कुशीनगर में नदी की बीच धारा में खत्म हुआ नाव का डीजल, बह गई डेढ़ सौ लोगों से भरी नाव

कुशीनगर में नदी की बीच धारा में खत्म हुआ नाव का डीजल, बह गई डेढ़ सौ लोगों से भरी नाव

कुशीनगर में गुरुवार की रात कुशीनगर में बड़ा हादसा होते होते टल गया। गुरुवार की रात साढ़े नौ बजे बिहार सीमा से सटे नदी उस पार जिले के दियरा क्षेत्र से ग्रामीणों को लेकर आ रही इंजन से चलने वाली बड़ी नाव जैसे ही नदी की बीच धारा में पहुंची तो उसका डीजल खत्म हो गया। नाव के नदी की बीच धारा में बहने की सूचना म‍िलते ही प्रशासन‍िक महकमें में हड़कंप मच गया।

सुबह तक चला बचाव अभियान

नाव नदी की धारा में बह गई। इस पर डेढ़ सौ लोग सवार थे। नाव बहती हुई बरवापट्टी घाट से पांच किमी दूर अमवादिगर गांव के सामने बने ठोकर के पास जाकर फंस गई। फंसे लोग चीखने पुकारने लगे। एक घंटे बाद पहुंची पुलिस व प्रशासनिक टीम बचाव कार्य में जुट गई। नाव सवार सभी यात्री सुरक्षित हैं। सभी को बचाने का अभियान शुक्रवार सुबह तक चला। प्रशासन‍िक अमला और एनडीआरफ की टीम से नाव में सवा सभी लोगों को बचा ल‍िया।

 
सहयोग में लगे रहे ग्रामीण

नदी उस पार दियरा में अपना फूस का घर बनाकर रह रहे लोग पानी में ही फंसे हुए थे। इनको निकाल कर लाने के लिए प्रशासनिक रोक के बावजूद नाव मालिक नाव लेकर रात को गया था। सबको नाव में सवार करने के बाद लौट रहा था। बीच नदी में नाव के इंजन का तेल समाप्त हो गया। अमवादिगर के ग्राम प्रधान रिंकू सिंह पटेल कुछ मझुआरो की छोटी वाली नाव से तेल की व्यवस्था कर भेजा। इसी बीच पुलिस-प्रशासनिक टीम भी पहुंची।


छोटी नाव से सभी को निकाला गया

एसडीएम एआर फारुकी ने बताया कि छोटी नाव से तेल भेजा जा रहा है। जान-माल का कोई खतरा नही है। कुछ लोगों को छोटी नाव से निकाला भी जा रहा है।

नेपाल में भी हादसा, तीन की मौत- 17 लापता

उधर, नेपाल के सिंधुपाल चौक के पास बाढ़ के पानी में डूबने से तीन की मौत हो गई। हादसे 17 लोगों के लापता होने की सूचना है। सिंधुपाल के सीडीओ अरूण पोखरेल ने बताया कि मृतकों में दो चीनी नागरिक हैं और एक के भारतीय होने की आशंका जताई जा रही है। अभी उसकी पहचान नहीं हो सकी है।


बसपा की प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी की सफलता से मायावती प्रसन्न, बोलीं...

बसपा की प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी की सफलता से मायावती प्रसन्न, बोलीं...

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव 2022 में प्रदेश के 13 प्रतिशत ब्राह्मणों को जोड़ने के प्रयास में बहुजन समाज पार्टी की 23 जुलाई से चल रही प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी की सफलता पर पार्टी की मुखिया मायावती ने काफी प्रसन्नता व्यक्त की है। इसके साथ ही उन्होंने प्रदेश के अन्य दलों पर तंज भी कसा है। बसपा मुखिया मायावती ने इसको लेकर मंगलवार को दो ट्वीट भी किया है।

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान इंटरनेट मीडिया पर बेहद एक्टिव होने वाली उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कहा कि मेरे निर्देशन में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव तथा राज्यसभा सदस्य सतीश चंद्र मिश्रा ने उत्तर प्रदेश में 23 जुलाई से प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी प्रारंभ की है जो कि ब्राह्मण सम्मेलन के नाम से काफी चर्चा में है। मायावती ने कहा कि इसके प्रति प्रदेश में उत्साहपूर्ण भागीदारी यह प्रमाण है कि इनका बीएसपी पर सजग विश्वास है। जिसके लिए सभी का दिल से आभार।

मायावती ने कहा कि अयोध्या से 23 जुलाई को श्रीरामलला के दर्शन से शुरू हुआ प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी का यह कारवां अम्बेडकरनगर व प्रयागराज जिलों से होता हुआ प्रदेश में लगातार सफलतापूर्वक आगे बढ़ता जा रहा है। प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी से विरोधी पाॢटयों की नींद उड़ गई है। इसको रोकने के लिए अब यह सभी पाॢटयां प्रदेश में किस्म-किस्म के हथकण्डे अपना रही हैं। इनसे सावधान रहें।


बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि हमारी पार्टी के ब्राह्मण सम्मेलन में दिखने लगा है कि प्रबुद्ध वर्ग का बसपा पर सजग विश्वास है।