सावधान! गर्म पानी से नहाने से हो सकती है यौन सम्बन्धी बीमारियाँ

सावधान! गर्म पानी से नहाने से हो सकती है यौन सम्बन्धी बीमारियाँ

सर्दियों में गर्म चीजें हमें बहुत पसंद होती है। सर्दियों में अधिकतर लोग गर्म पानी से नहाते है, ताकि स्किन को साफ-सुथरा रखा जा सके। कुछ लोग पानी गर्म करने के लिए गीजर और इलैक्ट्रिक रोड का इस्तेमाल करते है लेकिन गर्म पानी से नहाना सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है। गर्मा पानी से नहाने पर कई स्किन और हेल्थ प्रॉब्लम हो सकती है। 

गर्म पानी से नहाने के नुकसान:

# ज्यादा गर्म पानी से नहाने पर चेहरे पर झुर्रियां पड़ने लगती है, इससे आप समय से पहले ही बुड्ढे लगने लगते है।

# नहाने के लिए ज्यादा गर्म पानी का इस्तेमाल स्किन को रूखा कर देता है। इससे स्किन एलर्जी, रैशेज, रेडनेस और खुजली की समस्या हो जाती है।

# इससे बाल झड़ने के साथ-साथ डेंड्रफ की समस्या भी हो जाती है। इससे अलावा इससे बार रूखे भी हो जाते है।

# एक शोध में बताया गया है कि नहाने के लिए ज्यादा गर्म पानी इस्तेमाल हार्ट अटैक के खतरे को बढ़ाता है।

# अगर आप भोजन करने के बाद गर्म पानी से नहा लेते है तो खाने को पचने में बहुत ही ज्यादा समय लग जाता हैं। इससे कब्ज की समस्या भी हो जाती है।

# ज्यादा गर्म पानी से नहाने से शुक्राणुओं और अंडाणुओं के बनने की संख्या घटती है, जिससे यौन सम्बन्धी बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता हैं।


अनियमित पीरियड्स से मुक्ति दिलाने में कारगर है ये घरेलू उपाय

अनियमित पीरियड्स से मुक्ति दिलाने में कारगर है ये घरेलू उपाय

महिलाओं को पुरुषों से ज्यादा मजबूत माना जाता है। महिलाएं हर तरह से पुरुषो से अलग होती हैं और उनमें
काफी मजबूती होती है। लेकिन कुछ परेशानियां ऐसी होती हैं जिन्हें सिर्फ महिलाएं ही समझ सकती हैं।  तनाव,टेंशन,स्ट्रेस यह ऐसा दीमक है जो धीरे-धीरे शरीर को खा जाता है। महिलाएं चाहकर भी खुद को इससे दूर नहीं कर पाती हैं, जिसके कारण उन्हें कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। स्ट्रेस का सबसे ज्यादा असर महिलाओं के पीरियड्स पर पड़ता है। वर्तमान में 90 प्रतिशत महिलाएँ अनियमित पीरियड्स से परेशान हैं। इससे निजात पाने के लिए आपको कुछ घरेलू उपाय अपनाने होंगे जो हम बताने जा रहे हैं....

सौंठ या सूखा अदरक : ये चीज़ें भी पीरियड्स को नियमित करने में सहायक मानी जाती है। यह पीरियड्स के फ्लो को सही करने और दर्द को कम करने में लाभदायक होता है। इसे आप जूस के रूप में या फिर कच्चा भी खा सकते हैं। यह दोनों तरीके से आपके पीरियड्स को समय पर लाने में मददगार साबित होगा। अदरक को आप नियमित रूप से चाय में डालकर पीने की आदत डालें तो यह पीरियड्स के लिए सर्वश्रेष्ठ होगा।

चकूंदर : अनियमित पीरियड्स को सुधारने या उससे छुटकारा पाने में चकूंदर आपकी सहायता कर सकता है। चकूंदर में कई जरूरी पोषक तत्व और आयरन, फॉलिक एसिड आदि पाए जाते हैं जो अनियमित मासिक धर्म को नियमित करने में कारगर साबित होते हैं। यह हार्मोन्स के संतुलन को सही करने में मदद करते हैं।  

कच्चा पपीता : पीरियड्स की अनियमितता को दूर करने का रामबाण इलाज है। इसमें मौजूद पौष्टिक तत्व आयरन, कौरोटीन, कौल्शियम, विटामिन ए और सी गर्भाश्य की सिकुड़ी हुई मांसपेशियों को फाइबर पहुँचाने का काम करते हैं। कच्चे पपीते को आप पीरियड्स आने से कुछ दिन पहले खाना शुरू कर दे्ं।