हाथरस गैंगरेप केस में हुई ब्रेन फिंगरप्रिंटिंग, जाने कौन निकला दोषी

हाथरस गैंगरेप केस में हुई ब्रेन फिंगरप्रिंटिंग, जाने कौन निकला दोषी
ब्रेन स्कैन (Brain Scan) या एमआरआई जैसे टेस्ट्स के बारे में आप सुन चुके हैं ये सामान्य प्रजाति के मेडिकल डायग्नोसिस टेस्ट होते हैं, लेकिन ब्रेन मैपिंग (Brain Maping) या लाय डिटेक्टर (Lie Detector) जैसे टेस्ट अक्सर किसी आपराधिक मुद्दे में किए जाते हैं, जिनके बारे में भी आप समय समय पर जान चुके हैं लेकिन क्या आपने 'ब्रेन फिंगरप्रिंटिंग' के बारे में सुना है? पिछले दिनों सुर्खियों में रहे यूपी के हाथरस में 19 वर्ष की महिला के साथ गैंगरेप मुद्दे (Hathras Gang Rape & Murder Case) में कथित दुष्कर्म और मर्डर के आरोपियों पर यह टेस्ट हुआ

बीते शनिवार यानी 21 नवंबर को एक CBI टीम हाथरस के इस मुद्दे में जाँच के सिलसिले में गांधीनगर बेस्ड फॉरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला में चार आरोपियों के साथ पहुंची बताया गया कि इन चारों का वो टेस्ट किया गया, जिसे BEOSP या प्र​चलित तौर पर ब्रेन फिंगरप्रिंटिंग बोला जाता है आरोपियों के मेडिकल टेस्ट के बाद CBI टीम और फॉरेंसिक टीम ने मिलकर केस और पूछताछ प्रक्रिया तैयार की इन इस टेस्ट से जुड़ी कार्य की बातें जानिए

:-  तो क्या होता है BEOSP टेस्ट?
एक तरह की न्यूरो मनोवैज्ञानिक विधि है Brain Electrical Oscillation Signature Profiling, जिसे किसी आपराधिक मुद्दे में आरोपी पर अपनाकर पता किया जाता है कि उत्तर देते समय उसके ब्रेन यानी मस्तिष्क में किस तरह के रिस्पॉंस मिलते हैं मानवीय मस्तिष्क के इलेक्ट्रिकल बर्ताव को समझने के लिए इस टेस्ट को इलेक्ट्रोएनसेफलोग्राम प्रक्रिया के ज़रिये पूरा किया जाता है

कैसे होता है यह टेस्ट?
सबसे पहले इस टेस्ट के लिए आरोपी की रज़ामंदी ली जाती है फिर, जिसका टेस्ट किया जाना होता है, उसके सिर पर कई इलेक्ट्रोड लगी एक टोपी लगा दी जाती है आरोपी को क्राइम से जुड़े वीडियो या आवाज़ें सुनाई जाती हैं और इस दौरान उसके ब्रेन में पैदा होने वाली तरंगों और न्यूरॉन्स को समझा जाता है इस टेस्ट से मिलने वाले डेटा के बाद स्टडी की जाती है कि आरोपी किस तरह क्राइम में शामिल रहा
हाथरस गैंगरेप केस को लेकर देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन होते रहे
लाय डिटेक्टर से कैसे अलग है यह टेस्ट?
इस BEOSP टेस्ट में आरोपी से प्रश्न उत्तर नहीं किए जाते बल्कि न्यूरो मनोवैज्ञानिक शोध किया जाता है पॉलीग्राफ टेस्ट या लाय डिटेक्टर टेस्ट में ब्लड प्रेशर, धड़कन की रफ्तार, सांस और स्कीन में होने वाली हरकतों जैसी शारीरिक गतिविधियों या रिस्पॉंस दर्ज किए जाते हैं जानकारों का बोलना है कि मुश्किल समय में भी कोई आदमी अपने बीपी या पल्स रेट को कंट्रोल कर सकता है इसलिए BEOSP टेस्ट को ज़्यादा प्रामाणिक माना जाता है

क्या इस टेस्ट के नतीजे सबूत माने जाते हैं?
क्या न्यायालय में इस टेस्ट को बतौर सबूत पेश किया जा सकता है? इसका उत्तर है कि इन टेस्ट रिपोर्ट्स को स्वतंत्र रूप से सबूत नहीं माना जा सकता उच्चतम न्यायालय ने 2010 में सेल्वी बनाम कर्नाटक प्रदेश केस में बोला था कि नारको एनालिसिस, पॉलीग्राफ और ब्रेन मैपिंग जैसे टेस्ट्स अव्वल तो बगैर रज़ामंदी के करवाए नहीं जा सकते और इनके नतीजे स्वतंत्र रूप से सबूत नहीं माने जा सकते हां, ये किसी तथ्यात्मक प्रमाण या सबूत के हिस्से अवश्य हो सकते हैं

गांधीनगर प्रयोगशाला में क्यों हो रहे हैं टेस्ट?
आखिर में यह भी जानिए कि हाथरस केस में ब्रेन फिंगरप्रिंटिंग के लिए आरोपियों को गांधीनगर की फॉरेंसिक प्रयोगशाला में क्यों ले जाया गया फॉरेंसिक विज्ञान और तकनीकी जाँच के लिए यह देश की शुरूआती और बड़ी प्रयोगशाला रही है यहां 1100 स्टाफ हैं और यहां कई तरह के विशेष और एडवांस टेस्ट की सुविधाएं हैं 'गाय के मांस' संबंधी टेस्ट भी यहां होते रहे हैं गुजरात के 33 ज़िलों में फॉरेंसिक मोबाइल वैन चलती हैं, जो मौका ए वारदात से नमूने लेकर इस प्रयोगशाला तक पहुंचाने का कार्य करती हैं

एनसीआरबी डेटा के अनुसार इस प्रयोगशाला में 2019 में 69636 केसों में फिंगरप्रिंट टेस्ट हुए, जो देश में किसी अन्य प्रयोगशाला के मुकाबले सबसे ज़्यादा रहे इस प्रयोगशाला के डेटाबेस में 21 लाख से ज़्यादा फिंगरप्रिंट रिकॉर्ड हैं निठारी सीरियल किलिंग, आरुषि हत्याकांड, गोधरा ट्रेन अग्निकांड, शक्ति मिल गैंगरेप केस और हाल में चर्चित बॉलीवुड ड्रग्स जैसे तमाम हाई प्रोफाइल मामलों में जांचें इस प्रयोगशाला में हुई हैं

यूपी के हर क्षेत्र में तेजी से विकास हो रहा है : लल्लू सिंह

यूपी के हर क्षेत्र में तेजी से विकास हो रहा है : लल्लू सिंह

अयोध्या: सांसद लल्लू सिंह ने कहा कि आज बड़े गौरव का दिन है प्रदेश का हर जनपद उत्तर प्रदेश दिवस के रूप में मना रहा है। उत्तर प्रदेश गठन के पश्चात किसी भी सरकार ने अपने इस गौरव पूर्ण दिन को मनाने का ध्यान नहीं दिया।

उन्होंने कहा कि 4 वर्ष पूर्व प्रदेश सरकार में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में बनी सरकार ने उत्तर प्रदेश के गौरव को पूरे भारत एवं विश्व पटल पर यादगार बनाने के उद्देश्य से उत्तर प्रदेश दिवस मनाने का निर्णय लिया गया। इसके माध्यम से विभिन्न क्षेत्रों में उत्तर प्रदेश के गौरव को विश्व पटल पर स्थापित करने का उद्देश्य प्रमुख रूप से रहा है।

सांसद ने आगे कहा कि उत्तर प्रदेश के गठन के पश्चात पहली बार उत्तर प्रदेश में हर क्षेत्र में तेजी से विकास हो रहा है चाहे ग्रामीण क्षेत्र हो व शहरी क्षेत्र में आवास का निर्माण, सड़कों का जाल बिछाना हो, कृषि क्षेत्र में किसान भाइयों को अनुदान पर कृषि संयंत्र उपलब्ध कराना हो, कानून व्यवस्था, श्रमिकों का कल्याण, समाज कल्याण हो, सभी क्षेत्रों में प्रदेश कीर्तिमान स्थापित कर रहा है और इसका सारा श्रेय भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ तथा उन योजनाओं को लागू करने एवं समय-समय पर समीक्षा करने वाले अधिकारियों को जाता है। जनमानस का साथ मिलता रहा तो निश्चित रूप से भविष्य में हमारा प्रदेश उत्तर प्रदेश को मॉडल के रूप में भी जाना जाएगा।

उत्तर प्रदेश का गौरवशाली इतिहास रहा है: वेद प्रकाश गुप्ता
अयोध्या विधायक वेद प्रकाश गुप्ता ने अपने संबोधन में कहा कि हमें गर्व है कि हम उत्तर प्रदेश के निवासी हैं। यह गौरव का बोध हम सबको इसके लिए हम सबके प्रेरणास्रोत उत्तर प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने प्रत्येक 24 जनवरी को यूपी दिवस मनाने का संकल्प लिया और कहा कि संकल्प से सिद्वि की ओर अग्रसर उत्तर प्रदेश। साथ ही हम सबको कार्य करने हेतु मंत्र दिया-नवनिर्माण, नौवोत्थान, नव कार्य-सांस्कृति। उत्तर प्रदेश का अपना गौरवशाली इतिहास रहा है।

उन्होंने कहा कि 97 हजार गांव, 700 से अधिक नगर, 80 सांसद, 403 विधायक, 70 फीसदी साक्षरता दर, सबसे बड़ा हाईकोर्ट, एशिया की सबसे बड़ी परीक्षा संस्था माध्यमिक शिक्षा परिषद, जमीदारी, उन्मूलन, मण्डल आंदोलन आदि से अपनी विशिष्ट पहचान रखने वाले उत्तर प्रदेश ने श्रीराम, कृष्ण, गौतमबुद्व समेत विभूतियों के माध्यम से पूरी दुनिया में मानवता का संदेश दिया है। अयोध्या के दिव्य व भव्य दीपोत्सव, बरसाने की होली, प्रयाराज के अविस्मरणीय कुम्भ के विशेष आयोजन ने हमारी सभ्यता व सांस्कृतिक को वैश्विक स्तर पर पहचान दिलायी है, हम सभी का गौरव बढ़ाया है।

”कोरोना महामारी का भी सभी ने डटकर सामना किया”
विधायक ने आगे कहा कि कोरोना महामारी का भी हम सभी ने डटकर सामना किया, देश की सबसे ज्यादा आबादी वाला प्रदेश होने के बाद भी कोरोना के मरीजों की संख्या अन्य प्रदेशों की तुलना में कम रही। कोरोना महामारी के समय कोई भी व्यक्ति भूखा नही रहा, जो सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों व सामाजिक संगठनों की नैतिक जिम्मेदारियों के कारण सम्भव हो सका। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के यशस्वी नेतृत्व में भारत में स्वदेशी बैक्सीन बनी जो स्वालम्बन व आत्मनिर्भर भारत की देन है। ब्राजील, भूटान, नेपाल, बांग्लादेश, मारीशस आदि पड़ोसी देशों को भी बैक्सीन देकर आत्मनिर्भर भारत को वैश्विक मान्यता दी गयी।

वेद प्रकाश गुप्ता ने कहा कि सशक्त नारी सम्मान अधिकार चुनाव के समय हमारी सरकार का संकल्प था। जिस संकल्प को पूरा करने के लिए यशस्वी मुख्यमंत्री योगी जी द्वारा ऐतिहासिक कदम उठाये गये है। एन्टीरोमियो स्क्वायर्ड, 181 वूमेन हेल्पलाइन, आशा ज्योति केन्द्रों, महिला स्वास्थ्य परीक्षण, मातृत्व सेवा सम्मान जैसी अनेक योजनाएं महिला सशक्तीकरण में अहम भूमिका निभा रही है।

उन्होंने कहा कि अयोध्या पर्वो की, ज्ञान की, साहित्य की, कला की, सांस्कृतिक की और विशेष रूप से श्रीराम की नगरी है। राम जन्मोत्सव, झूलनोत्सव जैसे उत्सवों से गुंजायमान रहने वाली नगरी योगी जी की प्रेरणा से सम्पूर्ण विश्व में दीपोत्सव की नगरी के रूप में जानी जाने लगी है। प्रभु श्रीराम के भव्य मंदिर के निर्माण का राम भक्तों का स्वप्न साकार हो रहा है। आज इस अवसर पर हम सब मिलकर संकल्प लें कि अपने प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने में अपना पूर्ण सहयोग करेंगे। अपनी अवध की धरती को स्वच्छ व सुन्दर बनायेंगे, के साथ अपना उद्बोधन समाप्त किया।

”प्रदेश को शिखर पर पहुंचाना है”
जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने अपने संबोधन में कहा कि हम सभी को मिलजुल कर प्रदेश को शिखर पर पहुंचाना है। नीतियों योजनाएं को सरकार/शासन के उच्चाधिकारियों के मार्ग निर्देशन में ग्रामीण क्षेत्रों के अंतिम व्यक्ति तक उसका लाभ प्रदेश के सभी अधिकारी एवं कर्मचारी समन्वय स्थापित कर पहुंचाते हैं। वर्तमान में पूरे प्रदेश में मुख्यमंत्री जी के मार्गदर्शन में अधिकारियों की एक अच्छी टीम कार्य कर रही है।

कार्यक्रम में मुख्य विकास अधिकारी प्रथमेश कुमार, जिला विकास अधिकारी हवलदार सिंह, बेसिक शिक्षा अधिकारी संतोष देव पांडेय, समाज कल्याण अधिकारी अमित सिंह, उपायुक्त उद्योग सहित जिला पंचायत से अविरल, जिला समन्वय उपस्थित थे।


25 जनवरी 2021 का राशिफल: मकर राशि वालों के चल या अचल संपत्ति में वृद्धि होगी, लेकिन...       Share Market Tips: बजट से पहले भी बाजार में आ सकती है अच्छी खासी गिरावट       नई शिक्षा नीति पर अमल को सरकार दे सकती है अलग से फंड, शिक्षा मंत्रालय ने वित्त मंत्रालय को दिया है प्रस्ताव       Post Office के सुकन्या समृद्धि, आरडी और पीपीएफ खाते में ऑनलाइन जमा कर सकते हैं रुपये, जानें       Yes Bank के संस्थापक राणा कपूर को हाई कोर्ट से भी नहीं मिली जमानत       बैंक के नाम पर आने वाले फर्जी मैसेज की कैसे करें पहचान       गिर गई सोने की कीमतें, चांदी में आई उछाल, जानिए क्या हो गए हैं भाव       Home First Finance के IPO को मिला अच्छा-खासा समर्थन, बोली के आखिरी दिन तक हुआ 26.57 गुना सब्सक्राइब       इंग्लैंड ने भारत को छोड़ा पीछे, टेस्ट सीरीज में श्रीलंका का क्लीन स्वीप कर बनाया ये रिकॉर्ड       पाकिस्तान के पूर्व बल्लेबाजी कोच ने की रिषभ पंत की तारीफ, कही...       ऑस्ट्रेलिया के इस दिग्गज तेज गेंदबाज पर टीम से बाहर होने का खतरा       IPL की वजह से हुआ बदलाव, ICC ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल किया स्थगित       भारतीय स्पिनर का खुलासा, ऑस्ट्रेलिया दौरे पर हुआ भेदभाव, नहीं थी उनके साथ लिस्ट में जाने की अनुमति       गणतंत्र दिवस के मौक़े पर आयी फ़िल्मों ने जब बॉक्स ऑफ़िस पर भी मचाया धमाल       The Family Man के मेकर्स के साथ ओटीटी डेब्यू के लिए तैयार शाहिद कपूर       शेखर कपूर ने कहा कि फूलन ने बैंडिट क्वीन देखकर कहा था कि मुझे लगा फिल्म में गाने होंगे       इस एक्टर की दुल्हनियां बनी नताशा दलाल, अब इस दिन होगा वरुण नताशा का ग्रैंड रिसेप्शन       Republic Day 2021: देशभक्ति से जुड़े ये गाने आपकी भी आंखें कर देंगे नम       शादी के बाद वरुण धवन ने शेयर कीं अपनी हल्दी सेरेमनी की फोटोज़, देखें एक्टर का कूल अंदाज़       Republic Day पर लौट रही है विक्की कौशल की 'उरी- द सर्जिकल स्ट्राइक', सिनेमाघरों में फिर गूंजेगा Hows The Josh