कोविड-19 से बचने के लिए सिर्फ मास्क ही काफी नहीं, ये सावधानियां भी होंगी बरतनी

कोविड-19 से बचने के लिए सिर्फ मास्क ही काफी नहीं, ये सावधानियां भी होंगी बरतनी

देश के कई हिस्सों में कोविड-19 संक्रमण तेज़ी से अपने पैर पसार रहा है। ऐसे में मास्क पहनने और दूसरों से शारीरिक दूरी (6 फीट) बनाने के साथ सावधानी बरतना पहले से भी ज़्यादा महत्वपूर्ण हो गया है। ये समझना बेहद ज़रूरी है कि कोविड-19 वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है, इसलिए किसी बीमार व्यक्ति के संपर्क में आने से आपका भी बीमार पड़ने का ख़तरा बढ़ जाता है। यही वजह है कि डॉक्टर भी सलाह दे रहे हैं कि ऐसे समय में घर पर सोशल गैदरिंग करना ख़तरे से कम नहीं होगा।

भारत में कोविड के मामले बढ़ने का कारण गुरुग्राम के फोर्टिस मेमोरियल रिसर्च इंस्टीट्यूट, के निदेशक और प्रमुख, हेमटोलॉजी और अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण, राहुल भार्गव का कहना है कि "भारत में कोविड-19 के मामले इसीलिए बढ़ रहे हैं क्योंकि लोग हाथ धोना, मास्क पहनना और शारीरिक दूरी बनाए रखने जैसे सावधानी के आम बुनियादी सुरक्षात्मक और निवारक उपाय नहीं कर रहे हैं। शारीरिक दूरी बनाए रखने की तत्काल आवश्यकता है - कम से कम छह फीट। लोगों को यह समझने की ज़रूरत है कि यह वायरस हवा में बूंदों के माध्यम से फैल रहा है। हम कोविड-19 के खिलाफ अपनी लड़ाई में एक महत्वपूर्ण मोड़ पर हैं, जहां बहुत सावधान और सतर्क रहने की ज़रूरत है। 


सिर्फ मास्क पहनना ही काफी नहीं

गुरुग्राम के नारायणा अस्पताल के कंसलटेंट और आपातकालीन विभाग और चिकित्सा सेवाओं के प्रमुख, स्वदेश कुमार ने कहा, "किसी भी समय अपनी आंखों, नाक और मुंह को छूने से बचें। अगर आपने मास्क पहना है, लेकिन शारीरिक दूरी नहीं बना रहे हैं या फिर मास्क नाक के नीचे है, तो भी आपको कोविड-19 से संक्रमित होने का ख़तरा बड़ा है। मास्क को सही तरीके से पहनें। साथ ही मास्क को साबुन या डिटरजेंट से धोते रहें और पहनते वक्त उसे बार-बार छूने से बचें। ये छोटी-छोटी सावधानियां आपकी ज़िंदगी बचा सकती हैं।"


कोविड वायरस से संक्रमण का ख़तरा कैसे करें कम

अमेरिका के रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) के अनुसार, जब कोविड-19 संदिग्ध या पुष्टि वाला व्यक्ति घर के भीतर रहा है, तो वायरस हवा में मिनटों से लेकर घंटों तक निलंबित रह सकता है। कई कारक उस समय को प्रभावित कर सकते हैं जब वायरस निलंबित रहता है और संक्रामक होता है। इनमें श्वसन की बूंदें या छोटे कणों में, हवा, सतहों, वेंटिलेशन, तापमान और आर्द्रता में वायरल लोड शामिल हैं।


सीडीसी के मुताबिक, लगातार मास्क पहनने और सही तरीके से पहनने से घर के अंदर और सतहों पर मौजूद वायरस के ख़तरे को कम कर सकता है। हेल्थ एजेंसी ने ये बात भी कही कि एपिडेमियोलॉजिक और एक्सपेरीमेंटल डाटा पर आधारित शोध के अनुसार, इस संक्रमण का ख़तरा और बढ़ जाता है अगर आप ऐसी जगह प्रवेश करें जहां कोविड-19 से संक्रमित व्यक्ति भी गया है। यह ख़तरा 24 घंटों बाद ही कम हो सकता है। इस ख़तरे को कम करने के लिए उस जगह के वेंटीलेशन को बढ़ाना होगा और वहां प्रवेश करने से पहले जितना हो सके उतनी देर इंतज़ार करना होगा। साथ ही मास्क, फेस शील्ड या गॉगल्स जैसी चीज़ों का भी इस्तेमाल करें।


सिर दर्द के इलाज के लिये बादाम तेल में मिलाकर सूंघें केसर

सिर दर्द के इलाज के लिये बादाम तेल में मिलाकर सूंघें केसर

आजकल सिर दर्द बहुत ही आम समस्या हो गयी है, जो कभी भी किसी के भी साथ हो सकती है। इस दर्द से छुटकारा पाने के लिए लोग हैवी पेनकिलर्स का इस्तेमाल करते है जो आपकी सेहत को आगे जाकर बहुत नुकसान पहुंचा सकती है लेकिव हम आपको कुछ ऐसे तरीके बताने जा रहे है जिनके इस्तेमाल से आपको सिर दर्द में तुरंत राहत मिल जाएगी।

सिर दर्द के आसान इलाज:

अगर आपके सिर में तेज दर्द हो रहा है तो एक गिलास गर्म दूध में थोड़ा सा लौंग का पाउडर और  नमक मिलाकर पिएं। ऐसा करने से सिर दर्द कुछ देर में ही ठीक हो जाएगा।

लहसुन का इस्तेमाल हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है, इसके इस्तेमाल से सर के दर्द से 
भी छुटकारा पाया जा सकता है,इसके लिए थोड़े से लहसुन के रस को शहद मिलाकर पिए।

अगर आपको अक्सर ही सिर दर्द की समस्या बनी रहती है तो इसे जड़ से खत्म करने के लिए नियमित रूप से सुबह खाली पेट सेब में नमक लगाकर खाएं ,ऐसा करने से आपका सर दर्द हमेशा के लिए ठीक हो जायेगा।

केसर के इस्तेमाल से सिर दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है, इसके लिए थोड़े से केसर को बादाम के तेल में मिलाकर सूंघे। ऐसा करने से सर दर्द की समस्या में आराम मिलता है।


सुबह खाली पेट पानी पीने के भी है कई फायदे       इसलिए प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को होती है उल्टी की समस्या       लड़कियों के नियमित पीरियड्स के किये आसान टिप्स       अगर कान में बजती है घंटियां तो सकती है के भयानक बीमारी       चर्म रोग और माइग्रेन समस्या में फायदेमंद है मेहंदी का इस्तेमाल       प्रेग्नेंसी के बाद महिलाओं के लिए कितना जरुरी है घी का सेवन       गर्भावस्था के दौरान फायदेमंद होता है जीरे के पानी का सेवन       मोटे कूल्हों से है परेशान तो करें ये आसान उपाय       ब्लड प्रेशर की समस्या के लिए कुछ खास उपाय       अगर दिखाई दें ये लक्षण तो हो सकता है टीबी       स्वाद से खाया जाने वाला पापड़ भी हो सकता है मौत का कारण       हार्ट के लिए फायदेमंद होती है अदरक और हल्दी की चाय       अच्छा तो इस वजह से प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए वरदान है तुलसी       मच्छरों से होने वाले मलेरिया से बचना है तो अपनाएं ये घरेलू उपाय       औरतों को जरूर पीना चाहिए पपीते का जूस       गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद होता है चीकू, जानें       बच्चों को एलर्जी और एक्ज़िमा की समस्या से बचाती है मूंगफली       पाइल्स की समस्या से छुटकारा दिलाते है अशोक के बीज       सुबह उठते ही लगातार आती है छींक तो करें ये उपाय       शारीरिक बिमारियों में फायदेमंद है नीम का तेल