चीन पर जोरदार हमला: सगे पाकिस्तान पर ही टूट पड़ा ये देश

चीन पर जोरदार हमला: सगे पाकिस्तान पर ही टूट पड़ा ये देश

इस्‍लामाबाद। राजधानी कराची में बीते दिनों चीन के नागरिकों पर हमला हुआ था। जबकि अभी तक ग्वादर में सीपीईसी(CPEC) के तहत बन रहे चीन के नेवल बेस और डीप सी पोर्ट का विरोध करने वाले बलूच विद्रोही शहरों में भी चीन के नागरिकों को अपना निशाना बनाने में लगे हुए हैं। और तो और अभी बीते दिनों ही बलूचिस्‍तान में बलूच विद्रोहियों ने पाकिस्‍तान के 7 सैनिकों को मौत के घाट उतार दिया है। बलूच पूरा तरह से चीन और पाकिस्तान का विरोध करने में लगा हुआ है।

चीनी नागरिकों को निशाना बनाना शुरू कर दिया
ऐसे में लगातार बलूच में रहने वाले स्थानीय लोगों के बढ़ते हमले से तनाव में आई पाकिस्‍तान की सेना और प्रधानमंत्री इमरान खान अब ग्‍वादर को कटीले तार की दीवार से सील करने में लग गए हैं।

इस बारे में सूत्रों से सामने आई रिपोर्ट के अनुसार, बलूच विद्रोहियों ने अपनी रणनीति बदलते हुए अब देश के शहरी इलाकों में बेल्‍ट एंड रोड परियोजना, चीन के निवेश और चीनी नागरिकों को निशाना बनाना शुरू कर दिया है।

पिछले मंगलवार को पाकिस्तान की राजधानी कराची के बाहरी इलाके में एक कार शोरूम के अंदर एक चीनी नागरिक और उसके सहयोगी पर बंदूकों से जानलेवा हमला हुआ था। हालाकिं इस हमले में चीनी नागरिक बाल-बाल बच गए।

रेस्‍त्रां के बाहर विस्‍फोट
वहीं एक हफ्ते पहले एक अन्‍य चीनी नागरिक की कार को कराची के पॉश क्लिफ्टन इलाके में रेस्‍त्रां के बाहर विस्‍फोट करके उड़ा दिया गया था। बताया जा रहा कि इन दोनों ही हमलों की सिंधुदेश रिवोल्‍यूशनरी आर्मी ने जिम्‍मेदारी ली थी।

ऐेसे में सिंधुदेश रिवोल्‍यूशनरी आर्मी ने एक बयान जारी करके कहा, ‘चीन और पाकिस्‍तान जबरन चीन-पाकिस्‍तान आर्थिक कॉरिडोर के तहत जमीनों पर कब्‍जा कर रहे हैं। हम उन्‍हें निशाना बनाने के लिए हमले करते रहेंगे।

चीन सीपीईसी के तहत पाकिस्‍तान में 150 अरब डॉलर का निवेश कर रहा है। सीपीईसी चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग के ड्रीम प्रॉजेक्‍ट बेल्‍ट एंड रोड का सबसे महत्‍वपूर्ण हिस्‍सा है। इसके जरिए चीन की सीधी पहुंच अरब सागर तक हो जाएगी। लेकिन चीन और पाकिस्‍तान की इस नापाक योजना का बलूच लोग विरोध करने में लगे हुए हैं।


कमला हैरिस ने कोविड-19 से जंग में हिंदुस्तान को सहायता देने का लिया संकल्प; कहा...

कमला हैरिस ने कोविड-19 से जंग में हिंदुस्तान को सहायता देने का लिया संकल्प; कहा...

वाशिंगटन: अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने बोला है कि बाइडन प्रशासन Covid-19 के तेजी से बढ़ते मामलों और इसकी वजह से बड़ी संख्या में हो रही मौतों के कारण आवश्यकता की इस घड़ी में हिंदुस्तान की सहायता करने के लिए कृत संकल्पित है क्योंकि हिंदुस्तान का कल्याण अमेरिका के लिए अहम है

भारत में Covid-19 के तेजी से बढ़ते मामलों और इसकी वजह से बड़ी संख्या में हो रही मौतों को ‘हृदयविदारक’ करार देते हुए उन्होंने बोला कि पूरा बाइडन प्रशासन महामारी के विरूद्ध हिंदुस्तान की इस लड़ाई में उसकी सहायता करने को प्रेरित है हैरिस ने कहा, 'महामारी की आरंभ में, जब हमारे हॉस्पिटल के बेड कम पड़ने लगे तब हिंदुस्तान ने सहायता भेजी थी आज, हम हिंदुस्तान को उसकी आवश्यकता के समय में सहायता करने के लिए कटिबद्ध हैं ' वह शुक्रवार को हिंदुस्तान के लिए अमेरिकी कोविड राहत विषय पर विदेश विभाग के प्रवासी सम्पर्क प्रोग्राम में बोल रही थीं

उन्होंने कहा, 'भारत के मित्र, एशियाई क्वाड के सदस्यों के रूप में एवं वैश्विक समुदाय के हिस्से के रूप में हम यह सहायता कर रहे हैं मेरा मानना है कि यदि हम --विभिन्न राष्ट्रों एवं क्षेत्रों के बीच मिलकर कार्य करते रहेंगे तो हम इस स्थिति से बाहर आ जायेंगे '

बाइडन -हैरिस प्रशसन ने Covid-19 महामारी से निपटने के लिए हिंदुस्तान के लिए 10 करोड़ US डॉलर की सहायता की घोषणा की है पिछले एक हफ्ते में Covid-19 सहायता सामग्री से लदे छह विमान अमेरिका से हिंदुस्तान पहुंचे हैं व्हाइट हाउस और विदेश विभाग कॉरेपोरेट जगत के साथ समन्वय बनाकर चल रहे हैं और इस क्षेत्र ने हिंदुस्तान को जो राहत पहुंचायी है, वह किसी भी देश के लिए अप्रत्याशित है

भारतीय अमेरिकी लाखों US डॉलर जुटा रहे हैं और वे जीवनरक्षक चिकित्सा उपकरण एवं दवाइयां हिंदुस्तान भेज रहे हैं सेवा इंटरनेशनल यूएसए ने एक करोड़ US डॉलर से अधिक की राशि जुटायी है, अमेरिकन एसोसिएशन ऑफ फिजिशियन ऑफ भारतीय ऑरिजिन ने 35 लाख US डॉलर का बंदोवस्त किया है और इंडिया स्पोरा ने 20 लाख US डॉलर की व्यवस्था की है उपराष्ट्रपति ने कहा, वर्षों से इंडिया स्पोरा और अमेरिकन इंडिया फाउंडेशन जैसे प्रवासी संगठनों ने अमेरिका और हिंदुस्तान के बीच सेतु बनाया है पिछले वर्ष आपने Covid-19 राहत प्रयासों में बड़ा सहयोग दिया आपके काम के लिए आपको धन्यवाद ' उन्होंने कहा, 'आपमें से कई जानते हैं कि मेरे परिवार की पीढ़ियां हिंदुस्तान से आयीं मेरी मां हिंदुस्तान में पैदा हुईं और पली-बढ़ीं मेरे परिवार के ऐसे मेम्बर हैं जो आज भी हिंदुस्तान में रहते हैं हिंदुस्तान का कल्याण अमेरिका के लिए अहम है '

हैरिस ने कहा, ' हिंदुस्तान में Covid-19 संक्रमण एवं मौतों में वृद्धि हृदयविदारक है जिन्होंने अपनों को खोया है, उनके प्रति मैं अपनी गहरी संवेदना जाहीर करती हूं जैसे ही प्रकृति का यह स्वरूप सामने आया, हमारा प्रशासन हरकत में आ गया ' उनका संकेत संकट की इस घड़ी में बाइडन-हैरिस प्रशासन द्वारा हिंदुस्तान की सहायता के लिए उठाए गए कदमों की ओर था


अगर कान में बजती है घंटियां तो सकती है के भयानक बीमारी       चर्म रोग और माइग्रेन समस्या में फायदेमंद है मेहंदी का इस्तेमाल       प्रेग्नेंसी के बाद महिलाओं के लिए कितना जरुरी है घी का सेवन       गर्भावस्था के दौरान फायदेमंद होता है जीरे के पानी का सेवन       मोटे कूल्हों से है परेशान तो करें ये आसान उपाय       ब्लड प्रेशर की समस्या के लिए कुछ खास उपाय       अगर दिखाई दें ये लक्षण तो हो सकता है टीबी       स्वाद से खाया जाने वाला पापड़ भी हो सकता है मौत का कारण       हार्ट के लिए फायदेमंद होती है अदरक और हल्दी की चाय       अच्छा तो इस वजह से प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए वरदान है तुलसी       मच्छरों से होने वाले मलेरिया से बचना है तो अपनाएं ये घरेलू उपाय       औरतों को जरूर पीना चाहिए पपीते का जूस       गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद होता है चीकू, जानें       बच्चों को एलर्जी और एक्ज़िमा की समस्या से बचाती है मूंगफली       पाइल्स की समस्या से छुटकारा दिलाते है अशोक के बीज       सुबह उठते ही लगातार आती है छींक तो करें ये उपाय       शारीरिक बिमारियों में फायदेमंद है नीम का तेल       मानसिक तनाव को दूर करता है केले का फूल       मूली के जूस पीने के भी है कई फायदे       जलने पर करें ये उपाय, तुरन्त मिलेगा ये फायदा