RSS पर बैन के लिए संयुक्त राष्ट्र पहुंचा पाकिस्तान, बताया 'हिंसक राष्ट्रवादी संगठन'

RSS पर बैन के लिए संयुक्त राष्ट्र पहुंचा पाकिस्तान, बताया 'हिंसक राष्ट्रवादी संगठन'

इस्लामाबाद: पाकिस्तान ने एक बार फिर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के मंच का उपयोग भारत के खिलाफ प्रोपगेंडा फैलाने और गलतबयानी करने के लिए किया है। संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान के राजदूत ने दुनिया के सबसे शक्तिशाली मंच से राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ पर प्रतिबंध लगाने की मांग कर डाली। इतना ही नहीं, पाकिस्तान ने बीजेपी और कश्मीर को लेकर भी यूएन में खूब झूठ बोला।

भारत के खिलाफ जमकर उगला जहर
संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान के राजदूत मुनीर अकरम ने मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में दुनियाभर के हिंसक राष्ट्रवादी समूहों को आतंकवादी संगठन घोषित करने की मांग की। उन्होंने अपने भाषण के दौरान बीजेपी और भारत में हिंदू-मुसलमान का राग भी अलापा, लेकिन अपने देश के अल्पसंख्यकों के हालात पर चुप्पी साधे रखी। वैश्विक शांति और सुरक्षा के लिए नए खतरे पैदा करने वाले पाकिस्तान ने दुनिया को आतंकवाद से निपटने के गुर सिखाए।

पाकिस्तानी राजदूत बोले- भारत में मुस्लिमों को धमकाती है बीजेपी
पाकिस्तानी राजदूत ने कहा कि हिंदू राष्ट्रवादी पार्टी बीजेपी हिंदुत्व विचारधारा को मानती है। उनके जहरीले बयान यहीं नहीं रुके। अकरम ने यहां तक कहा कि बीजेपी अपने देश के मुस्लिमों को धमकी भी देती है। खुद के लोगों पर फौज से हमले करवाने वाले पाकिस्तान ने यूएएनएससी को हिंसक राष्ट्रवाद के उदय को रोकने के लिए सुझाव भी दिया।

आतंकवाद के खात्मे पर दिया ज्ञान
पाकिस्तान ने अपने सुझाव में यूएनएससी से मांग करते हुए कहा कि वह सभी देशों से अपने यहां के हिंसक राष्ट्रवादी संगठनों को आतंकवादी संगठन के रूप में नामित करने के लिए कहे। इसमें श्वेत वर्चस्व, अन्य नस्लीय और जातीय रूप से प्रेरित समूहों को भी शामिल किया जाए। इसके अलावा पाकिस्तान ने कहा कि इन समूहों की हिंसक विचारधाराओं, भर्ती और वित्तपोषण पर तत्काल रोक लगाई जाए।

1267 प्रतिबंध समिति के विस्तार की मांग की
पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से कहा कि उसे आरएसएस जैसे राष्ट्रवादी आतंकवादी समूहों को शामिल करने के लिए 1267 प्रतिबंध समिति का विस्तार करना चाहिए। पाकिस्तानी राजदूत ने अपने देश में जारी आतंकवाद को छोड़कर बाकी सभी विषयों पर ज्ञान दिया, जिससे उनका कोई लेना-देना नहीं है।

इमरान की तरह पाकिस्तानी राजदूत भी कश्मीर-कश्मीर चिल्लाए
पाकिस्तानी राजदूत यहीं नहीं रुके। उन्होंने अपने प्रधानमंत्री इमरान खान की तरह यूएनएससी में कश्मीर-कश्मीर चिल्लाते हुए भारतीय सेना पर भी जमकर झूठे आरोप लगाए। कश्मीर में आतंकवाद को पालने पोसने वाले पाकिस्तान ने भारतीय सेना के ऊपर लोगों को आतंकित करने का आरोप लगाया है। पाकिस्तानी राजदूत ने कहा कि भारतीय सेना कश्मीर में युद्ध अपराध और मानवता के खिलाफ अपराध कर रही है।


सोर्स कोड में छिपा रहस्य, टेक्निकल टीम ने बनाई नई वेबसाइट

सोर्स कोड में छिपा रहस्य, टेक्निकल टीम ने बनाई नई वेबसाइट

नई दिल्ली: अमेरिका में नए साल 2021 में जो बाइडेन ने बुधवार को 46वें राष्ट्रपति के तौर पर शपथ ली। नए प्रेसिडेंट के साथ नए डिजाइन में नई वाइट हाउस की वेबसाइट भी आई। इस नई वेबसाइट को डार्क मोड में पेश किया गया है और इसका डिजाइन इंटरेक्टिव है। हालांकि, जिस एक चीज ने सबका ध्यान अपनी ओर खींचा वो है नई वाइट हाउस वेबसाइट के सोर्स कोड में छुपा सीक्रेट मैसेज।

वाइट हाउस की वेबसाइट के HTML सोर्स कोड को चेक करने पर आपको वाइट हाउस की टेक्निकल टीम की ओर से एक मैसेज दिखाई देगा। ‘अगर आप ये पढ़ रहे हैं, तो बेहतर निर्माण के लिए हमें आपकी जरूरत है। ‘साथ ही यहां अप्लाई करने के लिए वेबसाइट का लिंक भी दिया गया है। इसे सबसे पहले प्रोटोकॉल ने स्पॉट किया। ये मैसेज सीधे तौर पर वाइट हाउस की टेक्नोलॉजी टीम- US डिजिटल सर्विस से जुड़ने के लिए कोडर्स के लिए इनविटेशन था।

यूएस डिजिटल सर्विस ओबामा ने की थी शुरुआत
यूएस डिजिटल सर्विस की स्थापना पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अगस्त 2014 में की थी। इस टीम में डिजाइनर, इंजीनियर, प्रोडक्ट मैनेजर, डिजिटल पॉलिसी एक्सपर्ट्स शामिल होते हैं। जो संघीय सरकार को टेक्नोलॉजी से संबंधित मामलों में मदद करते हैं।

व्यक्ति को US का नागरिक होना चाहिए
फॉक्स बिजनेस रिपोर्ट के मुताबिक, जो कोडर्स इस पोजिशन के लिए अप्लाई करना चाहते हैं उन्हें एक कंप्लीट करना होगा और अपना रिज्यूम अटैच करना होगा। इसके बाद US डिजिटल सर्विस टीम के मेंबर्स कैंडिडेट का इंटरव्यू लेंगे।सेलेक्ट होने पर कैंडिडेट को टीम द्वारा जानकारी दे दी जाएगी। USDS का कर्मचारी बनने के लिए, व्यक्ति को US का नागरिक होना चाहिए।


भारत होगा बहुत ताकतवर, बिडेन सहयोगी साबित होंगे       सोर्स कोड में छिपा रहस्य, टेक्निकल टीम ने बनाई नई वेबसाइट       राष्ट्रपति पद छोड़ने से पहले समर्थकों का भला करना नहीं भूले ट्रंप       करोड़पति बना मछुआरा, समुद्र ने बना दिया इसे इतना अमीर       चीन-WHO का काला सच, लाखों मौत की वजह आई सामने       इतिहास में पहली बार, अमेरिका में होगा ऐसा शपथ ग्रहण       नमाज पर इकट्ठा भीड़, हमले से कांपा अफगानिस्तान       सांसद-विधायक निलंबित, पाक चुनाव आयोग ने की कड़ी कार्रवाई, फंस गए इमरान खान       भारतीय रंग में रंगेगा कैपिटल हिल       राष्ट्रपति ट्रंप ने जाते-जाते चीन को दी चेतावनी       US में नई सरकार, आज बाइडेन का शपथ ग्रहण       क्या होगा जो बाइडेन का एजेंडा, ओबामा की राह पर चलेंगे या अलग होगी रणनीति       बाइडेन सरकार में 20 भारतीय, प्रशासन में होंगे असरदार       वर्चुअल मीटिंग करते दिखें अलीबाबा के फाउंडर, लापता जैक मा आए सामने       तबाही की और दुनिया, कोरोना के बाद इनसे होगा सामना       इतिहास रचने को तैयार भारत की बेटी, इस गांव में जश्न       महातबाही से कांपी दुनिया, 18 महीनों का अंधकार युग       बर्फीले तूफान का कहर, एक दूसरे से टकराए 130 वाहन       दुनिया पर होगा असर, राष्ट्रपति बनते ही बाइडन लेंगे ये बड़े फैसले       राष्ट्रपति बनते ही जो बिडेन ने सबसे पहले कहीं ये बात