T20 वर्ल्ड कप 2007 के लिए Dhoni की जगह मैं कप्तान बनाए जाने की उम्मीद कर रहा था: युवराज सिंह

T20 वर्ल्ड कप 2007 के लिए Dhoni की जगह मैं कप्तान बनाए जाने की उम्मीद कर रहा था: युवराज सिंह

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने अपनी सबसे बड़ी सफलता की शुरुआत साल 2007 में टी20 वर्ल्ड कप जीतने के साथ की थी और लीजेंड बनने की राह की तरफ अपना पहला कदम बढ़ाया था। धौनी ने बतौर भारतीय कप्तान ऐसा बेंचमार्क सेट कर दिया है जिससे आगे जाना काफी मुश्किल लगता है। भारतीय टीम मैनेजमेंट ने डेब्यू टी20 वर्ल्ड कप टूर्नांमेंट के लिए धौनी को टीम का कप्तान बनाने का फैसला किया था और युवराज सिंह को हैरत में डाल दिया था जो उम्मीद कर रहे थे कि, उन्हें टीम का कप्तान बनाया जाएगा। 

टी20 वर्ल्ड कप 2007 में पूर्व भारतीय ऑलराउंडर युवराज सिंह ने कभी नहीं भूलाने वाला प्रदर्शन किया था और फाइनल में भारत ने पाकिस्तान को हराकर खिताब अपने नाम किया था। युवराज सिंह को इस टूर्नामेंट में किए गए प्रदर्शन के लिए प्लेयर ऑफ द सीरीज भी चुना गया था। धौनी की कप्तानी में युवराज सिंह ने कमाल का खेल दिखाया था और साबित किया था कि, वो क्या कुछ कर सकते हैं। युवराज सिंह ने कहा कि, इस साल टीम इंडिया 2007 वनडे वर्ल्ड कप में खराब प्रदर्शन की वजह से शुरुआत में ही बाहर हो गई थी।  


युवी ने कहा कि, इसके बाद भारतीय क्रिकेट में काफी उथल-पुथल मचा हुआ था और फिर इंग्लैंड का दो महीने का दौरा था। इस बीच में हमें एक महीने के लिए आयरलैंड और साउथ अफ्रीका दौरे पर जाना था। इस दौरे के बाद टी20 वर्ल्ड कप खेला जाना था और हम घर से चार महीने के लिए दूर रहने वाले थे। इस वजह से सीनियर खिलाड़ियों ने सोचा कि, उन्हें ब्रेक की जरूरत है और शायद किसी ने टी20 वर्ल्ड कप को गंभीरता से नहीं लिया था। इसके बाद मैं इस टूर्नामेंट के लिए कप्तान बनाए जाने की उम्मीद कर रहा था और फिर घोषणा हुई कि, एम एस धौनी कप्तान होंगे। युवी ने ये सारी बातें 22 यार्न पोडकास्ट पर कही। उन्होंने कहा कि, कप्तान किसी को भी बनाया गया हो उसके बाद हमारा काम था कि हम पूरी तरह से अपने कप्तान को सपोर्ट करें और टीम के लिए बेहतर प्रदर्शन करें। 


17 साल की भारतीय बल्लेबाज ने वो कर दिखाया, जो महिला टेस्ट क्रिकेट में अब तक नहीं हुआ

17 साल की भारतीय बल्लेबाज ने वो कर दिखाया, जो महिला टेस्ट क्रिकेट में अब तक नहीं हुआ

 लंबे समय के बाद भारतीय महिला क्रिकेट टीम को टेस्ट क्रिकेट खेलने का मौका मिला है। इंग्लैंड के खिलाफ ब्रिस्टल में खेले जा रहे इस टेस्ट मैच में भले ही भारतीय टीम की हालत सही नहीं है, लेकिन एक 17 साल की खिलाड़ी ने वो कर दिखाया है, जो महिला टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में आज तक नहीं हुआ। इतना ही नहीं, 17 साल की ये खिलाड़ी अपना पहला ही टेस्ट मैच खेल रही थी।

दरअसल, हम बात कर रहे हैं लेडी सहवाग के नाम से फेमस हो चुकीं शेफाली वर्मा की, जिन्होंने एक टेस्ट मैच में सबसे ज्यादा छक्के जड़ने का रिकॉर्ड बनाया है। हालांकि, उन्होंने कोई छक्कों की झड़ी नहीं लगाई है, लेकिन उन्होंने दोनों पारियों में मिलाकर तीन छक्के जड़े, जो कि महिला टेस्ट क्रिकेट में एक विश्व रिकॉर्ड है। एक मैच में अभी तक सिर्फ 1 या 2 छक्के ही खिलाड़ी जड़ पाते थे, लेकिन शेफाली वर्मा ने एक ही मैच में तीन छक्के जड़कर रिकॉर्ड बनाया है।


दाएं हाथ की बल्लेबाज शेफाली वर्मा ने इंग्लैंड के खिलाफ पहली पारी में 2 छक्के जड़े, जबकि दूसरी पारी में उन्होंने एक छक्का जड़ा। पहली पारी में उन्होंने 96 रन बनाए थे, जबकि दूसरी पारी में उन्होंने 63 रन बनाए। हैरान करने वाली बात ये रही कि इनमें से 50 रन उन्होंने चौके-छक्कों से बटोरे। शेफाली ने मेजबान टीम के खिलाफ 11 चौके और एक छक्का जड़ा। वहीं, पहली पारी में उन्होंने 13 चौके और 2 छक्के जड़े थे।

बात अगर इस मुकाबले की करें तो मेजबान इंग्लिश टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 121.2 ओवर में 9 विकेट खोकर 396 रन बनाए। इसके जवाब में भारतीय टीम अपनी पहली पारी में 231 रन बनाकर ढेर हो गई। ऐसे में भारतीय टीम को फॉलोऑन खेलना पड़ा और दूसरी पारी में भी भारतीय टीम ने खबर लिखे जाने तक 35 ओवर में 2 विकेट खोकर 112 रन बना लिए हैं। भारत अभी भी 53 रनों से पिछड़ा हुआ है और मैच का चौथा दिन है।


कल से गुलजार होेंगे मॉल एवं रेस्टोरेंट, इस बार मेन्यू में होंगे यह खास डिश       गेहूं का ऐसा बीज जिसे खाद की जरूरत नहीं, उत्पादन में भी 15 से 35 फीसद तक की बढ़ोतरी       अब बरसात में भी लीजिए वन्य जीव विहार में रुकने का मजा, जान‍िए क्‍या है यूपी वन न‍िगम की तैयारी       CM योगी का एलान, जिले में एक हफ्ते तक नहीं मिला कोरोना संक्रम‍ित तो करेंगे पुरस्कृत       लखनऊ का ठग अब दुबई से चला रहा जालसाजी का नेटवर्क       पश्‍च‍िमी उत्तर प्रदेश में रोहि‍ंग्या के मददगारों के भी मिले सुराग, एटीएस ने तेज की छानबीन       लखनऊ में स्‍कूल का अवैध न‍िर्माण प्रशासन ने ढहाया, अराजकता से परेशान थे कालाकाकर कॉलोनी न‍िवासी       यूपी में एक ही रंग की होंगी शहर के मुख्य मार्गों की इमारतें, सीएम योगी ने प्रस्ताव को दी मंजूरी       पिता के सपने को बनाया अपनी जिंदगी का लक्ष्य, आगरा की बेटी ने थल सेना में अफसर बन दी सच्‍ची श्रद्धांजलि       18 साल बाद प्रेसीडेंशियल ट्रेन से यात्रा करेंगे राष्ट्रपति, जानिए-स्पेशल ट्रेन की खास बातें       गजब, बरेली में एक शख्स को अपने पालतू कुत्ते से इतना प्यार कि उसका ध्यान रखने के लिए छोड़ दी शराब       UP में दो से अधिक बच्चे वालों की सुविधाओं में होगी कटौती, सरकारी योजनाओं के लाभ से किया जा सकता है वंचित       MLC एके शर्मा को लेकर सभी अटकलें समाप्त, यूपी भाजपा के 18 प्रदेश उपाध्यक्ष में शामिल       CM योगी का समीक्षा के बाद निर्देश, सोमवार से विवाह में अधिकतम 50 लोगों को शामिल होने की अनुमति       कुंभ राशि वालों को बिजनेस में सफलता मिलेगी, आर्थिक पक्ष मजबूत होगा       दूसरे से तुलना कर खुद को हीन न समझें, पढ़ें गुलाब के पत्ते की प्रेरक कथा       जानिए आखिर शेर कैसे बना मां दुर्गा की सवारी?       आज है महेश नवमी, जानें पूजा मुहूर्त एवं क्यों यह दिन है माहेश्वरी समाज के लिए महत्वपूर्ण       आज महेश नवमी पर पढ़ें यह व्रत कथा, जानें इसका महत्व       शनिवार को न करें ये काम, शनि देव हो सकते हैं नाराज