Delhi : ट्रैफिक पुलिस ने किए ट्रैफिक के खास बंदोवस्त, New Year की रात घर से निकलने का है प्लान तो जान लें ये खबर

Delhi : ट्रैफिक पुलिस ने किए ट्रैफिक के खास बंदोवस्त, New Year की रात घर से निकलने का है प्लान तो जान लें ये खबर

न्यू ईयर के उत्सव को लेकर दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने ट्रैफिक के खास बंदोवस्त किए है। इसमें दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने अरेंजमेंट्स, रूट्स में बदलाव, डाइवर्जन और कोविड को अनुसार डीडीएमए की गाइडलाइंस को लेकर तमाम बंदोवस्त किए है।

हालांकि न्यू ईयर के सेलिब्रेशन और कोविड को लेकर भीड़ जमा करने पर मनाही है। हालांकि यदि आप 31 दिसंबर की रात दिल्ली में घर से बाहर निकलने की सोच रहे हैं तो ये रिपोर्ट पढ़ना आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

एबीपी न्यूज़ से खास वार्ता में दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के ज्वाइंट कमिश्नर विवेक किशोर ने बताया कि 31 दिसंबर की रात 8 बजे से नए वर्ष के उत्सव के लिए कई पाबंदियां की गई है। दिल्ली के दिल कनॉट प्लेस में क्या-क्या पाबंदियां है उस पर नजर डालते हैं।

कनॉट प्लेस जाने पर होगी पाबंदी

मंडी हाउस, बंगाली मार्किट, रंजीत सिंह फ्लाईओवर, बाराखंबा रोड़, टॉलस्टॉय मार्ग क्रॉसिंग, मिंटो रोड, दीन दयाल उपाध्याय मार्ग क्रॉसिंग, आरके आश्रम मार्ग क्रॉसिंग, गोल मार्किट, पटेल चौक, कस्तूरबा गांधी मार्ग, फिरोजशाह रोड, जय सिंह रोड बंगका साहिब लेन के गोलचक्कर पर ट्रैफिक को रोक दिया जाएगा और कनॉट प्लेस जाने पर पाबंदियां रहेंगी।

कनॉट प्लेस के इनर, मिडिल, आउटर सर्किल पर ट्रैफिक पर पाबंदी रहेगी, एंट्री केवल उन्हीं लोगों को मिलेगी जिन्होंने होटल रेस्टोरेंट में पहले से बुकिंग की होगी। कनॉट प्लेस के आसपास कुछ जगहों पर गाड़ियों की पार्किंग की व्यवस्था रहेगी आप जहां गाड़ी खड़ी कर सकते है। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने गोल डाक खाना, कालीबाड़ी मार्ग, पंडित पंत मार्ग, भाई वीर सिंह मार्ग, पटेल चौक के पास रकाब गंज गुरुद्वारे, मंडी हाउस, बंगाली मार्किट, राजेन्द्र प्रसाद रोड, रायसीना रोड, पेशावा रोड गोल मार्किट, बूटा सिंह रोड, जंतर मंतर के पास पार्किंग के लिए व्यवस्था की है।

एक बात और ध्यान रखने की आवश्यकता है जिन लोगों के पास होटल रेस्टोरेंट का वैलिड पास होगा उनके लिए भी कनॉट प्लेस में लिमिटेड पार्किंग होगी। जो पहले पहुंच जाएगा उसी को पार्किंग मिलेगी। इसके अतिरिक्त यदि किसी ने गलत ढंग से पार्किंग की तो उस गाड़ी को क्रेन के जरिए उठा लिया जाएगा।

रूट्स में किया जाएगा बदलाव

ट्रैफिक पुलिस के ज्वाइंट कमिश्नर विवेक किशोर ने बताया कि साउथ दिल्ली से नयी दिल्ली रेलवे स्टेशन जाने के लिए इन रूट्स का इस्तेमाल कर सकते है।

-राम मनोहर लोहिया पार्क स्ट्रीट होते हुए, मंदिर मार्ग, रानी झांसी रोड, झंडेवालान,देशबंधु गुप्ता रोड।

-कालीबाड़ी मार्ग, मंदिर मार्ग,रानी झांसी रोड से देशबंधु गुप्ता मार्ग

इसी ढंग से पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन जाने के लिए कोई रास्ता बंद नहीं होगा।

साकेत, ग्रेटर कैलाश, लाजपत नगर, नेहरू प्लेस, हौज खास, डिफेंस कलौनी,राजौरी गार्डन, अशोक विहार, मॉडल टाउन, मयूर विहार जैसे इलाको में भीड़ की आसार के हिसाब से ट्रैफिक डाइवर्ट किया जाएगा।

शराब पीकर गाड़ी चलाने वालों की खैर नहीं

नार्थ दिल्ली से साउथ दिल्ली जाने के लिए आईएसबीटी रिंग रोड से आश्रम से दिल्ली गेट, बहादुर शाह जफर मार्ग, मथुरा रोड से आश्रम और ऐसे ही वापसी होगी। वहीं ईस्ट दिल्ली से वेस्ट दिल्ली जाने के लिए रिंग रोड भैरो रोड, मथुरा रोड, राजेश पायलट मार्ग, मदर टेरेसा,आरएमएल से शंकर रोड का इस्तेमाल करना होगा। शराब पीकर गाड़ी चलाने वालों, बाइक से स्टंट करने वाले, जिग जैग और खतरनाक ड्राइविंग करने वालों पर ट्रैफिक और लोकल पुलिस की पैनी नजर रहेगी और कठोर एक्शन लिया जाएगा।


दिल्ली: एम्स के निदेशक डाक्टर ने कहा- 'ओमिक्रॉन एक हलका संक्रमण' बताएं बचाव के उपाय

दिल्ली: एम्स के निदेशक डाक्टर ने कहा- 'ओमिक्रॉन एक हलका संक्रमण' बताएं बचाव के उपाय

ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों को देखते हुए एम्स के निदेशक डाक्टर रणदीप गुलेरिया ने जन-सामान्य को अनावश्यक डर और जमाखोरी जैसी गतिविधियों से बचने की सलाह दी है. डाक्टर गुलेरिया ने एक वीडियो संदेश में ओमिक्रॉन को लेकर स्थिति भी स्पष्ट की है.  

वर्तमान आंकड़ों के अनुसार, ओमिक्रॉन एक हलका संक्रमण है. इसमें ऑक्सीजन की जरूरत इतनी अधिक नहीं हो सकती. मैं सभी से ऑक्सीजन सिलेंडर और दवाओं की जमाखोरी से बचने का निवेदन करूंगा. हम एक देश के रूप में इन मामलों में किसी भी उछाल की स्थिति का सामना करने के लिए बेहतर ढंग से तैयार हैं.

एक वीडियो संदेश में डाक्टर गुलेरिया ने बोला कि हम पर्सनल प्रतिरक्षा के दृष्टिकोण से भी तैयार हैं. हममें से बड़ी संख्या में लोगों को या तो टीकाकरण के कारण या प्राकृतिक संक्रमण के कारण प्रतिरक्षा मिली है. घबराएं नहीं, बस सावधान रहें. 

गुलेरिया के अतिरिक्त फोर्टिस, फरीदाबाद के डाक्टर रवि शेखर झा का बोलना है कि पिछले कुछ दिनों से ओमाइक्रोन के मामलों में उछाल आया है. इसकी इंफेक्शन रेट डेल्टा वेरिएंट से अधिक है. अभी तक इसके लक्षण ज्यादातर हल्के ही होते हैं. इसके लिए किसी विशिष्ट एंटीवायरल, स्टेरॉयड की जरूरत नहीं होती.