रोहित को बनना ही था कप्तान, विराट को टेस्ट और वनडे की कप्तानी भी छोड़ देनी चाहिए: शाहिद अफरीदी

रोहित को बनना ही था कप्तान, विराट को टेस्ट और वनडे की कप्तानी भी छोड़ देनी चाहिए: शाहिद अफरीदी

नई दिल्ली
रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को न्यूजीलैंड के विरूद्ध होने वाली टी20 सीरीज (India vs New Zealand T20I Series) के लिए भारतीय टीम का कैप्टन (Rohit Sharma Captain) बनाया गया है. पाक के पूर्व कैप्टन (Shahid Afridi) ने इस निर्णय के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) की प्रशंसा की है. उन्होंने बोला कि उन्हें इस तरह के निर्णय का अंदाजा पहले से था.

पूर्व ऑलराउंडर को लगता है कि रोहित (Rohit Sharma) की मानसिकता उन्हें एक बहुत बढ़िया खिलाड़ी बनाता है और साथ ही यह भी बोला कि रोहित जहां आवश्यकता होती है वहां शांत रहते हैं और जब आक्रामकता दिखानी होती है वहां वह आक्रामक होते हैं.




रोहित होंगे टी20 टीम के कप्तान
विराट कोहली (Virat Kohli) ने टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup) के बाद इस फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ दी है. रोहित (Rohit) 17 नवंबर से न्यूजीलैंड के विरूद्ध प्रारम्भ होने वाली टी20 सीरीज से भारतीय टीम की कप्तानी करेंगे.




रोहित समय के मुताबिक करते हैं व्यवहार
समां टीवी से बात करते हुए अफरीदी (Afridi) ने कहा, 'जहां तक रोहित शर्मा की बात है, यह तो होना ही था. मैं डेक्कन चार्जर्स (Deccan Charges) में एक वर्ष उनके साथ खेला हूं. वह एक बहुत बढ़िया खिलाड़ी हैं जिनका शॉट सिलेक्शन कमाल का है. वह जब आवश्यकता होती है तब शांत रहते हैं जब आवश्यकता होती है तब आक्रामक होते हैं. आपको उनके दोनों रूप देखने को मिलते हैं.'

उन्होंने आगे कहा, 'जैसा कि मैंने बोला कि कप्तानी में यह परिवर्तन होना ही था. उन्हें बेशक मौका दिया जाना चाहिए था.'

इस बीच अफरीदी का बोलना है कि विराट कोहली को टेस्ट और वनडे की कप्तानी भी छोड़ देनी चाहिए और अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान देना चाहिए.




विराट को छोड़ देनी चाहिए सभी फॉर्मेट की कप्तानी
अफरीदी ने कहा, 'मुझे लगता है कि विराट कोहली को निर्णय लेना चाहिए कि वह केवल एक खिलाड़ी के तौर पर खेलते रहें. इससे उन पर अपेक्षाकृत कम दबाव होगा. उन्होंने बहुत ज्यादा क्रिकेट खेला है. वह अपने क्रिकेट और बल्लेबाजी का पूरा लुत्फ उठा पाएंगे क्योंकि टीम की कप्तानी करना सरल नहीं है. खास तौर पर हिंदुस्तान और पाक में तो यह बहुत मुश्किल है. जब तक आप अच्छी कप्तानी करते हैं तब तक ही सब ठीक रहता है.'

विराट कोहली हिंदुस्तान के सबसे पास टेस्ट कैप्टन हैं. इसके साथ ही वनडे इंटरनैशनल में भी उनका कप्तानी रिकॉर्ड बहुत बहुत बढ़िया है.


बेहद सरलता से आउट हुए विराट कोहली रह गए दंग, देखें VIDEO

बेहद सरलता से आउट हुए विराट कोहली रह गए दंग, देखें VIDEO

सेंचुरियन2018 में भारतीय टीम साउथ अफ्रीका दौरे पर गई थी. जोहानिसबर्ग में टीम इंडिया को नेट प्रैक्टिस में बॉलिंग करने के लिए कुछ लोकल गेंदबाजों को बुलाया गया था. उसमें दो जुड़वा भाई थे. उनमें से एक 17 वर्षीय ने भारतीय इंटरनेशनल क्रिकेटरों को खूब परेशान किया था.

अब आप सोच रहे हैं हम यहां 2018 दौरे और नेट बॉलर की बात क्यों कर रहे हैं? तो बता दें कि उसी नेट बॉलर मार्को जेनसेन ने को सेंचुरियन टेस्ट की दूसरी पारी में 18 रनों पर आउट कर दिया.

बॉक्सिंग डे टेस्ट के चौथे दिन लंच के बाद पहले ही ओवर की पहली गेंद पर विराट कोहली अपना विकेट गंवा बैठे. डेब्यू स्टार मार्को की गेंद गुड लेंथ पर टप्पा खाने के बाद ऑफ स्टंप से बहुत ज्यादा बाहर निकल रही थी और कोहली बल्ला अड़ा बैठे. बाकी का कार्य विकेट के पीछे खड़े क्विंटन डि कॉक ने पूरा किया. बहुत सरलता से कोहली का सीधा कैच लपक लिया. कोहली आउट होने के बाद दंग दिखे. कुछ देर तक वहीं खड़े रह गए.

विराट कोहली के लिए पिछले दो साल संघर्ष वाले रहे हैं. उन्होंने अपना अंतिम शतक बांग्लादेश के विरूद्ध 2019 में लगाया था. उसके बाद से वह कोई बड़ी पारी नहीं खेल सके. सेंचुरियन टेस्ट की बात करेंगे तो यहा वह पहली पारी में भी ऐसे ही हाउट हुए थे.

2021 की बात करें तो कोहली ने 11 टेस्ट में महज 28.21 की औसत से 536 रन बनाए. इस दौरान उनके नाम 4 अर्धशतक रहे, जबकि बेस्ट स्कोर 72 रहा. बेकार फॉर्म की वजह से ही उन्हें टी-20 टीम की कप्तानी छोड़नी पड़ी, जबकि बाद में बीसीसीआई ने वनडे की कप्तानी से भी हटाने का निर्णय किया.


गौरतलब है कि हिंदुस्तान ने अपनी दूसरी पारी में 174 रन बनाकर दक्षिण अफ्रीका के सामने 305 रन का लक्ष्य रखा. हिंदुस्तान ने पहली पारी में 327 रन बनाकर दक्षिण अफ्रीका को 197 रन पर आउट करके 130 रन की बढ़त हासिल की थी. हिंदुस्तान की तरफ से दूसरी पारी में ऋषभ पंत ने सर्वाधिक 34 रन बनाए. दक्षिण अफ्रीका के लिए कागिसो रबाडा और मार्को जेनसेन ने चार-चार जबकि लुंगी एनगिडी ने दो विकेट लिए.