शिकार लोग : 10 लाख से अधिक
सूबे के विभिन्न जनपदों में दर्ज मुकदमे : पांच हजार करीब
इन पर दर्ज हैं मुकदमे : दोनों ठग भाई समेत कंपनी के 40 अधिकारी और कर्मचारी
दुबई से लेकर कई देशों में फैलाया नेटवर्क 
सूत्रों के मुताबिक राशिद नसीम ने दुबई जाकर कई अन्य देशों में अपना नेटवर्क फैला दिया। वहां से उसने यूएसए, लंदन, न्यूजीलैंड, कनाडा, डेनमार्क, स्वीडन, आयरलैंड, हांगकांग, सि‍ंगापुर, नॉर्वे, स्वीजरलैंड, फिनलैंड, मलेशिया, जार्जिया में अपनी कंपनियां शुरू की हैं। अब वह दुबई में रहकर जार्ज‍िया की नागरिकता लेने की कोशिश कर रहा है।

नाकाम रही पुलिस, अब जांच ईओडब्ल्यू को : जब शहर में शाइन सिटी के खिलाफ मामले दर्ज हो रहे थे तब पुलिस ठग से दोस्ती निभा रही थी। यही वजह है कि सैकड़ों मुकदमे दर्ज होने के बावजूद पुलिस उस पर हाथ डालने से बचती रही। सूत्र बताते हैं कि राशिद की कई बड़े बड़े पुलिस अधिकारियों से भी दोस्ती थी। लिहाजा किसी पुलिसकर्मी की हिम्मत नहीं पड़ी। डीसीपी पूर्वी संजीव सुमन का कहना है कि हाईकोर्ट के आदेश पर शाइन सिटी से संबंधित सभी मामले अब ईओडब्ल्यू (आर्थ‍िक अपराध अनुसंधान शाखा) को ट्रांसफर हो गए हैं 


बसपा की प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी की सफलता से मायावती प्रसन्न, बोलीं...

बसपा की प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी की सफलता से मायावती प्रसन्न, बोलीं...

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव 2022 में प्रदेश के 13 प्रतिशत ब्राह्मणों को जोड़ने के प्रयास में बहुजन समाज पार्टी की 23 जुलाई से चल रही प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी की सफलता पर पार्टी की मुखिया मायावती ने काफी प्रसन्नता व्यक्त की है। इसके साथ ही उन्होंने प्रदेश के अन्य दलों पर तंज भी कसा है। बसपा मुखिया मायावती ने इसको लेकर मंगलवार को दो ट्वीट भी किया है।

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान इंटरनेट मीडिया पर बेहद एक्टिव होने वाली उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कहा कि मेरे निर्देशन में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव तथा राज्यसभा सदस्य सतीश चंद्र मिश्रा ने उत्तर प्रदेश में 23 जुलाई से प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी प्रारंभ की है जो कि ब्राह्मण सम्मेलन के नाम से काफी चर्चा में है। मायावती ने कहा कि इसके प्रति प्रदेश में उत्साहपूर्ण भागीदारी यह प्रमाण है कि इनका बीएसपी पर सजग विश्वास है। जिसके लिए सभी का दिल से आभार।

मायावती ने कहा कि अयोध्या से 23 जुलाई को श्रीरामलला के दर्शन से शुरू हुआ प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी का यह कारवां अम्बेडकरनगर व प्रयागराज जिलों से होता हुआ प्रदेश में लगातार सफलतापूर्वक आगे बढ़ता जा रहा है। प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी से विरोधी पाॢटयों की नींद उड़ गई है। इसको रोकने के लिए अब यह सभी पाॢटयां प्रदेश में किस्म-किस्म के हथकण्डे अपना रही हैं। इनसे सावधान रहें।


बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि हमारी पार्टी के ब्राह्मण सम्मेलन में दिखने लगा है कि प्रबुद्ध वर्ग का बसपा पर सजग विश्वास है।