बच्चे को होने लगें ज्यादा दस्त तो अपनाये ये सटीक तरीका

बच्चे को होने लगें ज्यादा दस्त तो अपनाये ये सटीक तरीका

बच्चे को बार-बार लूज मोशन हो रहे हैं तो यह डायरिया भी होने कि सम्भावना है. अगर दिन में तीन या उससे ज्यादा बार दस्त होते हैं तो चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए.

लक्षण : डायरिया आमतौर पर 2-5 दिन में अच्छा हो जाता है जो कि अधिकांश वायरल इन्फेक्शन से होता है. कई बार यह दो हफ्ते में भी अच्छा नहीं हो पाता है जिससे बच्चा निर्बल हो जाता है व उसके शरीर में पानी की कमी होने लगती है. समय पर उपचार न होने से स्थिति गंभीर हो सकती है.

प्रमुख कारण-
खानपान की लापरवाही और वायरल इन्फेक्शन इसके प्रमुख कारण हो सकते हैं.

बचाव : डायरिया होने पर शरीर से पानी, अन्य तरल व मिनरल्स बाहर निकलते हैं. इनकी कमी को पूरा करने के लिए ओआरएस का घोल पिलाया जाता है. ओआरएस घोल साफ पानी में ही बनाएं. सारे पैकेट को एकसाथ 1 लीटर पानी में मिलाएं. घोल का प्रयोग 24 घंटे के अंदर ही करना होता है, अगले दिन नया घोल बनाएं.

भोजन बंद न करें-
अगर घर में ओआरएस नहीं है तो हर दस्त के बाद 100-200 एमएल पानी (पहले उबालकर ठंडा कर लें) में एक चुटकी नमक व आधा चम्मच चीनी मिलाकर बच्चे को पिलाएं. डायरिया होने पर भोजन बिल्कुल बंद न करें. केला, चावल खिचड़ी आदि खाने को दें. तेल, मिर्च वाला मसालेदार खाना न दें. पतला जूस जैसे मौसमी, संतरा, पाइनेप्पल और गन्ना आदि भी न पिलाएं.