ब्रेस्ट सूजन के कारण और जानें कुछ घरेलु उपाय

ब्रेस्ट सूजन के कारण और जानें कुछ घरेलु उपाय

महिलाओं को कई शारीरिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है। स्तनों में सूजन कई कारणों से हो सकती है। अक्सर एसिडिटी और पीरियड्स की शुरूआत में ब्रैस्ट में सूजन, दर्द और गांठ की शिकायत हो जाती है लेकिन और भी कई कारण हैं जिससे यह समस्या हो सकती है। ऐसे में इसका सही कारण जानकर इलाज करवाना बहुत जरूरी होता है।

ब्रैस्ट सूजन का कारण:

ब्रैस्ट में सूजन का मुख्य कारण बढ़ती उम्र है। यह ज्यादातर 40-45 साल की महिलाओं में ही देखी जाती है।

पीरियड्स के दौरान शरीर में हार्मोन्स बढ़ने लगते हैं जिससे ब्रैस्ट में सूजन की समस्या हो जाती है।

ब्रैस्ट कैंसर भी सूजन का ही एक प्रकार है। इससे स्तनों में गांठ महसूस होने लगती है।

प्रैग्नेंसी के शुरूआती दिनों में भी ब्रैस्ट में भारीपन महसूस होने लगता है और सूजन जैसा महसूस होता है।

डिलीवरी के बाद भी कुछ महिलाओं की ब्रैस्ट में सूजन हो जाती है।

ब्रेस्ट सूजन को कम करने के घरेलू उपाय:

धतूरे के पत्ते: इसके लिए 8-10 धतूरे के पत्ते और थोड़ी-सी हल्दी लें। अब इन दोनों को मिलाकर पीस लें और एक लेप तैयार करें। इस लेप को ब्रैस्ट पर लगाएं और कुछ देर के बाद पानी से धो लें। कुछ दिनों तक इस लेप का इस्तेमाल करने से ब्रैस्ट की सूजन ठीक होती है।

अजवाइन का तेल: ब्रैस्ट की सूजन को ठीक करने के लिए अजवाइन के तेल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए तेल को हल्का सा गर्म कर लें और फिर इससे स्तनों की मालिश करें। रोजाना ऐसा करने से बहुत जल्दी आराम मिलेगा।

बर्फ: इसके लिए किसी सूती कपड़े में बर्फ बांधकर 10-10 मिनट के बाद ब्रैस्ट की सिंकाई करें जिससे सूजन कम होगी।

एलोवेरा: इसके लिए एलोवेरा जैल में थोड़ी-सी हल्दी डालकर अच्छी तरह मिला लें और इसे हल्का गर्म करें। अब इस लेप को ब्रैस्ट पर लगाएं और कुछ देर के बाद साफ कर लें।


पोस्ट कोविड डायबिटीज पेशेंट्स को खानपान में शामिल करनी चाहिए ये चीज़ें

पोस्ट कोविड डायबिटीज पेशेंट्स को खानपान में शामिल करनी चाहिए ये चीज़ें

कोरोना का कहर पिछले दिनों की अपेक्षा अब कुछ कम जरूर हुआ है पर वायरस में म्यूटेशन और नए स्ट्रेन का डर अभी भी लोगों के मन में बरकरार है और यह सवाल लगभग सभी के मन में उठ रहा है कि क्या सब वाकई ठीक हो गया है? ऐसा सवाल इसलिए जहन में आ रहा है क्योंकि कोविड से ठीक होने के बाद भी लोगों को गंभीर थकान और कमजोरी का एहसास हो रहा है। इतना ही नहीं कोरोना के जिन संक्रमितों को डायबिटीज की समस्या है, उन्हें रिकवरी में और वक्त लग सकता है। ऐसे में एक्सपर्ट्स उन्हें एक परफेक्ट डाइट चार्ट को फॉलो करने की सलाह देते हैं। क्या खास चीज़ें होनी चाहिए इस डाइट चार्ट में, आइए जानते हैं...

शुगर को कंट्रोल रखने पर ध्यान दें

डायबिटीज के पेशेंट्स के लिए कोविड- 19 से ठीक होने के बाद आहार पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। संक्रमण के दौरान और ठीक होने के बाद बहुत से लोगों को थकान व अन्य दिक्कतें महसूस हो रही हैं। डायबिटीज के पेशेंट्स का शुगर लेवल भी संक्रमण के बाद बढ़ा हुआ देखा जा रहा है। ऐसे में इन लोगों को सिर्फ उन्हीं खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए जो शरीर को ताकत देने के साथ शुगर के लेवल को भी कंट्रोल करने में मदद करें। इन दोनों में से एक में भी कमी, रिकवरी को प्रभावित कर सकती है।


प्रोटीन युक्त आहार लेना चाहिए

डायबिटीज रोगियों को कोविड से ठीक होने के बाद तेज रिकवरी के लिए आहार में प्रोटीन की मात्रा बढ़ानी चाहिए। राजमा, चना, दाल प्रोटीन से भरपूर होते हैं। इनमें शुगर की भी मात्रा कम होती है। कोविड से ठीक हुए लोगों को चिकन, अंडे और मछली, दूध, दही और पनीर भी लेना चाहिए।

ऐसे फलों के सेवन से बचें

मौसमी फलों को विटामिन और खनिजों का बेहतर स्त्रोत माना जाता है। विटामिन और खनिज शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करते हैं। इसके अलावा कई फल फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट से भी भरपूर होते हैं जो रक्त शर्करा के स्तर को स्थिर करने में मदद करते हैं। हालांकि। मधुमेह के रोगियों को केला, आम और चीकू जैसे फलों के सेवन से बचना चाहिए।


साबुत अनाज

कोविड से ठीक हुए रोगियों को आहार में साबुत अनाजों को जरूर शामिल करना चाहिए। साबुत अनाज फाइबर से भरपूर होने के साथ रक्त शर्करा के स्तर को स्थिर करने में भी मदद करते हैं। अपने आहार में रागी, बाजरा और ज्वार जैसे साबुत अनाज को शामिल करने का प्रयास करें।


कल से गुलजार होेंगे मॉल एवं रेस्टोरेंट, इस बार मेन्यू में होंगे यह खास डिश       गेहूं का ऐसा बीज जिसे खाद की जरूरत नहीं, उत्पादन में भी 15 से 35 फीसद तक की बढ़ोतरी       अब बरसात में भी लीजिए वन्य जीव विहार में रुकने का मजा, जान‍िए क्‍या है यूपी वन न‍िगम की तैयारी       CM योगी का एलान, जिले में एक हफ्ते तक नहीं मिला कोरोना संक्रम‍ित तो करेंगे पुरस्कृत       लखनऊ का ठग अब दुबई से चला रहा जालसाजी का नेटवर्क       पश्‍च‍िमी उत्तर प्रदेश में रोहि‍ंग्या के मददगारों के भी मिले सुराग, एटीएस ने तेज की छानबीन       लखनऊ में स्‍कूल का अवैध न‍िर्माण प्रशासन ने ढहाया, अराजकता से परेशान थे कालाकाकर कॉलोनी न‍िवासी       यूपी में एक ही रंग की होंगी शहर के मुख्य मार्गों की इमारतें, सीएम योगी ने प्रस्ताव को दी मंजूरी       पिता के सपने को बनाया अपनी जिंदगी का लक्ष्य, आगरा की बेटी ने थल सेना में अफसर बन दी सच्‍ची श्रद्धांजलि       18 साल बाद प्रेसीडेंशियल ट्रेन से यात्रा करेंगे राष्ट्रपति, जानिए-स्पेशल ट्रेन की खास बातें       गजब, बरेली में एक शख्स को अपने पालतू कुत्ते से इतना प्यार कि उसका ध्यान रखने के लिए छोड़ दी शराब       UP में दो से अधिक बच्चे वालों की सुविधाओं में होगी कटौती, सरकारी योजनाओं के लाभ से किया जा सकता है वंचित       MLC एके शर्मा को लेकर सभी अटकलें समाप्त, यूपी भाजपा के 18 प्रदेश उपाध्यक्ष में शामिल       CM योगी का समीक्षा के बाद निर्देश, सोमवार से विवाह में अधिकतम 50 लोगों को शामिल होने की अनुमति       कुंभ राशि वालों को बिजनेस में सफलता मिलेगी, आर्थिक पक्ष मजबूत होगा       दूसरे से तुलना कर खुद को हीन न समझें, पढ़ें गुलाब के पत्ते की प्रेरक कथा       जानिए आखिर शेर कैसे बना मां दुर्गा की सवारी?       आज है महेश नवमी, जानें पूजा मुहूर्त एवं क्यों यह दिन है माहेश्वरी समाज के लिए महत्वपूर्ण       आज महेश नवमी पर पढ़ें यह व्रत कथा, जानें इसका महत्व       शनिवार को न करें ये काम, शनि देव हो सकते हैं नाराज