बनेगा वाहनों को स्टार रेटिंग देने का पैमाना :नितिन गडकरी

बनेगा वाहनों को स्टार रेटिंग देने का पैमाना :नितिन गडकरी

Crash Tests के आधार पर वाहनों को ‘स्टार रेटिंग’ दी जाएगी. शुक्रवार को सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने यह जानकारी दी. गडकरी ने ट्वीट किया कि  ‘भारत नया कार आकलन कार्यक्रम’ (भारत एनकैप) राष्ट्र में ग्राहकों को स्टार-रेटिंग के आधार पर सुरक्षित कार चुनने का विकल्प देगा. साथ ही यह सुरक्षित वाहनों के विनिर्माण के लिए मूल उपकरण विनिर्माताओं (ओईएम) के बीच एक स्वस्थ प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा देगा. 

जीएसआर के मसौदे को स्वीकृति दी गई 

उन्होंने कहा, मैंने हिंदुस्तान एनकैप प्रारम्भ करने के लिए जीएसआर अधिसूचना के मसौदे को स्वीकृति दे दी है. इसके अनुसार हिंदुस्तान में वाहनों को हादसा परीक्षण में उनके प्रदर्शन के आधार पर स्टार रेटिंग दी जाएगी. केंद्रीय मंत्री ने बोला कि ‘क्रैश’ परीक्षणों के आधार पर भारतीय कारों की स्टार रेटिंग कारों में संरचनात्मक और यात्री सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए ही नहीं बल्कि भारतीय वाहनों का निर्यात बढ़ाने के लिहाज से भी अत्यंत जरूरी है. गडकरी ने बोला कि हिंदुस्तान एनकैप के परीक्षण दिशा-निर्देशों को अंतरराष्ट्रीय हादसा परीक्षण नियमों के साथ जोड़ा जाएगा. इसे मौजूदा भारतीय नियमन में शामिल किया जाएगा. इससे ओईएम अपने वाहनों को हिंदुस्तान की अपनी आंतरिक परीक्षण सुविधाओं में परीक्षण करवा सकेंगे. 

वाहनों को सुरिक्षत बनाना मकसद 

उन्होंने बोला कि हिंदुस्तान एनकैप राष्ट्र को दुनिया का शीर्ष गाड़ी केंद्र बनाने के उद्देश्य के साथ हमारे गाड़ी उद्योग को आत्मानिर्भर बनाने में एक जरूरी कदम साबित होगा. यह कार्यक्रम विनिर्माताओं को सुरक्षा परीक्षण मूल्यांकन कार्यक्रम में स्वेच्छा से भाग लेने और नए कार मॉडलों में उच्च सुरक्षा स्तरों को शामिल करने के लिए प्रोत्साहित करेगा. प्रस्तावित आकलन के अनुसार एक से पांच स्टार तक स्टार रेटिंग दी जाएगी. इस पहल का उद्देश्य राष्ट्र में हादसा के लिहाज से परिवहन को सुरक्षित बनाना है. गडकरी ने हाल ही में बोला था कि गवर्नमेंट का 2024 तक सड़क हादसा में होने वाली मृत्यु को 50 फीसदी तक कम करने का लक्ष्य है.