इस शख्स ने महेंद्र सिंह धौनी को टीम इंडिया का मेंटोर बनने के लिए किया राजी

इस शख्स ने महेंद्र सिंह धौनी को टीम इंडिया का मेंटोर बनने के लिए किया राजी

भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे सफलतम कप्तानों में शामिल महेंद्र सिंह धौनी को क्रिकेट का मास्टर माइंड कहा जाता है। साल 2007 में आइसीसी द्वारा आयोजित पहले टी20 विश्व कप जीतकर इस धुरंधर ने पूरी दुनिया को अपना कायल बनाया। आइसीसी की तीन बड़ी ट्राफी पर कब्जा जमाने वाले धौनी दुनिया के एक मात्र कप्तान हैं। यही वजह है कि इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद भी बीसीसीआइ ने उनको टीम के साथ अगले टी20 विश्व कप के लिए टीम से साथ रहने के लिए राजी किया।

दुनियाभर में क्रिकेट के चाहने वालों का लंबे समय से चला आ रहा इंतजार आखिकार बुधवार 8 सितंबर को खत्म हो गया। अगले महीने से शुरू होने जा रही टी20 विश्व कप के लिए भारतीय क्रिकेट टीम की घोषणा कर दी गई। मुख्य चयनकर्ता चेतन शर्मा की अध्यक्षता वाली चयन समिति ने 18 सदस्यीय टीम का चयन किया। 15 मुख्य खिलाड़ी जबकि 3 रिजर्व के तौर पर नाम चुने गए। भारतीय टीम की तरफ से 2007 से 2016 तक सभी विश्व कप में बतौर कप्तान उतरने वाले धौनी इस बार बतौर मेंटोर टीम के साथ होंगे।

धौनी को मेंटोर बनने के लिए किसने मनाया

टीम चयन के बाद वर्चुअल प्रेस कान्फ्रेंस में बीसीसीआइ सचिव जय शाह ने धौनी के टीम इंडिया के टी20 विश्व कप के दौरान बतौर मेंटोर जुड़ने की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि हां उनकी बात पूर्व कप्तान से हो चुकी है और वह इस जिम्मेदारी को निभाने के लिए तैयार हैं।

जय शाह ने कहा, "मैंने दुबई में धौनी के साथ बात की थी। उनको इस फैसले से किसी तरह की कोई परेशानी नहीं है और टी20 विश्व कप वह भारतीय टीम के मेंटोर बनने के लिए राजी हैं। मैंने कोहली, रोहित और रवि शास्त्री की तरफ से भी मुझे उनको लेकर समर्थन हासिल हुआ।"


पाकिस्तानी दिग्गज का दावा, कहा- अगर मैं इस्तीफा नहीं देता तो बड़ी समस्या खड़ी हो जाती

पाकिस्तानी दिग्गज का दावा, कहा- अगर मैं इस्तीफा नहीं देता तो बड़ी समस्या खड़ी हो जाती

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज वकार यूनिस ने हाल ही में टी20 विश्व कप 2021 से पहले पाकिस्तान टीम के गेंदबाजी कोच के पद से इस्तीफा दे दिया था। मुख्य कोच मिस्बाह उल हक ने भी अपना पद छोड़ दिया था। अब इस बारे में वकार यूनिस ने खुल कर बात की है। एक विशेष साक्षात्कार में क्रिकेट पाकिस्तान से बात करते हुए, वकार ने कहा कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) में हालिया बदलावों के बाद इस्तीफा देना एक बुद्धिमानी थी।

उन्होंने कहा, "मेरे इस फैसले के पीछे दो से तीन कारण थे। जाहिर है, परिवार के साथ समय बिताना उनमें से एक था जो कोविड-19 के कारण मुश्किल होता जा रहा था। साथ ही, नए पीसीबी अध्यक्ष (रमीज राजा) की नियुक्ति और उनके शासन के बाद यह बुद्धिमानी की बात यह थी, क्योंकि ऐसा लग रहा था कि वह (राजा) एक नया सेटअप लाना चाहते हैं। इसलिए, जब मिस्बाह ने इस्तीफा दिया, तो मैंने उसी का पालन करने का फैसला किया।"

पाकिस्तान टीम के पूर्व दिग्गज वकार यूनिस ने आगे बताया, "अगर हमने यह फैसला नहीं लिया होता तो बड़ी समस्या खड़ी हो जाती। विवाद हो सकता था। मेरे पास क्रिकेट बोर्ड और उसके इतिहास को समझने का पर्याप्त अनुभव है। जब कोई नया सेटअप कार्यभार संभालता है, तो उनके काम करने का अपना तरीका होता है और उन सभी को ध्यान में रखते हुए यह करना एक समझदारी की बात थी।"

उन्होंने अगले महीने शुरू होने वाले मेगा इवेंट में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए पाकिस्तान का भी समर्थन किया। वकार ने कहा, "विश्व कप एक छोटा टूर्नामेंट है और अगर आपके खिलाड़ी फार्म में हैं और किस्मत आपका साथ देती है, तो टीम आगे बढ़ सकती है। हमारी गेंदबाजी किसी भी टोटल का बचाव कर सकती है और अगर हम अपनी बल्लेबाजी में कुछ मुद्दों को ठीक कर सकते हैं, तो इस टीम में हर तरह से जाने की क्षमता है।"