इस खेल से बनी पहचान, भारत सरकार ने पद्मश्री से नवाजा

इस खेल से बनी पहचान, भारत सरकार ने पद्मश्री से नवाजा

कद 5 फुट 3 इंच, लेकिन उनका हौसला और उनकी उपलब्धियां उनके कद से कई ज्यादा उपर रही। किसी को यह उम्मीद नहीं थी कि ये छोटी कद वाली महिला कॉमनवेल्थ गेम्स में स्वर्ण पदक जीतकर वेटलिफ्टिंग के लिए एक बड़ी नाम बन जाएगी। इतना ही नहीं, किसी ने ये तक नहीं सोचा होगा कि 5 फुट 3 इंच की इस महिला को पद्मश्री पुरस्कार से नवाजा जाएगा। जी हां, हम बात कर रहे वेटलिफ्टर कुंजारानी देवी की, जिन्होंने 38 साल की उम्र में कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड जीतकर भारतीय महिलाओं के लिए एक मिशाल बनीं। बता दें कि कुंजारानी का आज जन्मदिन है। इस शानदार मौके पर हम आज उनके अनछूए पलों के बारे में बात करेंगे, तो चलिए जानते है उनके बारे में कुछ अनसुनी कहानियां…

मणिपुर की हैं कुंजारानी
वेटलिफ्टर कुंजारानी का जन्म 1 मार्च 1968 में मणिपुर के कैरंग मायाई लेकाई में हुआ था। उन्होंने इम्फाल के सिंदम सिंशांग आवासीय हाई स्कूल में अपनी प्रारंभिक शिक्षा पूरी की, वहीं इम्फाल के महाराजा बोध चन्द्र कॉलेज से उन्होंने स्नातक तक की शिक्षा पूरी की। उन्होंने शैक्षिणिक जीवन में ही यह लक्ष्य बना लिया था कि उन्हें वेटलिफ्टिंग करना है। हालांकि इस बीच उन्होंने कई खेलों में भी हिस्सा लिया।

कैसे खेल से प्रेरित हुई कुंजारानी

कुंजारानी खेल में एंट्री कैसे ली, इसकी भी कहानी का दिलचस्प है। कुंजारानी जब 14 साल की थी, तब उन्होंने 1982 के एशियन गेम्स के बारे में सुना। उस दौरान भारतीय ट्रैक क्वीन पीटी ऊषा लोगों के जुबान पर छाई हुई थी। उनकी कामयाबी को देख कुंजारानी काफी प्रेरित हुई थी। एक चैनल के इंटरव्यू में उन्होंने इसके बारे में चर्चा करते हुए बताया था, “उस इवेंट ने मुझे ऐसा महसूस कराया कि मैं भी खेल में शानदार प्रदर्शन कर सकती हूं। उसके बाद मैंने बहुत सारे खेल खेलना शुरू कर दिए, फिर चाहे वह हॉकी हो, फुटबॉल हो या ट्रैक पर दौड़ना हो।” ये वहीं दौर था, जब कुंजारानी खेल की ओर आकर्षित हुई।

पावरलिफ्टिंग से की शुरूआत
खेल जगत का चुनाव करने के बाद कुंजारानी पावरलिफ्टिंग से अपनी करियर की शुरूआत की। इस खेल में उन्होंने अपनी प्रतिभा का कला दिखाते हुए चंद महीनों में ही राष्ट्रीय पावरलिफ्टिंग का रिकॉर्ड तोड़ दिया था। लेकिन उनकी आंखों ने तो कुछ और ही सपना बुन रखा था। बता दें कि कुंजारानी ने ओलंपिक खेलों में हिस्सा लेना चाहती थी। यही वजह थी कि उन्होंने पावरलिफ्टिंग का भी खेल छोड़ दिया।

वेटलिफ्टिंग में ली एंट्री
ओलंपिक का सपना देखते हुए कुंजारानी ने पावरलिफ्टिंग छोड़ वेटलिफ्टिंग में एंट्री ली। एक इंटरव्यू में कुंजारानी वेटलिफ्टिंग के बारे में बताया, “मैं साफतौर पर देख सकती थी कि जो भार मैं उठा पा रही थी उससे विश्व रिकॉर्ड बहुत दूर नहीं था। मेरे कोच हमेशा मुझे कहते थे कि अगर मैं कड़ी मेहनत करती रही तो भारत का प्रतिनिधित्व करने का मेरा सपना जल्द ही साकार होगा।”

वर्ल्ड चैंपियनशिप
वर्ष          खेल आयोजन     किलोग्राम        वर्ग पदक

1989        मैनचेस्टर               44                रजत

1991       डोनॉशेचिंगन           44                रजत

1992          वर्ना                     44                रजत

1994       इस्तांबुल                 46                रजत

1995        वारसॉ                    46                रजत

1996       गुआंगज़ौ                46                 रजत

1997       चियांग माई             46                 रजत

ये वो गेम्स है जिनमें कुंजारानी वर्ल्ड चैंपियनशिप रही है, लेकिन कभी स्वर्ण पदक तक नहीं पहुंच पाई। फिर उन्होंने ने 1990 के बीजिंग और 1994 के हिरोशिमा एशियाई गेम्स में कास्य पदक ही प्राप्त कर पाई। लंबे समय के बाद साल 2004 में एथेंस ओलंपिक गेम्स में चौथे पायदान तक ही सीमित रही। फिर साल 2006 में कमबैक करते हुए कुंजारानी ने मेलबर्न कॉमनवेल्‍थ में हिस्सा लेते हुए देश को पहला स्वर्ण पदक दिलाया।

पद्मश्री ने नवाजा गया
खेल जगत में कुंजारानी ने अपने 17 साल बिताए। इस दौरान उन्होंने कई उपलब्धियां भी हासिल की। साल 1990 में कुंजारानी को अर्जुन पुरस्कार से नवाजा गया। वहीं 1996 में भारत के सबसे बड़े खेल सम्मान राजीव गांधी खेल रत्न को व्यावसायिक टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस के साथ साझा करते हुए सम्मानित किया गया। इसके अलावा 2011 में कुंजारानी को पद्मश्री अवॉर्ड से सम्मानित किया गया।


चेन्नई ने पंजाब को 6 विकेट से हराया, हासिल की पहली जीत

चेन्नई ने पंजाब को 6 विकेट से हराया, हासिल की पहली जीत

आइपीएल के 14वें सीजन के आठवें मुकाबला चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) ने पंजाब किंग्स (PBKS) को छह विकेट से हरा दिया। मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए इस मैच में चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान एमएस धौनी ने टॉस जीतकर गेंदबाजी चुनी। ऐसे में पंजाब की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में 8 विकेट खोकर 106 रन बनाए। 107 रन के लक्ष्य को चेन्नई की टीम ने 4 विकेट के नुकसान पर 15.4 ओवर में हासिल कर लिया। यह इस सत्र में चेन्नई की पहली जीत है। 


छोटे लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई के लिए रितुराज गायकवाड़ और फाफ डु प्लेसिस की ओपनिंग जोड़ी मैदान पर उतरी। पिछले मैच के हीरो अर्शदीप सिंह ने रितुराज को 5 रन के स्कोर पर दीपक हुड्डा के हाथों कैच करवाया। मोइन अली को 46 रन पर मुरुगन अश्विन ने चलता किया। सुरैश रैना को शमी ने आठ रन पर आउट किया। इसके अगले ही गेंद पर अंबाती रायुडू डक पर पवेलियन लौट गए। फाफ डुप्लेसिस 36 और सैम कुर्रन पांच रन बनाकर नाबाद रहे।


पंजाब की पारी, गिरे 7 विकेट

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी पंजाब किंग्स को पहला झटका पहले ही ओवर में लगा जब मयंक अग्रवाल पहली ही गेंद पर क्लीन बोल्ड हो गए। उनको दीपक चाहर ने पवेलियन भेजा। दूसरी सफलता सीएसके को रन आउट के रूप में मिली। केएल राहुल 5 रन बनाकर रवींद्र जडेजा के थ्रो के चलते रन आउट हो गए। क्रिस गेल के रूप में पंजाब को तीसरा झटका लगा जो दीपक चाहर की गेंद 10 रन बनाकर जडेजा के हाथों कैच आउट हुए। 


इसी ओवर में दीपक चाहर ने निकोलस पूरन को भी फंसाया, जो खाता भी नहीं खोल पाए। पांचवां विकेट दीपक चाहर ने सीएसके को दिलाया। उन्होंने दीपक हुड्डा को 10 रन के निजी स्कोर पर फाफ डुप्लेसिस के हाथों कैच आउट कराया। दीपक चाहर ने शानदार गेंदबाजी की और अपने 4 ओवर के कोटे में सिर्फ 14 रन खर्च किए और चार अहम विकेट अपने नाम किए। ये उनके आइपीएल करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।

छठा झटका पंजाब किंग्स को झाय रिचर्डसन के रूप में लगा जो 15 रन बनाकर मोइन अली की गेंद पर बोल्ड हो गए। 7वीं सफलता सीएसके को मुरुगन अश्विन के रूप में मिली, जो 14 गेंदों में 6 रन बनाकर ड्वेन ब्रावो की गेंद पर फाफ डुप्लेसिस के हाथों कैच आउट हुए। आठवीं विकेट पंजाब की शाहरुख खान के रूप में गिरी जो 36 गेंदों में 47 रन बनाकर सैम कुर्रन की गेंद पर जडेजा के हाथों कैच आउट हुए। शमी 9 रन बनाकर नाबाद रहे।

पंजाब किंग्स की प्लेइंग इलेवन

केएल राहुल (कप्तान और विकेटकीपर), मयंक अग्रवाल, क्रिस गेल, दीपक हुड्डा, निकोलस पूरन, शाहरुख खान, झाय रिचर्डसन, मुरुगन अश्विन, रिले मेरेडिथ, मोहम्मद शमी और अर्शदीप सिंह।

चेन्नई सुपर किंग्स की प्लेइंग इलेवन

रितुराज गायकवाड़, फाफ डुप्लेसिस, मोइन अली, सुरेश रैना, अंबाती रायुडू, एमएस धौनी (कप्तान और विकेटकीपर), रवींद्र जडेजा, सैम कुर्रन, ड्वेन ब्रावो, शार्दुल ठाकुर और दीपक चाहर।

CSK vs PBKS Head to Head


पंजाब की टीम और चेन्नई की टीम के बीच आइपीएल में कुल 23 मुकाबले खेले गए हैं। इनमें से 14 मुकाबले चेन्नई सुपर किंग्स ने जीते हैं, जबकि पंजाब किंग्स को 9 बार जीत मिली है। हालांकि, पिछले पांच मैचों में पंजाब की टीम का रिकॉर्ड एमएस धौनी की सीएसके के खिलाफ काफी खराब है। पिछले पांच मैचों में सिर्फ एक ही मैच पंजाब किंग्स सीएसके के खिलाफ जीतने में सफल हुई है। वहीं, मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में दोनों टीमों के रिकॉर्ड की बात करें तो पंजाब किंग्स जीत प्रतिशत के मामले में सीएसके से थोड़ी आगे है।


डॉक्टर की लापरवाही से बिगड़ा अभिनेत्री का चेहरा, सोशल मीडिया पर लगाई फटकार       Janhvi Kapoor कोरोना महामारी के बीच जमकर मना रही हैं वेकेशन       नहीं रहे अनुपम खेर को 'मनमोहन सिंह' बनाने वाले मेकअप आर्टिस्ट, अभिनेता ने जताया दुख       कंगना रनौत का अरविंद केजरीवाल पर तंज, बोलीं...       कभी फिल्मों में बैकग्राउंड डांसर थे ये एक्टर, वीडियो शेयर कर बोले...       Mira Rajput Kapoor ने फोटो शेयर कर अपनी फेवरेट ‘आईपीएल’ टीम का किया खुलासा!       KL Rahul के जन्मदिन पर रूमर्ड गर्लफ्रेंड आथिया शेट्टी ने दिलचस्प अंदाज में दी बधाई       आशुतोष राणा के बाद अब रेणुका शहाणे भी हुई कोरोना पॉजिटिव, बच्चे भी हुए संक्रमित       बेहतरीन फोटोग्राफर हैं शाहिद कपूर की बेटी मीशा, पत्नी मीरा की ये तस्वीर है प्रूफ       Madhuri Dixit Covid-19 की दूसरी लहर से हुई दुखी, सोशल मीडिया पर लिखी ये बात       हैदराबाद को मिली लगातार तीसरी हार, मुंबई ने 13 रन से जीता मुकाबला       चेन्नई ने पंजाब को 6 विकेट से हराया, हासिल की पहली जीत       राजस्थान ने रोमांचक मुकाबले में दिल्ली को हराया, दर्ज की पहली जीत       बैंगलोर ने लगाई जीत की हैट्रिक, कोलकाता को 38 रन से हराया       पंजाब की दमदार शुरुआत, स्कोर हुआ 70 के पार       Samsung स्मार्टफोन खरीदने का शानदार मौका, मिल रहा भारी डिस्काउंट ऑफर       इस हफ्ते Xiaomi Mi Ultra, Apple समेत ये स्मार्टफोन भारत में देंगे दस्तक       Google Chrome को मिला बड़ा अपडेट, बदल जाएगा Google सर्च का अंदाज       POCO M2 का नया वेरिएंट 21 अप्रैल को होगा लॉन्च, कीमत 10,000 रुपये से होगी कम       Samsung Galaxy A22 स्मार्टफोन जल्द भारत में होगा लॉन्च, BIS लिस्टिंग से हुआ खुलासा