सीएम योगी ने कोविड निगरानी समितियों को सराहा, कहा...

सीएम योगी ने कोविड निगरानी समितियों को सराहा, कहा...

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को एनेक्सी भवन में आहूत बैठक में गोरखपुर जिला, महानगर और क्षेत्र के पदाधिकारियों से रूबरू हुए। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कोरोना के संकट काल में भाजपा की टीम द्वारा किए गए सेवा कार्य के अनुभव को साझा किया और शहर और गांवों में बनी निगरानी समितियों की भूमिका को सराहा।

अन्य प्रदेशों से बेहतर है यूपी की स्थिति

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की आबादी करीब 25 करोड़ है। यहां कोरोना की महामारी से मौतों की संख्या 21800 है। जबकि महाराष्ट्र की आबादी उत्तर प्रदेश की आधी यानी 12 करोड़ है, लेकिन यहां पर कोरोना संक्रमण से करीब एक लाख 15 हजार लोग मरे हैं। अपने प्रदेश में काफी कम मौत होने के पीछे निगरानी समितियों को देते हुए कहा कि अगर समिति के सदस्यों ने घर घर जाकर सहयोग न किया होता तो स्थिति और भयावह होती।


मुख्यमंत्री ने बताया कि कोरोना के प्रथम वेब के दौरान ही निगरानी समितियों को ऑक्सिमिटर और थर्मा मीटर उपलब्ध करा दिया गया था। यह प्रयोग दूसरे वेब में काफी कारगर हुआ। मुख्यमंत्री ने कोरोना के दूसरे वेब के बीच 1 से 28 मई तक जिलों में किए गए अपने दौरे की चर्चा करते हुए बताया कि निगरानी समितियों के माध्यम से गांव के लोगों ने अच्छा कार्य किया। गांव के लोगों में जागरूकता और सतर्कता के कारण इस महामारी से निपटने में हम सफल हो सके।

 
सरकार व संगठन में समन्वय से मिली कोरोना पर विजय

मुख्यमंत्री ने अमेरिका समेत कई देशों में कोरोना के कारण मची तबाही का जिक्र करते हुए कहा कि भारत की आबादी 1 अरब 33 करोड़ होने के बावजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हम कोरोना को हराने में सफल रहे। मुख्यमंत्री ने भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा किए गए सेवा कार्य की चर्चा करते हुए कहा कि कोरोना को नियंत्रित करने और जनता को संकट से उबारने में इसका भी व्यापक असर रहा है। सरकार और भाजपा संगठन में समन्वय और सामुदायिक रूप से कार्य भी इस वैश्विक महामारी से निपटने में कारगर साबित हुआ।

 
अभी खत्म नहीं हुआ है संकट

मुख्यमंत्री ने संभावित तीसरे वेब की चर्चा करते हुए कहा कि कोरोना का संकट अभी समाप्त नहीं हुआ है, बल्कि सिर्फ कमजोर पड़ा है। इसलिए हमारी तैयारी पहले से ही चार चरणों में है। पहला, स्वच्छता, सेनेटिजेशन, फागिंग और शुद्ध पेयजल की उपलब्धता। दूसरा, अभिभावक स्पेशल बूथ के माध्यम से बारह वर्ष के काम उम्र के बच्चो के अभिभावकों का वैक्सिनेशन, तीसरा, हर मेडिकल कॉलेज में 100 और जिला अस्पताल में 25 आईसीयू बेड बच्चों के लिए, चौथा, हर निगरानी समिति को सौ सौ पैकेट मेडिसिन किट। मुख्यमंत्री ने बताया कि आगामी 26 जून से निगरानी समितियों को मेडिसिन किट उपलब्ध कराया जाएगा, जो कोरोना के तीसरे वेब को नियंत्रित करने में कारगर साबित होगा। मुख्यमंत्री ने अनाथ बच्चों के परवरिश के लिए सरकार की योजना की विस्तृत जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने कोरोना संकट से निपटने के लिए सरकार द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रम में जनता के बीच जाकर सहयोग करने की अपील भाजपा नेताओं से की।

 
संगठन की गतिविधियों को करें तेज

मुख्यमंत्री ने भाजपा के पदाधिकारियों से संगठन की गतिविधियों को तेज करने का आह्वान किया। कहा कि बूथ और सेक्टर की इकाई को मजबूत करने की जरूरत है। भाजपा पदाधिकारी सबसे पहले अपने बूथ को मजबूत करें। विधानसभा चुनाव की दृष्टि से सामाजिक समीकरण को समझें और सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं को जनता तक पहुंचने का कार्य करें। मुख्यमंत्री ने सोशल मीडिया नेटवर्क को मजबूत करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार की उपलब्धियां सोशल मीडिया के माध्यम जनता के बीच रखकर हम विरोधियों को उचित जवाब दे सकते हैं।

 
क्षेत्रीय अध्यक्ष ने जताया आभार

क्षेत्रीय अध्यक्ष डॉ धर्मेंद्र सिंह ने अपने संबोधन में प्रदेश में भाजपा सरकार की चार साल की उपलब्धियों को रखते हुए मुखमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रति आभार जताया। महानगर अध्यक्ष राजेश गुप्ता ने संचालन किया। बैठक के अंत में जिलाध्यक्ष युधिष्ठिर सिंह ने सभी के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया।

बैठक में यह रहे उपस्थित

 
महानगर महामंत्री देवेश श्रीवास्तव, ओम प्रकाश शर्मा, इंद्रमणि उपाध्याय, अच्यूतानंद शाही, महानगर उपाध्यक्ष शशिकांत सिंह, दयानंद शर्मा, जितेंद्र चौधरी जीतू, बृजेश मणि मिश्र, पदमा गुप्ता, रमेश प्रताप गुप्ता, वीरेंद्र नाथ पांडे, महानगर मंत्री रंजूला रावत, मनोज अग्रहरि, रणविजय साहि, अवधेश अग्रहरी, रणविजय सिंह मुन्ना, दिनेश जायसवाल, अवधेश अग्रहरि, अनुपमा पांडे, गौरव तिवारी, कार्यालय प्रभारी अशोक गुप्ता, मीडिया प्रभारी चंदन आर्य, पूर्व महानगर अध्यक्ष प्रदेश कार्यसमिति सदस्य राहुल श्रीवास्तव, राधेश्याम श्रीवास्तव, क्षेत्रीय उपाध्यक्ष विश्व जितांशु सिंह आशु, डॉक्टर सत्येंद्र सिन्हा, क्षेत्रीय महामंत्री प्रदीप शुक्ला, क्षेत्रीय कोषाध्यक्ष पुष्पदंत जैन, मीडिया प्रभारी डॉ बच्चा पांडेय नवीन, अनूप किशोर अग्रवाल, रवि प्रकाश श्रीवास्तव, जिला उपाध्यक्ष चंद्रबाला श्रीवास्तव, मनोज कुमार शुक्ला, हरिकेश राम त्रिपाठी, संजय सिंह, छोटेलाल मोर्य, जगदीश चौरसिया, शेषमणि त्रिपाठी, जिला महामंत्री सबल सिंह आदि उपस्थित रहे।


बसपा की प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी की सफलता से मायावती प्रसन्न, बोलीं...

बसपा की प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी की सफलता से मायावती प्रसन्न, बोलीं...

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव 2022 में प्रदेश के 13 प्रतिशत ब्राह्मणों को जोड़ने के प्रयास में बहुजन समाज पार्टी की 23 जुलाई से चल रही प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी की सफलता पर पार्टी की मुखिया मायावती ने काफी प्रसन्नता व्यक्त की है। इसके साथ ही उन्होंने प्रदेश के अन्य दलों पर तंज भी कसा है। बसपा मुखिया मायावती ने इसको लेकर मंगलवार को दो ट्वीट भी किया है।

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान इंटरनेट मीडिया पर बेहद एक्टिव होने वाली उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कहा कि मेरे निर्देशन में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव तथा राज्यसभा सदस्य सतीश चंद्र मिश्रा ने उत्तर प्रदेश में 23 जुलाई से प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी प्रारंभ की है जो कि ब्राह्मण सम्मेलन के नाम से काफी चर्चा में है। मायावती ने कहा कि इसके प्रति प्रदेश में उत्साहपूर्ण भागीदारी यह प्रमाण है कि इनका बीएसपी पर सजग विश्वास है। जिसके लिए सभी का दिल से आभार।

मायावती ने कहा कि अयोध्या से 23 जुलाई को श्रीरामलला के दर्शन से शुरू हुआ प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी का यह कारवां अम्बेडकरनगर व प्रयागराज जिलों से होता हुआ प्रदेश में लगातार सफलतापूर्वक आगे बढ़ता जा रहा है। प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी से विरोधी पाॢटयों की नींद उड़ गई है। इसको रोकने के लिए अब यह सभी पाॢटयां प्रदेश में किस्म-किस्म के हथकण्डे अपना रही हैं। इनसे सावधान रहें।


बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि हमारी पार्टी के ब्राह्मण सम्मेलन में दिखने लगा है कि प्रबुद्ध वर्ग का बसपा पर सजग विश्वास है।