WHO ने कहा- ब्रिटेन में मिला वायरस का नया स्ट्रेन 50 और साउथ अफ्रीका में मिला वैरिएंट 20 देशों तक पहुंचा

WHO ने कहा- ब्रिटेन में मिला वायरस का नया स्ट्रेन 50 और साउथ अफ्रीका में मिला वैरिएंट 20 देशों तक पहुंचा

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) के मुताबिक, सबसे पहले ब्रिटेन में मिला कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन अब तक 50 देशों में पहुंच चुका है। वहीं, साउथ अफ्रीका में मिले दूसरे वैरिएंट की 20 देशों में पुष्टि हो चुकी है। ऑर्गेनाइजेशन ने जापान में मिले तीसरे वैरिएंट पर भी चिंता जताते हुए कहा है कि यह इम्यून रिस्पॉन्स पर असर डाल सकता है। इसकी और जांच की जरूरत है।

WHO ने कहा कि कोरोना वायरस जितना ज्यादा फैलता है, उसके उतने ही बदलने के चांस होते हैं। बड़े पैमाने पर इसके फैलने का मतलब है कि इसके और वैरिएंट सामने आ सकते हैं। यही वायरस कोरोना का कारण बनता है। ब्रिटेन में पहली बार 14 दिसंबर को नए स्ट्रेन का केस सामने आया था। इसे VOC 202012/01 नाम दिया गया है।

इसके टेस्ट रिजल्ट से पता चला कि यह हर उम्र और लिंग के लोगों पर एक जैसा फैलता है। हालांकि, कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग से सामने आया कि इसके फैलने की दर सामान्य वायरस से ज्यादा है। वहीं, पहली बार 18 दिसंबर को साउथ अफ्रीका में मिला 501Y.V2 वैरिएंट अब 20 देशों में पाया गया है।

'दोनों वैरिएंट को कम करके आंका गया'

WHO की वीकली रिपोर्ट में कहा गया है कि साउथ अफ्रीका में चल रही शुरुआती जांच से यह मुमकिन है कि 501Y.V2 वैरिएंट पहले वाले के मुकाबले ज्यादा फैलने वाला हो। इसके अलावा, यह नया वैरिएंट ज्यादा गंभीर बीमारी का कारण नहीं बनता है। हालांकि नए केस की संख्या तेजी से बढ़ने के कारण हेल्थ सिस्टम पर दबाव बढ़ जाता है। WHO ने कहा कि दोनों वैरिएंट के दुनिया में फैलाव को कम करके आंका गया है।

दुनिया में नौ करोड़ 21 लाख मरीज

दुनिया में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 9.21 करोड़ के ज्यादा हो गया। 6 करोड़ 80 लाख से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं। अब तक 19 लाख 73 हजार से ज्यादा लोग जान गंवा चुके हैं। ये आंकड़े www.worldometers.info/coronavirus के मुताबिक हैं। CNN ने जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के हवाले से बताया है कि अमेरिका में मरने वालों का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है।

श्रीलंका में नए वैरिएंट का पहला केस मिला

कोरोना का नया स्ट्रेन श्रीलंका भी पहुंच गया है। यहां एक ब्रिटिश नागरिक में इसकी पुष्टि हुई है। हेल्थ मिनिस्ट्री के अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि संक्रमित मरीज एक या दो सप्ताह पहले देश में आया था। आगे की जांच चल रही है। श्रीलंका में अब तक कोरोना वायरस के 49 हजार से ज्यादा केस का पता चला है। 244 मरीजों की मौत हो चुकी है।

US जाने वालों को कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी

अमेरिका ने देश में आने वाले लोगों के लिए यह बताना जरूरी कर दिया है कि उन्हें कोरोना नहीं है। 26 जनवरी से यह सिस्टम काम करने लगेगा। अमेरिका में कोरोनो के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। साथ ही उसे नए स्ट्रेन का डर भी सता रहा है।

सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) के मुताबिक, अमेरिका में आने वाले हर शख्स को कोरोना नेगेटिव होने का पेपर या इलेक्ट्रोनिक प्रूफ दिखाना होगा। यह रिपोर्ट तीन दिन से ज्यादा पुरानी नहीं होना चाहिए। यह ऑर्डर CDC के डायरेक्टर रॉबर्ट रेडफील्ड ने मंगलवार को जारी की है।

अमेरिका में एक दिन में चार हजार लोगों की मौत

अमेरिका में बड़े पैमाने पर वैक्सीनेशन के बावजूद कोरोना के केस बढ़ रहे हैं।

अमेरिका में वैक्सीनेशन ड्राइव के बावजूद संक्रमण ही नहीं मौतों का आंकड़ा भी बढ़ रहा है। मंगलवार को यहां करीब चार हजार लोगों की मौत हो गई। यह जानकारी CNN ने जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के हवाले से दी है।

अमेरिका में अब तक कुल मिलाकर 3.89 लाख लोगों की मौत हो चुकी है। मंगलवार को दो लाख 22 हजार के करीब नए मामले भी सामने आए। अमेरिका में अब तक करीब 9 लाख लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

नीदरलैंड्स में लॉकडाउन बढ़ा
नीदरलैंड्स सरकार ने साफ कर दिया है कि देश में फिलहाल जो पाबंदियां लागू हैं, उनमें किसी तरह की ढील नहीं दी जाएगी और लोगों को पांबदियों का सख्ती से पालन करना होगा। हेल्थ मिनिस्ट्री ने हाई अलर्ट जारी रखा है और लॉकडाउन तीन हफ्ते बढ़ा दिया है। सरकार ने एक बयान में कहा- यह बात सभी जानते हैं कि हमारे पास फिलहाल और कोई रास्ता भी नहीं है। संक्रमण कम नहीं हो रहा है। देश में कोरोनावायरस का नया वैरिएंट भी मिल चुका है। इसको लेकर हम ज्यादा फिक्रमंद हैं।

फ्रांस में राहत के संकेत
फ्रांस सरकार के प्रवक्ता गेब्रियलस एटल ने कहा है कि देश में अब और लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा। यूरोप 1 रेडियो स्टेशन को दिए इंटरव्यू में एटल ने कहा- हमने बहुत संयम के साथ दो लॉकडाउन का पालन किया और कराया है। देश के लोगों की वजह से ही हम हालात को काबू में करने में सफल रहे हैं। लिहाजा, अब और लॉकडाउन की जरूरत नहीं है। लेकिन, हालात न बिगड़ें इसलिए हेल्थ डिपार्टमेंट की गाइडलाइन्स का पालन जरूर करना होगा। वरना हालात फिर खराब हो सकते हैं। फ्रांस सरकार ने बड़े पैमाने पर वैक्सीनेशन प्रोग्राम भी शुरू कर दिया है। इस महीने के आखिर तक 20 लाख लोगों को वैक्सीनेट करने का प्लान बनाया गया है।


नमाज पर इकट्ठा भीड़, हमले से कांपा अफगानिस्तान

नमाज पर इकट्ठा भीड़, हमले से कांपा अफगानिस्तान

काबुल। उत्तरी अफगानिस्तान में हमलों का सिलसिला थम ही नहीं रहा है। यहां बीते हफ्ते एक स्थानीय रेडियो स्टेशन पर आक्रोशित भीड़ ने ताबड़तोड़ हमले किए और तोड़-फोड़ की। हमलों के बारे में अंतरराष्ट्रीय पत्रकार समूह ने मंगलवार को बताया कि एक मस्जिद के इमाम ने हमलवारों को यह कहते हुए उकसाया कि स्टेशन पर तेज ध्वनि से बजने वाली संगीत से नमाज में खलल पड़ता है। वहीं पत्रकारों के समूह इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ जर्नलिस्ट्स (आईएफजे) ने कुंदुज प्रांत के कुंदुज शहर में बीते हफ्ते हुई इस घटना की निंदा की।

स्टेशन के उपकरणों को क्षति पहुंचाई
ऐसे में उत्तरी अफगानिस्तान में हुए हमले को लेकर समूह ने हमले का सामना करनेवाले रेडियो स्टेशन जोहरा रेडियो के निदेशक मोहसीन अहमद को वर्णन करते हुए बताया कि भीड़ ने स्टेशन के उपकरणों को क्षति पहुंचाई और कई घंटे तक प्रसारण का काम रोकने को मजबूर कर दिया।

लेकिन इस घटना में कोई घायल नहीं हुआ। फिलहाल ब्रसेल्स से काम-काज करनेवाले समूह ने अपील करते हुए कहा, ‘‘ अफगानिस्तान में पत्रकारों की सुरक्षा का मुद्दा अफगानिस्तान सरकार के लिए बड़ी प्राथमिकता होनी चाहिए।’’

साथ ही अफगानिस्तान इंडिपेंडेंट जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन ने कहा कि इसी भीड़ ने निकट के दो अन्य रेडियो स्टेशनों पर भी हमले की कोशिश की लेकिन मौके पर पहुंची पुलिस ने उनके यहां प्रवेश को रोक दिया।

दो महिला जजों की गोली मारकर हत्या
इससे पहले अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में दो दिन पहले दो महिला जजों की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। ये हत्या किसने और किन वजहों से की है फिलहाल इसके बारे में जानकारी नहीं मिल पाई है।

हमले को लेकर अंदाजा लगाया जा रहा कि आतंकियों ने इस वारदात को अंजाम दिया। फिलहाल इस घटना के बाद से पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। जिस इलाके में ये घटना हुई है। उसके आसपास के लोग बेहद डरे हुए हैं। वहां पर जांच चल रही हैं। मौके पर भारी संख्या में सुरक्षा कर्मियों की तैनाती की गई हैं।

अफगानिस्तान में टारगेट किलिंग का नया चलन शुरू हो गया है। आए दिन बम धमाकों और रॉकेट हमलों से दहल जाने वाले इस देश में आतंकी अब लोगों को चुन-चुन कर मार रहे हैं।


इतिहास में पहली बार, अमेरिका में होगा ऐसा शपथ ग्रहण       नमाज पर इकट्ठा भीड़, हमले से कांपा अफगानिस्तान       सांसद-विधायक निलंबित, पाक चुनाव आयोग ने की कड़ी कार्रवाई, फंस गए इमरान खान       भारतीय रंग में रंगेगा कैपिटल हिल       राष्ट्रपति ट्रंप ने जाते-जाते चीन को दी चेतावनी       US में नई सरकार, आज बाइडेन का शपथ ग्रहण       क्या होगा जो बाइडेन का एजेंडा, ओबामा की राह पर चलेंगे या अलग होगी रणनीति       बाइडेन सरकार में 20 भारतीय, प्रशासन में होंगे असरदार       वर्चुअल मीटिंग करते दिखें अलीबाबा के फाउंडर, लापता जैक मा आए सामने       तबाही की और दुनिया, कोरोना के बाद इनसे होगा सामना       इतिहास रचने को तैयार भारत की बेटी, इस गांव में जश्न       महातबाही से कांपी दुनिया, 18 महीनों का अंधकार युग       बर्फीले तूफान का कहर, एक दूसरे से टकराए 130 वाहन       दुनिया पर होगा असर, राष्ट्रपति बनते ही बाइडन लेंगे ये बड़े फैसले       राष्ट्रपति बनते ही जो बिडेन ने सबसे पहले कहीं ये बात       सेंट्रल मैड्रिड में ब्लास्ट: धमाके में गिरी इमारत, निकाली जा रही लाशें       दुनियाभर में हो रही आलोचना, मेलानिया ट्रंप जाते जाते कर गईं कुछ ऐसा       दिल्ली वाले सावधान! सड़क पर ड्राइविंग से पहले जान लें ये नियम, वरना...       अब रोएगा पाकिस्तान, सेना पर हमला जवान हुए घायल       वैक्सीन पर बड़ी खबर: सरकार ने तो दिलाया भरोसा, लेकिन...