राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे ने श्रीलंका की संसद के नए सत्र का भी शुभारंभ कर दिया

राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे ने श्रीलंका की संसद के नए सत्र का भी शुभारंभ कर दिया

कोलंबो: श्रीलंका में जारी राजनीतिक और आर्थिक संकट के बीच रानिल विक्रमसिंघे ने बीते दिनों नए राष्ट्रपति के रूप में शपथ ग्रहण की थी. बुधवार को राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे ने श्रीलंका की संसद के नए सत्र का भी शुरुआत कर दिया है. इसके बाद अब संसद का पहला सत्र आयोजित होगा. इसी बीच राष्ट्रपति विक्रमसिंघे ने हिंदुस्तान को भी लेकर बयान दिया है. उन्होंने बोला कि, ‘मैं श्रीलंका में आर्थिक संकट से निपटने के लिए हिंदुस्तान की तरफ से की गई सहायता के लिए विशेष रूप से उसका धन्यवाद देता हूं.

इस दौरान विक्रमसिंघे ने पीएम नरेंद्र मोदी की भी प्रशंसा की. राष्ट्रपति ने बोला कि, ‘पीएम मोदी के नेतृत्व में काम कर रही हिंदुस्तान गवर्नमेंट ने हमें नयी जीवन प्रदान की है. मैं श्रीलंका के लोगों और अपनी तरफ से पीएम मोदी, हिंदुस्तान गवर्नमेंट और हिंदुस्तान की जनता को धन्यवाद देता हूं.’ बता दें कि, इससे पहले श्रीलंका के राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे ने पूर्व राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे को लेकर भी बयान दिया था. विक्रमसिंघे ने बोला था कि उनके पूर्ववर्ती गोटबाया राजपक्षे के श्रीलंका लौटने का यह ठीक वक़्त नहीं है, क्योंकि यहां उनकी मौजूदगी से राष्ट्र में राजनीतिक तनाव भड़क सकता है.

बता दें को इतिहास के सबसे खराब आर्थिक संकट का सामना कर रहे श्रीलंका में हिंसक विरोध प्रदर्शनों के कारण राजपक्षे राष्ट्र छोड़कर फरार हो गए थे और फिर उन्होंने राष्ट्रपति पद से भी इस्तीफा दे दिया था. उनके इस्तीफे के बाद संसद ने 20 जुलाई को विक्रमसिंघे को राष्ट्रपति चुना था. छह बार श्रीलंका के पीएम रहे विक्रमसिंघे को राजपक्षे के राष्ट्र छोड़कर भाग जाने के बाद कार्यवाहक राष्ट्रपति भी नियुक्त किया गया था.