डेरा बाबा नानक पहुंचे सिद्धू, की करतारपुर कॉरिडोर खुलवाने की मांग

डेरा बाबा नानक पहुंचे सिद्धू, की करतारपुर कॉरिडोर खुलवाने की मांग

अमृतसर: पंजाब कांग्रेस पार्टी इकाई के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू आज प्रातः काल पंजाब के गुरदासपुर के डेरा बाबा नानक पर भारत-पाक बॉर्डर पर पहुंचे और दूर से ही पाक स्थित गुरुद्वारा श्री कीरतपुर साहिब के दर्शन करते हुए अरदास की कि दोनों ही देशों की सरकारें गुरुपर्व से पहले करतारपुर कॉरिडोर को खोल दें, ताकि भक्त पाक में करतारपुर साहिब गुरुद्वारे में जाकर माथा टेक सकें

दरअसल, आज ही के दिन दो वर्ष पहले यानी 09 नवंबर 2019 को पाक में उपस्थित करतारपुर साहिब गुरुद्वारे को खोला गया था ये वही समय था जब सिद्धू भी पाक गए थे और पाकिस्तानी पीएम इमरान खान की प्रशंसा की थी वहीं, पंजाब की पॉलिटिक्स में भी उथल-पुथल मची हुई है पंजाब कांग्रेस पार्टी का अंदरुनी कलह ख़त्म होने का नाम नहीं ले रहा है कैप्टन अमरिंदर सिंह और सिद्धू के बीच हुई तकरार के बाद अब मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और सिद्धू के बीच भी विवाद की ख़बरें आ रहीं हैं दोनों परोक्ष रूप से एक दूसरे पर बयानों के तीखे तीर चला रहे हैं समाचार ये भी है कि सिद्धू कोई कठोर रुख अखतियार कर सकते हैं

बता दें कि करतारपुर कोरिडोर खुलवाने के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी भी मांग कर चुके हैं उन्होंने इस मामले को लेकर हाल ही में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और पीएम नरेंद्र मोदी के साथ मुलाकात के दौरान भी बात की थी और कोरिडोर को खोलने की मांग रखी थी दरअसल, दो वर्ष पहले कोविड-19 के कारण कोरिडोर को बंद करने का निर्णय लिया गया था


दिल्ली: एम्स के निदेशक डाक्टर ने कहा- 'ओमिक्रॉन एक हलका संक्रमण' बताएं बचाव के उपाय

दिल्ली: एम्स के निदेशक डाक्टर ने कहा- 'ओमिक्रॉन एक हलका संक्रमण' बताएं बचाव के उपाय

ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों को देखते हुए एम्स के निदेशक डाक्टर रणदीप गुलेरिया ने जन-सामान्य को अनावश्यक डर और जमाखोरी जैसी गतिविधियों से बचने की सलाह दी है. डाक्टर गुलेरिया ने एक वीडियो संदेश में ओमिक्रॉन को लेकर स्थिति भी स्पष्ट की है.  

वर्तमान आंकड़ों के अनुसार, ओमिक्रॉन एक हलका संक्रमण है. इसमें ऑक्सीजन की जरूरत इतनी अधिक नहीं हो सकती. मैं सभी से ऑक्सीजन सिलेंडर और दवाओं की जमाखोरी से बचने का निवेदन करूंगा. हम एक देश के रूप में इन मामलों में किसी भी उछाल की स्थिति का सामना करने के लिए बेहतर ढंग से तैयार हैं.

एक वीडियो संदेश में डाक्टर गुलेरिया ने बोला कि हम पर्सनल प्रतिरक्षा के दृष्टिकोण से भी तैयार हैं. हममें से बड़ी संख्या में लोगों को या तो टीकाकरण के कारण या प्राकृतिक संक्रमण के कारण प्रतिरक्षा मिली है. घबराएं नहीं, बस सावधान रहें. 

गुलेरिया के अतिरिक्त फोर्टिस, फरीदाबाद के डाक्टर रवि शेखर झा का बोलना है कि पिछले कुछ दिनों से ओमाइक्रोन के मामलों में उछाल आया है. इसकी इंफेक्शन रेट डेल्टा वेरिएंट से अधिक है. अभी तक इसके लक्षण ज्यादातर हल्के ही होते हैं. इसके लिए किसी विशिष्ट एंटीवायरल, स्टेरॉयड की जरूरत नहीं होती.