भारतीय टीम में सिलेक्शन से दंग यह क्रिकेटर, बोले...

भारतीय टीम में सिलेक्शन से दंग यह क्रिकेटर, बोले...

नई दिल्लीबाएं हाथ के तेज गेंदबाज अर्जन नागवासवाला गुजरात के वालसाड में अपने गांव नार्गोल में उस समय बेबाक रह गए जब उन्हें पता चला कि उन्हें इंग्लैंड दौरे के लिए भारतीय टीम में उन्हें स्टैंडबाय गेंदबाज के रूप में चुना गया है. नागवासवाला ने शनिवार को नारगोल से कहा, ‘इस समाचार को सुनने के बाद मैंने सबसे पहले मां और पिताजी को फोन किया. मैं बहुत रोमांचित था. मैं सड़क पर नहीं रुक सकता था क्योंकि Covid-19 प्रोटोकॉल आपको कार से बाहर निकलने की अनुमति नहीं देता है.

23 वर्ष के नागवासवाला दिल्ली से लौट गए हैं, यहां वह आईपीएल-14 के दौरान मुंबई इंडियंस के साथ गेंदबाज के रूप में जुड़े हुए थे. उन्होंने कहा, ‘मैं थक गया था. अंत में मैं इतना थक गया था कि मैं मुश्किल से कॉल उठा सकता था और बात कर सकता था. मुझे इसकी आशा नहीं थी. हर किसी को भरोसा था कि मुझे एक दिन न एक मौका मिलेगा. मुझमें भी वह आत्मविश्वास था. (लेकिन) यह बहुत अप्रत्याशित और आश्चर्यजनक था.




नागवासवाला स्वयं को बाएं हाथ के तेज गेंदबाज मानते हैं, जिसका लाभ यह है कि उन्हें गेंद को घूमाने में सहायता मिलती है. उन्होंने कहा, ‘हो सकता है कि मैं बाएं हाथ का तेज गेंदबाज हूं. घर पहुंचने के बाद मैंने अपने माता-पिता को कसकर गले लगाया. मेरे दोस्त, जो दरवाजे पर मेरा इन्तजार कर रहे थे.’ रणजी ट्रोफी में गुजरात का अगुवाई करने वाले तेज गेंदबाज ने 16 प्रथम श्रेणी मैचों में 62 विकेट लिए हैं. इसके अतिरिक्त उन्होंने 2019-20 के रणजी ट्रोफी सीजन में आठ मैचों में 41 विकेट चटकाए हैं. गुजरात के पूर्व कोच विजय पटेल ने उन्हें स्विंग गेंदबाज बोला है.




तेज गेंदबाज ने कहा, ‘मैं एक स्विंग गेंदबाज हूं. मेरी गति 130-135 है, लेकिन मैं गेंद को स्विंग करने की प्रयास करता हूं.’ रणजी ट्रोफी में गुजरात का अगुवाई करने वाले तेज गेंदबाज ने 16 प्रथम श्रेणी मैचों में 62 विकेट लिए हैं. उन्होंने 2019-20 के रणजी ट्रोफी सीजन में आठ मैचों में 41 विकेट लिए. नागवासवाला का सपना उस समय हकीकत हो गया, जब उन्हें पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज और मुंबई इंडियंस के क्रिकेट संचालन जहीर खान के साथ कुछ सीखने को मिला.




नागवासवाला ने कहा, ‘उन्होंने गेंदबाजी के पहलू पर अधिक कुछ नहीं किया. उन्होंने बोला कि यह ठीक है. जहीर सर ने बोला कि यदि आप अच्छी तरह से ट्रेनिंग करते हैं, तो आप अपनी गेंदबाजी में अधिक फायदा देखेंगे. उन्होंने मुझे अच्छी तरह से प्रशिक्षित करने के लिए कहा. उन्होंने मुझे कुछ तकनीकी बातें भी बताईं.’ उन्होंने कहा, ‘मैं बाएं हाथ का था. यह मेरा लाभ था. हमारे जिले या यहां तक कि प्रदेश स्तर पर भी हमारे पास बहुत सारे बाएं हाथ के बल्लेबाज नहीं थे. मैं जहीर सर को देखता था और मुझे तेज गेंदबाजी में दिलचस्पी थी.


17 साल की भारतीय बल्लेबाज ने वो कर दिखाया, जो महिला टेस्ट क्रिकेट में अब तक नहीं हुआ

17 साल की भारतीय बल्लेबाज ने वो कर दिखाया, जो महिला टेस्ट क्रिकेट में अब तक नहीं हुआ

 लंबे समय के बाद भारतीय महिला क्रिकेट टीम को टेस्ट क्रिकेट खेलने का मौका मिला है। इंग्लैंड के खिलाफ ब्रिस्टल में खेले जा रहे इस टेस्ट मैच में भले ही भारतीय टीम की हालत सही नहीं है, लेकिन एक 17 साल की खिलाड़ी ने वो कर दिखाया है, जो महिला टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में आज तक नहीं हुआ। इतना ही नहीं, 17 साल की ये खिलाड़ी अपना पहला ही टेस्ट मैच खेल रही थी।

दरअसल, हम बात कर रहे हैं लेडी सहवाग के नाम से फेमस हो चुकीं शेफाली वर्मा की, जिन्होंने एक टेस्ट मैच में सबसे ज्यादा छक्के जड़ने का रिकॉर्ड बनाया है। हालांकि, उन्होंने कोई छक्कों की झड़ी नहीं लगाई है, लेकिन उन्होंने दोनों पारियों में मिलाकर तीन छक्के जड़े, जो कि महिला टेस्ट क्रिकेट में एक विश्व रिकॉर्ड है। एक मैच में अभी तक सिर्फ 1 या 2 छक्के ही खिलाड़ी जड़ पाते थे, लेकिन शेफाली वर्मा ने एक ही मैच में तीन छक्के जड़कर रिकॉर्ड बनाया है।


दाएं हाथ की बल्लेबाज शेफाली वर्मा ने इंग्लैंड के खिलाफ पहली पारी में 2 छक्के जड़े, जबकि दूसरी पारी में उन्होंने एक छक्का जड़ा। पहली पारी में उन्होंने 96 रन बनाए थे, जबकि दूसरी पारी में उन्होंने 63 रन बनाए। हैरान करने वाली बात ये रही कि इनमें से 50 रन उन्होंने चौके-छक्कों से बटोरे। शेफाली ने मेजबान टीम के खिलाफ 11 चौके और एक छक्का जड़ा। वहीं, पहली पारी में उन्होंने 13 चौके और 2 छक्के जड़े थे।

बात अगर इस मुकाबले की करें तो मेजबान इंग्लिश टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 121.2 ओवर में 9 विकेट खोकर 396 रन बनाए। इसके जवाब में भारतीय टीम अपनी पहली पारी में 231 रन बनाकर ढेर हो गई। ऐसे में भारतीय टीम को फॉलोऑन खेलना पड़ा और दूसरी पारी में भी भारतीय टीम ने खबर लिखे जाने तक 35 ओवर में 2 विकेट खोकर 112 रन बना लिए हैं। भारत अभी भी 53 रनों से पिछड़ा हुआ है और मैच का चौथा दिन है।


कल से गुलजार होेंगे मॉल एवं रेस्टोरेंट, इस बार मेन्यू में होंगे यह खास डिश       गेहूं का ऐसा बीज जिसे खाद की जरूरत नहीं, उत्पादन में भी 15 से 35 फीसद तक की बढ़ोतरी       अब बरसात में भी लीजिए वन्य जीव विहार में रुकने का मजा, जान‍िए क्‍या है यूपी वन न‍िगम की तैयारी       CM योगी का एलान, जिले में एक हफ्ते तक नहीं मिला कोरोना संक्रम‍ित तो करेंगे पुरस्कृत       लखनऊ का ठग अब दुबई से चला रहा जालसाजी का नेटवर्क       पश्‍च‍िमी उत्तर प्रदेश में रोहि‍ंग्या के मददगारों के भी मिले सुराग, एटीएस ने तेज की छानबीन       लखनऊ में स्‍कूल का अवैध न‍िर्माण प्रशासन ने ढहाया, अराजकता से परेशान थे कालाकाकर कॉलोनी न‍िवासी       यूपी में एक ही रंग की होंगी शहर के मुख्य मार्गों की इमारतें, सीएम योगी ने प्रस्ताव को दी मंजूरी       पिता के सपने को बनाया अपनी जिंदगी का लक्ष्य, आगरा की बेटी ने थल सेना में अफसर बन दी सच्‍ची श्रद्धांजलि       18 साल बाद प्रेसीडेंशियल ट्रेन से यात्रा करेंगे राष्ट्रपति, जानिए-स्पेशल ट्रेन की खास बातें       गजब, बरेली में एक शख्स को अपने पालतू कुत्ते से इतना प्यार कि उसका ध्यान रखने के लिए छोड़ दी शराब       UP में दो से अधिक बच्चे वालों की सुविधाओं में होगी कटौती, सरकारी योजनाओं के लाभ से किया जा सकता है वंचित       MLC एके शर्मा को लेकर सभी अटकलें समाप्त, यूपी भाजपा के 18 प्रदेश उपाध्यक्ष में शामिल       CM योगी का समीक्षा के बाद निर्देश, सोमवार से विवाह में अधिकतम 50 लोगों को शामिल होने की अनुमति       कुंभ राशि वालों को बिजनेस में सफलता मिलेगी, आर्थिक पक्ष मजबूत होगा       दूसरे से तुलना कर खुद को हीन न समझें, पढ़ें गुलाब के पत्ते की प्रेरक कथा       जानिए आखिर शेर कैसे बना मां दुर्गा की सवारी?       आज है महेश नवमी, जानें पूजा मुहूर्त एवं क्यों यह दिन है माहेश्वरी समाज के लिए महत्वपूर्ण       आज महेश नवमी पर पढ़ें यह व्रत कथा, जानें इसका महत्व       शनिवार को न करें ये काम, शनि देव हो सकते हैं नाराज