भारत के इशारे पर नाच रहे पीएम ओली, उसी की शह पर संसद किया भंग: पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’

भारत के इशारे पर नाच रहे पीएम ओली, उसी की शह पर संसद किया भंग: पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’
काठमांडू: नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (एनसीपी) के एक धड़े के अध्यक्ष पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’ ने बुधवार को प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली पर भारत के इशारे पर सत्तारूढ़ दल को विभाजित और संसद को भंग करने का आरोप लगाया। यहां नेपाल एकेडमी हॉल में अपने धड़े के नेताओं एवं कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रचंड ने कहा कि प्रधानमंत्री ने निकट अतीत में आरोप लगाया था कि एनसीपी के कुछ नेता भारत की शह पर उनकी सरकार को गिराने की साचिश रच रहे थे। प्रचंड ने कहा कि उनके धड़े ने बस इसलिए ओली को इस्तीफ देने के लिए बाध्य नहीं किया क्योंकि इससे एक संदेश जाता कि ओली का बयान सच है। पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा, ‘(लेकिन) अब क्या ओली ने भारत के निर्देश पर पार्टी को विभाजित कर दिया और प्रतिनिधि सभा को भंग कर दिया?' उन्होंने कहा कि सच नेपाल की जनता के सामने आ गया।

प्रचंड ने आरोप लगाया, ‘ओली ने भारत की खुफिया शाखा रॉ के प्रमुख सामंत गोयल के बालुवतार में अपने निवास पर किसी भी तीसरे व्यक्ति की गैरमौजूदगी में तीन घंटे तक बैठक की जो स्पष्ट रूप से ओली की मंशा दर्शाता है।' उन्होंने प्रधानमंत्री पर बाहरी ताकतों की गलत सलाह लेने का आरोप लगाया। प्रचंड ने कहा कि प्रतिनिधि सभा को भंग करके ओली ने संविधान एवं लोकतांत्रिक व्यवस्था को एक झटका दिया जिसे लोगों के सात दशक के संघर्ष के बाद स्थापित किया गया था।

नेपाल 20 दिसंबर को तब राजनीतिक संकट में फंस गया जब चीन समर्थक समझे जाने वाले ओली ने प्रचंड के साथ सत्ता संघर्ष के बीच अचानक प्रतिनिधि सभा भंग करने की सिफारिश कर दी। राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी ने उनकी अनुशंसा पर उसी दिन प्रतिनिधि सभा को भंग कर 30 अप्रैल और 10 मई को नए चुनावों की तारीख का ऐलान भी कर दिया।

कोरोना वैक्सीन लेने के बाद 106 साल की महिला को आई स्पैनिश फ्लू की याद

कोरोना वैक्सीन लेने के बाद 106 साल की महिला को आई स्पैनिश फ्लू की याद

ब्राजील की रहने वाली 106 साल की जेलिया डि कार्वाल्हो मोर्ले (Zélia de Carvalho Morley) ने हाल ही में कोरोना वायरस की वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) लगवाई है. वो उन हजारों ब्राजीलियाई लोगों में से एक हैं, जिन्हें बुधवार को वैक्सीन लगाई गई. हालांकि जेलिया जैसे बहुत ही कम लोग इस दुनिया में हैं, जो दूसरी बार किसी महामारी के गवाह बने हैं. वह इससे पहले भी कोरोना वायरस जैसी एक अन्य महामारी का सामना कर चुकी हैं, जिसने उनके देश सहित पूरी दुनिया को करीब एक सदी पहले अपनी चपेट में ले लिया था|

जेलिया का जन्म साल 1914 में रियो डि जेनेरो में हुआ था. ये बात साल 1918-1920 की है, जब स्पैनिश फ्लू ने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया था. उस समय इस बीमारी से बचने के लिए कोई वैक्सीन भी नहीं थी. जेलिया कहती हैं, ‘पूरा ब्राजील उसकी चपेट में आ गया था. बहुत सारे लोगों की मौत हो गई थी. मैं उसे भूल नहीं सकती.’ अपनी प्यारी सी मुस्कान के साथ जेलिया ने एसोसिएट प्रेस से कहा, ‘मुझे लगता है कि वैक्सीन काफी बेहतर होने वाली है. ये सब भगवान के हाथों में है|’

बुजुर्गों को लगाई जा रही वैक्सीन
ब्राजील सहित दुनिया के कई देशों में सबसे पहले वैक्सीन 100 साल के आसापस की उम्र वाले बुजुर्गों को लगाई गई है. ब्राजील में मंगलवार को ही टीकाकरण अभियान की शुरुआत हुई है. यहां चीनी कंपनी सिनोवेक की विकसति की गई वैक्सीन लोगों को लगाई गई है. इस देश में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण 210,000 से अधिक लोगों की मौत हो गई है. ये देश संक्रमण से दुनिया का तीसरा सबसे अधिक प्रभावित देश है. जेलिया के डॉक्टर पॉलो सेसर कून्हा फैबियानो का कहना है कि जेलिया ने उन्हें बताया है कि करीब 100 साल पहले उनके माता-पिता भी फ्लू से पीड़ित हो गए थे|

स्पैनिश फ्लू के समय नहीं थी कोई दवा
डॉक्टर बताते हैं, ‘जब वो (जेलिया) 6 से 7 साल की थीं, तो उनके पिता ने उन्हें बताया था कि लोग सड़कों पर मर रहे हैं. उस समय ना तो कोई एंटीबायोटिक्स थीं और ना ही कोई दवा. लोग मक्खियों की तरह मर रहे थे.’ जहां जेलिया रहती हैं, वहां भी कई लोग कोविड-19 की चपेट में आ चुके हैं. हालांकि बुजुर्गों को लेकर अब भी डॉक्टरों की चिंता बढ़ी हुई है. जेलिया के डॉक्टर कहते हैं, ‘अब हमें कुछ शांति मिलने वाली है. अब हम डॉक्टरों को इस बात की चिंता नहीं रहेगी कि बुजुर्ग वायरस से संक्रमित हो जाएंगे.’ उन्होंने ये भी बताया कि वायरस के कारण वह हाल के महीनों में अपने बहुत से दोस्तों और सहकर्मियों को खो चुके हैं|


पाकिस्तानी एंकर को इन मामलों में भारत की तारीफ करना पड़ा भारी       कोरोना वैक्सीन लेने के बाद 106 साल की महिला को आई स्पैनिश फ्लू की याद       अमेरिका का वो इकलौता राष्ट्रपति जिसने दिया परमाणु हमले का आदेश       पाक में बेगुनाहों की जान की कीमत नहीं: बलूचिस्तान के गांव पर ‘दाग’ दी मिसाइलें       पहले सीरिया में मचाया आतंक, अब पैसों के बदले दूसरे देशों में मचा रहे तबाही       बिडेन की चेतावनी, राष्ट्रपति बनते ही चीन-पाक पर दिखें सख्त       बन रही नई वैक्सीन, कोरोना के नए स्ट्रेन पर होगी असरदार       राष्ट्रपति बाइडेन के दो दुश्मन, शपथ के बाद किया एलान       राष्ट्रपति बिडेन का पहला भाषण, लिखा इस भारतीय ने, जानें       भारत होगा बहुत ताकतवर, बिडेन सहयोगी साबित होंगे       सोर्स कोड में छिपा रहस्य, टेक्निकल टीम ने बनाई नई वेबसाइट       राष्ट्रपति पद छोड़ने से पहले समर्थकों का भला करना नहीं भूले ट्रंप       करोड़पति बना मछुआरा, समुद्र ने बना दिया इसे इतना अमीर       चीन-WHO का काला सच, लाखों मौत की वजह आई सामने       इतिहास में पहली बार, अमेरिका में होगा ऐसा शपथ ग्रहण       नमाज पर इकट्ठा भीड़, हमले से कांपा अफगानिस्तान       सांसद-विधायक निलंबित, पाक चुनाव आयोग ने की कड़ी कार्रवाई, फंस गए इमरान खान       भारतीय रंग में रंगेगा कैपिटल हिल       राष्ट्रपति ट्रंप ने जाते-जाते चीन को दी चेतावनी       US में नई सरकार, आज बाइडेन का शपथ ग्रहण