कोविड के बढ़ते मामलों के बीच BMC का बड़ा फैसला, UAE और दुबई से लौटे यात्रियों का इतने दिन होम क्वारंटीन जरूरी

कोविड के बढ़ते मामलों के बीच BMC का बड़ा फैसला, UAE और दुबई से लौटे यात्रियों का इतने दिन होम क्वारंटीन जरूरी

मुंबई नगर महापालिका ने 24 दिसंबर को जारी अपने नियमों में संशोधन करते हुए संयुक्त अरब अमीरात (UAE) और दुबई से आने वाले सभी यात्रियों का सात दिन का होम क्वारंटीन (Home quarantine) जरूरी कर दिया है।

बुधवार देर रात जारी आदेश में मुंबई नगर महापालिका द्वारा बोला गया है कि इन राष्ट्रों से आने वाले सभी यात्रियों का एयरपोर्ट पर ही कोविड RT-PCR टेस्ट जरूरी होगा। वहीं इन राष्ट्रों से आए मुंबई निवासी सभी यात्रियों को जरूरी 7 दिन के क्वारंटीन में रहना होगा।

कोविड के बढ़ते मामलों के बीद लिया गया फैसला

जिसका मतलब है कि दुबई से आने वाले सभी यात्री जिनका कोविड टेस्ट निगेटिव होगा उन्हें भी 7 दिन के जरूरी होम क्वारंटीन में रहना होगा। बताते चलें कि महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में कोविड-19 के नए मामलों में बड़ी वृद्धि हुई है। बुधवार शाम बीएमसी की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 2510 केस आए हैं और एक नागरिक की मृत्यु हुई है। वहीं मंगलवार को 1377, सोमवार को 809, रविवार को 922, शनिवार को 757, शुक्रवार को 683 और गुरुवार को 602 मामलों की पुष्टि हुई थी।

महाराष्ट्र: दुबई सहित UAE से आने वाले सभी अंतर्राष्ट्रीय यात्री जो मुंबई के निवासी हैं, उन्हें जरूरी रूप से 7 दिन तक होम क्वारंटाइन में रहना होगा. ऐसे यात्रियों के लिए मुंबई आने पर RT-PCR जरूरी होगा: BMC

इससे वहीं बीएमसी द्वारा पूर्व में जारी आदेश के अनुसार मुंबई के अतिरिक्त प्रदेश के अन्य जिलों और पड़ोसी प्रदेशों के नागरिकों को सार्वजनिक परिवहन की इजाजत नहीं होगी। उनके मुंबई आगमन पर वह संबंधित कलेक्टर कलेक्टर की जिम्मेदारी में भेज दिए जाएंगे और फिर वहीं से कलेक्टर ही उनके आगे के के परिवहन की व्यवस्था करेंगे।


दिल्ली: एम्स के निदेशक डाक्टर ने कहा- 'ओमिक्रॉन एक हलका संक्रमण' बताएं बचाव के उपाय

दिल्ली: एम्स के निदेशक डाक्टर ने कहा- 'ओमिक्रॉन एक हलका संक्रमण' बताएं बचाव के उपाय

ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों को देखते हुए एम्स के निदेशक डाक्टर रणदीप गुलेरिया ने जन-सामान्य को अनावश्यक डर और जमाखोरी जैसी गतिविधियों से बचने की सलाह दी है. डाक्टर गुलेरिया ने एक वीडियो संदेश में ओमिक्रॉन को लेकर स्थिति भी स्पष्ट की है.  

वर्तमान आंकड़ों के अनुसार, ओमिक्रॉन एक हलका संक्रमण है. इसमें ऑक्सीजन की जरूरत इतनी अधिक नहीं हो सकती. मैं सभी से ऑक्सीजन सिलेंडर और दवाओं की जमाखोरी से बचने का निवेदन करूंगा. हम एक देश के रूप में इन मामलों में किसी भी उछाल की स्थिति का सामना करने के लिए बेहतर ढंग से तैयार हैं.

एक वीडियो संदेश में डाक्टर गुलेरिया ने बोला कि हम पर्सनल प्रतिरक्षा के दृष्टिकोण से भी तैयार हैं. हममें से बड़ी संख्या में लोगों को या तो टीकाकरण के कारण या प्राकृतिक संक्रमण के कारण प्रतिरक्षा मिली है. घबराएं नहीं, बस सावधान रहें. 

गुलेरिया के अतिरिक्त फोर्टिस, फरीदाबाद के डाक्टर रवि शेखर झा का बोलना है कि पिछले कुछ दिनों से ओमाइक्रोन के मामलों में उछाल आया है. इसकी इंफेक्शन रेट डेल्टा वेरिएंट से अधिक है. अभी तक इसके लक्षण ज्यादातर हल्के ही होते हैं. इसके लिए किसी विशिष्ट एंटीवायरल, स्टेरॉयड की जरूरत नहीं होती.