परमाणु बटन का खेल: किसके हाथ में ये कमान, जो ले सकता है एक्शन

परमाणु बटन का खेल: किसके हाथ में ये कमान, जो ले सकता है एक्शन

नई दिल्ली: अमेरिका में राष्ट्रपति के चुनाव की प्रक्रिया कल 20 जनवरी इनॉगरेशन डे पर संपन्न हो गई। इस बेहद खास अवसर पर ये प्रथा होती है कि पूर्व राष्ट्रपति नए राष्ट्रपति को न्यूक्लियर फुटबॉल सौपंता है। बता दें, न्‍यूक्लियर फुटबॉल को एक तरह से अमेरिका की परमाणु शक्‍त‍ियों का प्रतीक माना जाता है। तो अब आपको बताते हैं कि क्‍या अमेरिकी राष्‍ट्रपति के पास ये शक्‍त‍ि होती है कि वो कभी भी न्‍यूक्‍ल‍ियर बटन दबा सकता है तो इसके क्या नियम होते हैं।

‘न्यूक्लियर फुटबॉल’
दरअसल महाशक्तिशाली अमेरिका पूरी द‍ुनिया में अपनी परमाणु शक्‍तियों के लिए मशहूर है। जिसकी वजह से अमेरिका में न्यूक्लियर बटन को ‘न्यूक्लियर फुटबॉल’ कहा जाता है।

ऐसे में एक ब्रीफकेस में सिंबोलिक तौर पर जब भी अमेरिका का राष्ट्रपति कहीं जाता है या व्हाइट हाउस में होता है तो उसके साथ ये फुटबॉल भी होता है। ये भी बताते हैं कि उस काले रंग के ब्रीफकेस में एक सिस्टम होता है, जिसमें लांच कोड डालना होता है।

पर अब तकनीकी तौर पर ऐसा कोई बटन नहीं है। लेकिन अमेरिका में कुछ पहले से निर्धारित नियमों व प्रक्रियाओं के पालन और हाइटेक इक्विपमेंट्स के जरिए राष्‍ट्रपति सेना को न्यूक्लियर हमले का निर्देश दे सकता है।

अधिकार अमेरिकी कांग्रेस के पास
जिसके चलते इन इक्विपमेंट्स के इस्तेमाल का उद्देश्य यही है कि अमेरिकी सेना इस बात की पुष्टि कर सके कि आदेश देने वाले खुद उनके कमांडर इन चीफ यानी राष्‍ट्रपति हैं।

हालाकिं अमेरिका में क‍िसी भी युद्ध की घोषणा करने का अधिकार अमेरिकी कांग्रेस के पास होता है। और ये अध‍िकार पूरी तरह राष्ट्रपति के पास नहीं होता है। लेकिन इत‍िहास में कुछ राष्ट्रपतियों ने आधिकारिक तौर पर जंग का ऐलान न करते हुए सैन्य टुकड़ियों को मोर्चे पर भेजा है।

अब तक अमेरिकी कांग्रेस ने केवल पांच बार जंग का ऐलान किया है। वहीं राष्ट्रपतियों ने बिना जंग की घोषणा किए 120 बार से ज्यादा सेना को जंग में भेजा है।


राफेल के मालिक, डसॉल्ट की हेलीकॉप्टर क्रैश में मौत

राफेल के मालिक, डसॉल्ट की हेलीकॉप्टर क्रैश में मौत

नई दिल्ली: फ्रांस के अरबपति बिजनेसमैन और राजनेता ओलिवियर डसॉल्ट का हेलीकॉप्टर दुर्घटना में निधन हो गया है। डसॉल्ट की मौत पर फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने ट्वीटर पर शोक जताया है। डसॉल्ट फ्रांस की संसद के सदस्य भी थे। इनकी कंपनी राफेल फाइटर प्लेन भी बनाती है।

डसॉल्ट का जन्म एक जून, 1951 को हुआ था और वह डसॉल्ट समूह के संस्थापक परिवार से थे। ओलिवियर डसॉल्ट फ्रांसीसी अरबपति उद्योगपति सर्ज डसॉल्ट के सबसे बड़े बेटे थे, जिनका समूह राफेल युद्धक विमानों का निर्माण करता है और साथ ही इस ग्रुप का ले फिगारो नाम का एक अखबार भी है।

राष्ट्रपति ने जताया शोक
फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने ट्वीट करते हुए कहा कि ओलिवियर डसॉल्ट फ्रांस से प्यार करते थे। उन्होंने उद्योग, कानून निर्माता, स्थानीय निर्वाचित अधिकारी, वायु सेना में कमांडर के रूप में देश की सेवा की। उनका आकस्मिक निधन एक बहुत बड़ी क्षति है।


दुनिया का 361वां सबसे अमीर शख्स
राजनीतिक कारणों और हितों के टकराव से बचने के लिए उन्होंने डसॉल्ट बोर्ड से अपना नाम वापस ले लिया था। साल 2020 फोर्ब्स की सबसे अमीर लोगों की लिस्ट में दसॉ को अपने दो भाइयों और बहन के साथ 361वां स्थान मिला था। खबरों के मुताबिक रविवार को डसॉल्ट छुट्टियां मनाने गए थे। रविवार दोपहर निजी हेलीकॉप्टर नॉर्मंडी में दुर्घटनाग्रस्त हो गया।

ओलिवियर डसॉल्ट फ्रांस की नेशनल एसेंबली के लिए साल 2002 में चुने गए थे और फ्रांस के ओइस एरिया का प्रतिनिध‍ित्व करते थे। रिपब्लिकन पार्टी के सांसद डसॉल्ट की संपत्त‍ि करीब 7.3 अरब अमेरिकी डॉलर है। जानकारी के मुताबिक ओलिवियर डसॉल्ट के अलावा इस दुर्घटना में उनका पायलटर भी मारा गया है।


सोने के दाम में भारी गिरावट, फटाफट चेक करें नया रेट       7th pay commission: कर्मचारियों के लिए खुशखबरी       इन राशियों के लिए खुल रहे हैं सफलता के द्वार, जानें       महाशिवरात्रि स्पेशल, भगवान शिव एक पत्नी और दो पुत्रों के पिता नहीं, जानें       विष्णु का प्रिय शंख, भोलेबाबा की पूजा में वर्जित, आखिर क्यों       Beautiful to Bold! वुमेन्स डे पर अपने जीवन की खास स्त्रियों को भेजें ये मैसेज       Lovely Ladies! बढ़ती आयु में इन 8 बातों की टेंशन छोड़कर खुलकर जिएं       दुनिया में इस स्मार्टफोन को सबसे ज्यादा लोग करते हैं पसंद       सोशल मीडिया पर छेड़छाड़, बचाव के लिए करें ये काम       Flipkart सेल: इन स्मार्टफोन्स पर मिल रहा बड़ा डिस्काउंट       भुलकर भी एक साथ न खाएं ये चीजें, हो सकता है ये बड़ा नुकसान       तेजी से कम होगी पेट की चर्बी, सोने से पहले करें इस चीज का सेवन       इस तरह शरीर में बहने लगेगी पॉजिटिविटी, कई रोंगों का रामबाण उपचार है भ्रामरी प्राणायाम       ज्‍यादा खाने पर नुकसान भी पहुंचा सकते हैं ड्राई फ्रूट्स       खाना खाते वक्‍त क्‍या आप भी पीते हैं पानी?       बिना GYM जाए तेजी से कम होगा वजन, रोज 15 मिनट घर बैठे करें यह काम       Women’s Day: महिला डॉक्टर ने प्रग्नेंसी के दौरान किया ऐसा काम       खाने में ज्यादा नमक है जहर की तरह       मिलावटी चीजों से रहें सतर्क, ऐसे करें पहचान, खान-पान होगा शुद्ध       दुनिया का सबसे धनी बोर्ड बीसीसीआई महिला इवेंट को लेकर सबसे पीछे!