IND vs NZ: टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टीम का चयन, 7 प्वॉइंट्स में जानिए- हर प्रश्न का जवाब

IND vs NZ: टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टीम का चयन, 7 प्वॉइंट्स में जानिए- हर प्रश्न का जवाब

नई दिल्ली भारतीय क्रिकेट टीम टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup-2021) से बाहर होने के बाद अब न्यूजीलैंड के विरूद्ध सीरीज खेलेगी, जिसका आगाज 17 नवंबर से होगा सीरीज में तीन टी20 और 2 टेस्ट मैच खेले जाएंगे टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टीम की घोषणा बीसीसीआई ने शुक्रवार को कर दी पहले टेस्ट के लिए विराट कोहली (Virat Kohli) की अनुपस्थिति में अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) को कैप्टन बनाया गया है रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को दो मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए आराम दिया गया है वहीं अनुभवी बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) उप-कप्तान बनाए गए हैं रहाणे कानपुर में होने वाले पहले टेस्ट में ही टीम की कप्तानी करेंगे विराट कोहली मुंबई में तीन दिसंबर से प्रारम्भ होने वाले टेस्ट के लिए वापसी करेंगे

टेस्ट सीरीज के लिए कई सीनियर खिलाड़ियों को आराम दिया गया है और कुछ युवाओं को मौका मिला है जिनमें शुभमन गिल, केएस भरत और मशहूर कृष्णा अहम हैं ऐसे में फैंस के मन में कुछ प्रश्न उठ रहे हैं आइए प्वॉइंट्स से समझते हैं इस टेस्ट सीरीज से जुड़े सवाल

न्यूजीलैंड के विरूद्ध टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टीम में किन खिलाड़ियों को मौका मिला है?
अजिंक्य रहाणे (कप्तान), केएल राहुल, मयंक अग्रवाल, चेतेश्वर पुजारा (उप-कप्तान), शुभमन गिल, श्रेयस अय्यर, ऋद्धिमान साहा (विकेटकीपर), केएस भरत (विकेटकीपर), रवींद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, अक्षर पटेल, जयंत यादव, ईशात शर्मा, उमेश यादव, 

विराट कोहली कब टीम से जुड़ेंगे? क्या वह टी20 के बाद टेस्ट में कप्तानी छोड़ रहे हैं?
विराट कोहली बहुत ज्यादा समय से लगातार क्रिकेट खेल रहे हैं टी20 वर्ल्ड कप से पहले वह पूरे आईपीएल में खेले बहुत ज्यादा समय से बायो बबल में रहने से उन्हें आराम दिया गया है वह दूसरे टेस्ट से पहले टीम इंडिया से जुड़ जाएंगे और टेस्ट टीम की कमान संभालेंगे उनके टेस्ट कप्तानी को छोड़ने जैसी कोई समाचार नहीं है

पृथ्वी शॉ को मौका क्यों नहीं मिला?
कुछ फैंस सोच रहे हैं कि इस टेस्ट सीरीज में पृथ्वी शॉ को मौका क्यों नहीं मिला दरअसल, टीम में 3 ओपनर चुने गए हैं इनमें केएल राहुल और मयंक अग्रवाल के अतिरिक्त शुभमन गिल भी ओपनिंग कर लेते हैं जो आईपीएल में इस जिम्मेदारी को निभा चुके हैं इतना ही नहीं, मध्यक्रम के लिए चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे और श्रेयस अय्यर लिस्ट में शामिल हैं पृथ्वी शॉ ओपनिंग ही संभालते रहे हैं ऐसे में उन्हें नंबर-4 या 5 पर भेजना टीम मैनेजमेंट को ठीक नहीं लगेगा

अजिंक्य रहाणे टीम इंडिया के अगले टेस्ट कैप्टन बनेंगे?
अभी कुछ बोला नहीं जा सकता है हालांकि यदि ऐसा होता है तो कोई आश्चर्य की बात नहीं होगी दरअसल, रहाणे टेस्ट फॉर्मेट में बहुत ज्यादा समय से उप-कप्तान की जिम्मेदारी निभा रहे हैं ऐसे में टीम मैनेजमेंट उन पर भरोसा जता सकता है हालांकि एक बल्लेबाज के तौर पर रहाणे पिछले कुछ समय से संघर्ष कर रहे हैं लेकिन उन पर भरोसा जताया गया है

इसे भी देखें, 

चेतेश्वर पुजारा को उप-कप्तान बनाने के क्या अर्थ हैं?
चेतेश्वर पुजारा बहुत ज्यादा समय से इस फॉर्मेट में टीम इंडिया का अगुवाई कर रहे हैं वह सफेद गेंद के फॉर्मेट में कम ही खेलते हैं या यूं कहिए कि उन्हें कम ही मौका दिया जाता है इसके यह भी अर्थ लगाए जा सकते हैं कि हर फॉर्मेट के लिए अलग कैप्टन या अलग सोच के खिलाड़ी को जिम्मेदारी दी जा रही है

टेस्ट सीरीज में तेज गेंदबाजी आक्रमण कौन संभालेगा?
न्यूजीलैंड के विरूद्ध टेस्ट सीरीज में 4 तेज गेंदबाज चुने गए हैं ईशांत शर्मा उनमें सबसे अनुभवी हैं और ऐसे में उन पर बहुत ज्यादा जिम्मेदारी रहेगी ईशांत के अतिरिक्त उमेश यादव को भी शामिल किया गया है वहीं, इंग्लैंड के विरूद्ध टेस्ट सीरीज खेलने वाले मोहम्मद सिराज को फिर से पेसर के तौर पर टीम से जोड़ा गया है युवा पेसर मशहूर कृष्णा को भी टीम में शामिल किया गया है मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह को आराम दिया गया है


बेहद सरलता से आउट हुए विराट कोहली रह गए दंग, देखें VIDEO

बेहद सरलता से आउट हुए विराट कोहली रह गए दंग, देखें VIDEO

सेंचुरियन2018 में भारतीय टीम साउथ अफ्रीका दौरे पर गई थी. जोहानिसबर्ग में टीम इंडिया को नेट प्रैक्टिस में बॉलिंग करने के लिए कुछ लोकल गेंदबाजों को बुलाया गया था. उसमें दो जुड़वा भाई थे. उनमें से एक 17 वर्षीय ने भारतीय इंटरनेशनल क्रिकेटरों को खूब परेशान किया था.

अब आप सोच रहे हैं हम यहां 2018 दौरे और नेट बॉलर की बात क्यों कर रहे हैं? तो बता दें कि उसी नेट बॉलर मार्को जेनसेन ने को सेंचुरियन टेस्ट की दूसरी पारी में 18 रनों पर आउट कर दिया.

बॉक्सिंग डे टेस्ट के चौथे दिन लंच के बाद पहले ही ओवर की पहली गेंद पर विराट कोहली अपना विकेट गंवा बैठे. डेब्यू स्टार मार्को की गेंद गुड लेंथ पर टप्पा खाने के बाद ऑफ स्टंप से बहुत ज्यादा बाहर निकल रही थी और कोहली बल्ला अड़ा बैठे. बाकी का कार्य विकेट के पीछे खड़े क्विंटन डि कॉक ने पूरा किया. बहुत सरलता से कोहली का सीधा कैच लपक लिया. कोहली आउट होने के बाद दंग दिखे. कुछ देर तक वहीं खड़े रह गए.

विराट कोहली के लिए पिछले दो साल संघर्ष वाले रहे हैं. उन्होंने अपना अंतिम शतक बांग्लादेश के विरूद्ध 2019 में लगाया था. उसके बाद से वह कोई बड़ी पारी नहीं खेल सके. सेंचुरियन टेस्ट की बात करेंगे तो यहा वह पहली पारी में भी ऐसे ही हाउट हुए थे.

2021 की बात करें तो कोहली ने 11 टेस्ट में महज 28.21 की औसत से 536 रन बनाए. इस दौरान उनके नाम 4 अर्धशतक रहे, जबकि बेस्ट स्कोर 72 रहा. बेकार फॉर्म की वजह से ही उन्हें टी-20 टीम की कप्तानी छोड़नी पड़ी, जबकि बाद में बीसीसीआई ने वनडे की कप्तानी से भी हटाने का निर्णय किया.


गौरतलब है कि हिंदुस्तान ने अपनी दूसरी पारी में 174 रन बनाकर दक्षिण अफ्रीका के सामने 305 रन का लक्ष्य रखा. हिंदुस्तान ने पहली पारी में 327 रन बनाकर दक्षिण अफ्रीका को 197 रन पर आउट करके 130 रन की बढ़त हासिल की थी. हिंदुस्तान की तरफ से दूसरी पारी में ऋषभ पंत ने सर्वाधिक 34 रन बनाए. दक्षिण अफ्रीका के लिए कागिसो रबाडा और मार्को जेनसेन ने चार-चार जबकि लुंगी एनगिडी ने दो विकेट लिए.